Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजनूहं हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन: 'मेवाती' बन कर सरहद पार से भड़का रहा था...

नूहं हिंसा का पाकिस्तान कनेक्शन: ‘मेवाती’ बन कर सरहद पार से भड़का रहा था यूट्यूबर, सोशल मीडिया पर लाखों फॉलोवर्स

नूहं हिंसा में शामिल आरोपितों के खिलाफ हरियाणा सरकार कार्रवाई कर रही है। हिंसा को लेकर अब तक 102 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। इस मामले में 202 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 80 से अधिक संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।

हरियाणा के नूहं में 31 जुलाई 2023 को हिंदुओं के जलाभिषेक यात्रा में हुई हिंसा के तार पाकिस्तान से जुड़ रहे हैं। पाकिस्तानी यूट्यबर जीशान मुश्ताक ने नूहं हिंसा के दौरान आग में घी डालने का काम किया था। इस दौरान उसने मोनू मानेसर को मारने और हिंदू विरोधी टिप्पणियाँ कर रहा था।

जीशान सोशल मीडिया पर अहसान मेवाती के नाम से अकाउंट बना रखा है। इन अकाउंट के जरिए वह अपने वीडियो में मोनू मानेसर को मारने के लिए मुस्लिमों को खुलेआम उकसा रहा था।इतना ही नहीं, वह हिंदुओं धमकी भी दे रहा था। हरियाणा पुलिस नूहं हिंसा के मामले में 2300 से ज्यादा वीडियो की जाँच कर रही है। 

पाकिस्तानी यूट्यूबर जीशान ने हिंसा वालेे दिन 31 जुलाई 2023 को अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो शेयर किया था। इसमें उसकी लोकेशन पाकिस्तान बताई गई थी। वह पाकिस्तान के बहावलपुर के छंब मोर गाँव में रहता है। वह खुद को किसान और यूट्यूबर बताता है।

जीशान के अहसान मेवाती नाम के यूट्यूब अकाउंट पर 80,000 से अधिक सब्सक्राइबर्स हैं। वह साल 2019 से यूट्यूब पर वीडियो डाल रहा है। उसके वीडियो पर 85 लाख से अधिक व्यूज हैं। इसके अलावा, अहसान मेव नाम से उसका एक और यूट्यूब चैनल है।

वहीं, फेसबुक पर इसके एक लाख से अधिक फॉलोवर्स हैं। उसने फेसबुक पेज पर अपनी लोकेशन अलवर, राजस्थान बताई है। इससे लोगों को लगा कि वह भारत से है। इसके अलावा, पाकिस्तान के कई नव निर्मित सोशल मीडिया प्रोफाइल से भड़काऊ बयानबाजी क जा रही थी।

मेवात में हो रही घटनाओं पर वह पैनी नजर रख रहा था और उससे संबंधित वीडियो बनाकर लोगों को उकसाने का काम कर रहा था। वह अपने वीडियो में लगातार भड़काऊ बातों से माहौल को खराब कर रहा था। हिंसा के दिन जीशान नूहं में आगजनी और तोड़फोड़ के फुटेज भी जारी कर रहा था। पुलिस को शक है कि जीशान का नूहं में मजबूत नेटवर्क है।

जाँच में पता चला कि जीशान पाकिस्तान एजुकेशन एंड रिसर्च नेटवर्क (PERN) के नेटवर्क के जरिए यूट्यूब पर वीडियो अपलोड किए थे। इस सेंट्रलाइज्ड नेटवर्क से पाकिस्तान के एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस को इंटरनेट दिया जाता है। यह पाकिस्तान सरकार का ही हिस्सा है।

जांच में सामने आया है कि जीशान का यू-ट्यूब हैंडल [email protected] ई-मेल से रजिस्टर्ड था। जीशान ऊर्फ अहसान मेवाती जब वीडियो अपलोड कर रहा था तो उसकी लोकेशन इस्लामाबाद की मिली। उसका IP एड्रेस 121.52.159.144 है। वह दो मोबाइल फोन का इस्तेमाल करता है। इनसे वह 11 ई-मेल ऑपरेट कर रहा है।

बताते चलें कि नूहं हिंसा में शामिल आरोपितों के खिलाफ हरियाणा सरकार कार्रवाई कर रही है। हिंसा को लेकर अब तक 102 एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। इस मामले में 202 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है, जबकि 80 से अधिक संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -