पुलिस चौकी के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ: हरियाणा के यमुनानगर में माहौल तनावग्रस्त

"अल्पसंख्यक समुदाय की बनाई गई शांति कमिटी से उन लोगों को बाहर किया जाए, जो हिंदू लड़कियों को उनके घर से भगाने में शामिल रहे हैं।"

हरियाणा में एक अल्पसंख्यक युवती द्वारा दो हिंदू भाईयों पर छेड़छाड़ का झूठा केस दर्ज कराने का आरोप लगाते हुए युवकों के परिजनों व हिंदू संगठन के सदस्यों ने यमुनानगर की हमीदा पुलिस चौकी के बाहर विरोध-प्रदर्शन किया। इन लोगों ने जय श्रीराम का नारा लगाने के साथ थाने के बाहर धरना देकर हनुमान चालीसा का पाठ भी किया। इस दौरान परिजनों ने माँग की कि इन दोनों भाइयों पर लगाया गया झूठा केस रद्द किया जाए।

पुलिस ने मनाने की कोशिश की, लेकिन लोग अपनी माँग पर अड़े रहे

चौकी के बाहर होते हंगामे को देख डीएसपी हेडक्वार्टर सुभाषचंद व थाना शहर यमुनानगर प्रभारी रतन सिंह मौक़े पर पहुँचे और भड़के लोगों को समझाने का प्रयास किया। हालाँकि वे शुरुआती प्रयास में सफल नहीं रहे क्योंकि भड़के लोग पुलिस की मानने को तैयार नहीं थे। सड़क पर बैठे ये लोग इस दौरान युवकों पर दर्ज हुए केस को झूठा बताते हुए रद्द करने की माँग पर अड़े रहे।

माहौल बिगाड़ने वालों को शांति कमिटी से किया जाए बाहर

इस दौरान इन लोगों ने समुदाय विशेष के लोगों पर आरोप भी लगाया कि पुराना हमीदा में कुछ लोग हिंदूओं के खिलाफ झूठी शिकायतें देकर माहौल बिगाड़ रहे हैं। इसलिए वे चाहते हैं कि अल्पसंख्यक समुदाय की बनाई गई शांति कमिटी से उन लोगों को बाहर किया जाए, जो हिंदू लड़कियों को उनके घर से भगाने में शामिल रहे हैं।

नाबालिग के अलावा उसके बड़े भाई पर आरोप, जो घटना वाले दिन मौजूद भी नहीं था

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

हिंदू समुदाय के लोगों के मुताबिक अल्पसंख्यक युवती ने दो हिंदू युवकों पर झूठी शिकायत दर्ज कराई है। इसमें एक नाबालिग का नाम भी है। इसके अलावा लड़की ने नाबालिग लड़के के बड़े भाई दीपक को भी छेड़खानी का आरोपित बताया है, जबकि परिजनों का कहना है कि वह तो घटना के दिन वहाँ मौजूद ही नहीं था।

डीएसपी ने दिलाया जाँच का भरोसा

परिजनों का कहना है कि पुलिस ने मामले की जाँच किए बिना ही दोनों भाइयों को गिरफ्तार किया है। इसलिए उन्होंने डीएसपी से कहा है कि वह उसकी जाँच करें, यदि शिकायत में सच्चाई मिले तो ही मामला दर्ज हो, वरना इसे रद्द किया जाए। परिजनों का कहना है कि अगर पुलिस युवकों को झूठा फँसा रही है तो फिर वह लोग प्रदर्शन करने पर मजबूर होंगे। हालाँकि गुस्साए लोगों द्वारा चौकी के बाहर करीब 2 घंटे हंगामे के बाद डीएसपी ने स्वयं मामले की जाँच का भरोसा दिलाकर उन्हें मनाया।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक इंसाफ़ की खातिर गुरुवार (जुलाई 19, 2019) की शाम करीब पौने 6 बजे विश्व हिंदू परिषद, बजरंग दल व पुराना हमीदा क्षेत्र की महिलाएँ काफी संख्या में हमीदा चौकी के पास आकर बैठीं और फिर हनुमान चालीसा पढ़ने लगीं।

इंसाफ़ नहीं मिला तो भविष्य में भी होगा विरोध

हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं का कहना है कि दोनों भाइयों पर दर्ज हुए मामले रद्द होने चाहिए। उनके मुताबिक कुछ लोग इलाके का माहौल बिगाड़ रहे हैं। उनके मुताबिक समुदाय विशेष के लोग उनकी बहन-बेटियों पर व्यंग्य कसते हैं, जिसके कारण इलाके का माहौल बिगड़ता है। लेकिन जब वे अपनी शिकायत लेकर एसपी सहित अन्य अधिकारियों के पास जाते हैं तो सभी एक ही जवाब देते है कि ‘जाँच करेंगे’।

नबील द्वारा संघ कार्यकर्ता की लड़की भगाकर निकाह करने के कारण इलाके में पहले से तनाव का माहौल

बता दें कि अभी कुछ दिन पहले ही इस इलाके में संघ कार्यकर्ता की बेटी को समुदाय विशेष का एक युवक नबील अपने साथ भगा ले गया था और बाद में उससे निकाह कर लिया था। कहा जा रहा है कि इस घटना के बाद इलाके में समुदाय विशेष के लोगों ने आतिशबाजी करते हुए पार्टी की थी, जिसकी सूचना हिंदू संगठनों ने पुलिस को दी थी। लोगों का आरोप है कि इस घटना के बाद कई हिंदू परिवार की लड़कियों से छेड़छाड़ हुई। इस संबंध में कुछ महिलाओं ने पुलिस को शिकायत भी दी, लेकिन पुलिस ने कोई उचित कार्रवाई नहीं की।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

राफ़ेल
सुप्रीम कोर्ट ने राफ़ेल विमान सौदे को लेकर उछल-कूद मचा रहे विपक्ष और स्वघोषित डिफेंस-एक्सपर्ट लोगों को करारा झटका दिया है। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने राफेल मामले में दायर की गईं सभी पुनर्विचार याचिकाओं को ख़ारिज कर दिया है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

112,640फैंसलाइक करें
22,443फॉलोवर्सफॉलो करें
117,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: