Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाजशौचालयों में भगवान शिव और ॐ की तस्वीर वाली टाइल्स, मुस्लिम महिला ग्राम प्रधान...

शौचालयों में भगवान शिव और ॐ की तस्वीर वाली टाइल्स, मुस्लिम महिला ग्राम प्रधान का शौहर गिरफ्तार: UP के सीतापुर का मामला

"आरोपित रेशमा इस बार दुबारा जीती है। ये हरकत उसके पिछले कार्यकाल की है। पहले पूरे गाँव में ये टाइल्स लगवा दिए गए थे। लेकिन शिकायत के बाद कुछ शौचालयों से टाइल्स हटवा लिए गए। इसके बाद भी अभी लगभग 8-10 शौचालयों में ये टाइल्स लगी हुई थीं।"

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जिले की मुस्लिम महिला ग्राम प्रधान का शौहर बुनियाद और उसका सहयोगी नसीमुल्ला गिरफ्तार किया गया है। ग्राम प्रधान रेशमा और उसके शौहर पर शौचालयों के अंदर हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरों वाली टाइल्स लगवाने का आरोप है। इसकी जानकारी मिलते ही हिंदू संगठनों ने हंगामा किया। पुलिस ने केस दर्ज करते हुए 2 नामजद आरोपितों को गिरफ्तार किया है। तीसरी अरोपित रेशमा की गिरफ्तारी अभी नहीं हुई है। मामले की शिकायत 8 जून 2022 (बुधवार) को की गई।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला थानगांव थानाक्षेत्र में गाँव बर्रा बेरौरा का है। शौचालयों में लगे टाइल्स में भगवान शिव, पूजा के कलश और ॐ की तस्वीरें हैं। बताया जा रहा है कि ये टाइल्स लगभग 4 साल से शौचालयों में लगे हैं। इसकी शिकायत बजरंग दल कार्यकर्ता संदीप अवस्थी ने पुलिस में की है। FIR के मुताबिक, “गाँव के मुस्लिम समाज के प्रधान ने जान-बूझकर हिन्दू समाज की भावनाओं को आहत किया है। ऐसा करने में प्रधान रेशमा, उनके शौहर बुनियाद और नसीमुल्ला शामिल हैं। इन सभी की हरकतों से क्षेत्र में तनाव के हालात हैं।”

FIR Copy

शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपितों पर IPC की धारा 295-A के तहत कार्रवाई की है।

FIR कॉपी

शिकायतकर्ता बजरंग दल जिला संयोजक संदीप अवस्थी के मुताबिक, “आरोपित रेशमा इस बार दुबारा जीती है। ये हरकत उसके पिछले कार्यकाल की है। पहले पूरे गाँव में ये टाइल्स लगवा दिए गए थे। लेकिन शिकायत के बाद कुछ शौचालयों से टाइल्स हटवा लिए गए। इसके बाद भी अभी लगभग 8-10 शौचालयों में ये टाइल्स लगी हुई थीं। हमारे साथ पुलिस प्रशासन भी गया था, जिसने इसे सच पाया।”

शिकायतकर्ता ने बताया, “एक नूपुर शर्मा के बयान से पूरे विश्व में बवाल खड़ा हो गया है। क्या हमारी धार्मिक भावनाएँ ऐसी हरकतों से आहत नहीं होती? इस केस में अभी तक 2 आरोपितों की गिरफ्तारी हुई है। लेकिन महिला प्रधान रेशमा की गिरफ्तारी अभी तक नहीं की गई। अगर उसकी गिरफ्तारी नहीं हुई तो सीतापुर के रेउसा में हिंदू पंचायत का आयोजन किया जाएगा।”

तनाव को देखते हुए गाँव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। जिलाधिकारी और SP सीतापुर ने मामले की गहनता से जाँच करवाने और उसके अनुसार आरोपितों पर एक्शन लेने की बात कही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल ने दिए 9 साल में सिर्फ 857 ऑनलाइन जॉब्स, चुनावी राज्यों में लाखों नौकरियों के वादे: RTI से खुलासा

केजरीवाल के रोजगार को लेकर बड़े-बड़े वादों और विज्ञापनों की पोल दिल्ली में नौकरियों पर डाले गए एक RTI ने खोल दी है।

जब सिंध में हिन्दुओं-सिखों का हो रहा था कत्लेआम, 10000 स्वयंसेवकों के साथ पहुँचे थे ‘गुरुजी’: भारत-Pak विभाजन के समय कहाँ थे कॉन्ग्रेस नेता?

विभाजन के दौरान पाकिस्तान में हिन्दुओं-सिखों की मदद के लिए न आई कोई राजनीतिक पार्टियाँ और ना ही आए वह नेता, जो उस समय इतिहास में खुद को दर्ज कराना चाहते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,538FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe