Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाज'राम का नाम क्यों ले रहे हो': बोर्ड की परीक्षा बढ़िया होने पर हिंदू...

‘राम का नाम क्यों ले रहे हो’: बोर्ड की परीक्षा बढ़िया होने पर हिंदू छात्र ने कहा ‘जय श्रीराम’ तो अतीक-अल्फाज ने पीटा, लड़के के पिता को भी धमकाया

पीड़ित छात्र 20 मार्च को 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने सावरकुंडला के एसएमकेजी हाई स्कूल गया था। यहाँ उसका पेपर अच्छा हुआ, तो उसने बाहर आकर जय श्री राम का उद्घोष किया और भगवान को धन्यवाद कहा। लेकिन उसी सेंटर पर 12वीं की परीक्षा दूसरी बार दे रहे मोहम्मद तारिक कुरैशी को ये बात जचीं नहीं। उसने कहा कि 'चिल्लाओ मत, मेरा पेपर अच्छा नहीं गया है।' ये बात कहने के बाद उसने पीड़ित के साथ झगड़ा किया।

गुजरात के अमरेली में 12वीं की छात्र को सिर्फ इसलिए पीटा गया, क्योंकि बोर्ड की परीक्षा में उसका पेपर अच्छा गया था, जिसके बाद उसने बोर्ड सेंटर के बाहर खुशी में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाकर खुशी जताई थी। खास बात ये है कि उस छात्र की पिटाई करने वाले युवकों ने ये कहते हुए हिंदू छात्र को पीटा कि ये सेंटर मुस्लिम का है। जिस स्कूल में छात्र का सेंटर गया था, उसका नाम एमएमकेजी हाई स्कूल है। इस स्कूल का संचालन फैज़-ए-मुहम्मदी एजुकेशनल वेलफेयर एंड चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया जाता है।

ये मामला सावरकुंडला का है, जहाँ भगवान राम का नाम लेने पर अतीक कुरैशी और अल्फाज कुरैशी ने छात्र को पीट दिया। उन्होंने कहा, ‘यहाँ क्यों राम का नाम ले रहे हो, क्या पता नहीं है कि किस जगह (स्कूल पर) खड़े हो।’ इस मामले में बाद में छात्र के पिता ने दोनों युवकों को समझाने के लिए बुलाया, तो दोनों ने उनके साथ भी बदतमीजी की और ‘कौम के भाइयों के लिए कुर्बान’ होने की बात कही। अब इस मामले में पीड़ित के पिता ने एफआईआर दर्ज कराई है।

ऑपइंडिया के पास मौजूद एफआईआर की कॉपी के मुताबिक, पीड़ित छात्र 20 मार्च को 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने सावरकुंडला के एसएमकेजी हाई स्कूल गया था। यहाँ उसका पेपर अच्छा हुआ, तो उसने बाहर आकर ‘जय श्री राम’ का उद्घोष किया और भगवान को धन्यवाद कहा। लेकिन उसी सेंटर पर 12वीं की परीक्षा दूसरी बार दे रहे मोहम्मद अतीक कुरैशी को ये बात जँची नहीं। उसने कहा कि ‘चिल्लाओ मत, मेरा पेपर अच्छा नहीं गया है।’ ये बात कहने के बाद उसने पीड़ित के साथ झगड़ा किया।

एफआईआर की कॉपी

इस बीच अतीक का दोस्त अल्फाज कुरैशी भी वहाँ पहुँच गया। दोनों ने राम का नाम लेने पर हिंदू छात्र की पिटाई कर दी। जिसे बाकी छात्रों ने किसी तरह से छुड़ाया। यहाँ ध्यान देने वाली बात है कि पीड़ित छात्र ने भगवान राम को धन्यवाद कहने के लिए ‘जय श्री राम’ कहा था, न कि किसी को बुलाकर या संबोधित करके।

इस घटना के बाद छात्र ने अपने पिता को पूरी बात की जानकारी दी, जिसके बाद उन्होंने दोनों युवकों को फोन करके बुलाया। दोनों देर रात दुकान पहुँचे, लेकिन उन्होंने अपने गलती मानने की जगह हिंदू छात्र के पिता को ही धमका दिया और कहा कि ज्यादा समझदारी हो तो समझौता कर लो।

मामले में छात्र के पिता ने सावरकुंडला ग्रामीण पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई, जिसके आधार पर पुलिस ने मोहम्मद अतीक कुरेशी और अल्फाज कुरेशी दोनों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323, 506(2) और 114 के तहत मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी।

एफआईआर की कॉपी

पीड़ित छात्र के पिता ने ऑपइंडिया से बात की। उन्होंने कहा कि उनका बेटा पेपर अच्छा होने के कारण अन्य छात्रों के साथ भगवान का नाम ले रहा था, तभी एक मुस्लिम छात्र ने पीछे से आकर उसे थप्पड़ मारा और कहा, “तुम्हें पता है, यह किसका स्कूल है? ये शब्द यहाँ नहीं बोल सकते। जाँच में पता चला कि सावरकुंडला के इस एसएमजीके स्कूल का प्रबंधन फैज़-ए-मुहम्मदी एजुकेशनल वेलफेयर एंड चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया जाता है।

‘हम अपने भाइयों के लिए खुद को कुर्बान कर देंगे’

पीड़ित के पिता ने आगे कहा, “मेरे बेटे ने दोनों पीटे गए युवकों की स्कूटर के नंबर नोट कर लिए थे, इसलिए मेरी दुकान में पहले काम कर चुके एक व्यक्ति के माध्यम से मेरा अल्फाज और आरिफ (अल्फाज का अब्बा) से संपर्क हुआ। इसलिए उन दोनों को मेरी दुकान पर बुलाया गया।” उन्होंने कहा कि जब हम बात कर रहे थे तो आरिफ कुरेशी ने ‘हम अपने भाइयों के लिए कुर्बान हो जाएँगे’ कहकर मुझे जान से मारने की धमकी दी और चले गए। फिर मैं पुलिस स्टेशन गया और शिकायत दर्ज कराई।’

पुलिस ने की घटना की पुष्टि

ऑपइंडिया ने पूरे मामले में पुलिस कार्रवाई की जानकारी लेने के लिए पुलिस से भी संपर्क किया। मामले की जाँच कर रहे एएसआई वाई एस वनरा ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि शिकायतकर्ता की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर आगे की कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। जिम्मेदार लोगों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

Krunalsinh Rajput
Krunalsinh Rajput
Journalist, Poet, And Budding Writer, Who Always Looking Forward To The Spirit Of Nation First And The Glorious History Of The Country And a Bright Future.

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -