Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाजगाँव बकरीद की कुर्बानी में व्यस्त, इधर खेत में भाई के साथ मिल बीवी...

गाँव बकरीद की कुर्बानी में व्यस्त, इधर खेत में भाई के साथ मिल बीवी का गला काट रहा था शब्बीर

शमीम अख्तर की शादी करीब तीन साल पहले मोहम्मद शब्बीर से हुई थी। शादी के कुछ समय बाद दोनों के बीच मनमुटाव शुरू हो गया।

जब पूरा गाँव कुर्बानी देकर बकरीद मनाने में व्यस्त था, तब एक शौहर ने बड़े भाई के साथ मिल अपनी बीवी की गला काटकर हत्या कर दी। मामला जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले के चसाना थाने का है। इस मामले में पुलिस ने 20 घंटे के अंदर मोहम्मद शब्बीर और उसके बड़े भाई अब्दुल मजीद को गिरफ्तार कर लिया है।

रियासी के एसएसपी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि खुंदरधन निवासी मंजूर अहमद पुत्र मोहम्मद अब्दुल्ला ने पुलिस को बताया कि 22 वर्षीया उसकी बहन शमीम अख्तर की बेरहमी से उसके शौहर मोहम्मद शब्बीर ने हत्या कर दी है। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर जाँच शुरू कर दी।

दरअसल, शमीम अख्तर की शादी करीब तीन साल पहले मोहम्मद शब्बीर से हुई थी। शादी के कुछ दिन तक सब कुछ ठीक रहा है, लेकिन कुछ समय बाद दोनों के बीच अनबन शुरू हो गई। ये अनबन रिश्तों में खटास का कारण बन गई। रिश्ते बिगड़ने के बाद शब्बीर ने बीवी शमीम को उसके माता-पिता के घर भेज दिया।

मंजूर ने पुलिस को बताया कि बुधवार को जब शमीम खेत में मवेशी (जानवर) चरा रही थी, तभी उसका पति मोहम्मद शब्बीर अपने भाई अब्दुल मजीद के साथ आ धमका। इसके बाद अब्दुल और शब्बीर ने शमीम पकड़ कर धारदार हथियार से उसकी गर्दन काट दी, जिससे शमीम की मौके पर ही मौत हो गई।

सूचना मिलने के बाद पुलिस ने आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू की। इस दौरान पुलिस ने पहाड़ी पर चार घंटे तक निगरानी करने के बाद एक आरोपी अब्दुल मजीद को गिरफ्तार कर लिया। मजीद खुंदरधन के जंगलों में भागना चाहता था और वहाँ से वह कश्मीर घाटी में जाना चाहता था। भागने से पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

उससे पूछताछ के बाद पुलिस को पता चला कि दूसरा आरोपी राजौरी जिले में है। उसके बाद पुलिस ने एक टीम तैयार की और उसकी गिरफ्तारी के लिए हरसंभव जगह पर छापेमारी की। मुगल रोड के माध्यम से कश्मीर घाटी में भागने से पहले ही पुलिस ने मोहम्मद शब्बीर को भी गिरफ्तार कर लिया।

गौरतलब है कि 21 जुलाई यानी बुधवार को बकरीद था और इस दौरान गाँव के लोग इसे मनाने में व्यस्त थे। इसी दौरान यह घटना घटी। बाद में जब गाँव के लोगों ने शमीम का खून से लथपथ शव खेतों में देखा तो परिजनों को सूचित किया।

घटना के बाद परिजनों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर आवश्यक कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया। साथ ही न्यायिक प्रक्रिया के लिए आगे की कार्रवाई की जा रही है। वहीं, एसएसपी शैलेंद्र सिंह ने पुलिस टीम के प्रयासों की सराहना की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

120 संगठन, विपक्ष, आंदोलनजीवी और पालतू पत्रकार… चुनावी नतीजों से पहले देश को जलाने की प्लानिंग, मोदी जीते तो कोर्ट से चुनाव रद्द करवाने...

'केरोसिन तेल छिड़का जा चुका है, एक चिंगारी से पूरे देश में आग लग जाएगी' - राहुल गाँधी का ये 2 साल पुराना बयान याद कीजिए, और आज नीलू व्यास थॉमस को सुनिए। मतगणना के बाद हिंसा भड़काने की पूरी प्लानिंग तैयार है। शाहीन बाग़ और किसान आंदोलन शायद इसका ही एक्सपेरिमेंट था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -