Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाज16 किमी/घंटे की स्पीड से आगे बढ़ा 'असानी' चक्रवात, 24 घंटे में ले सकता...

16 किमी/घंटे की स्पीड से आगे बढ़ा ‘असानी’ चक्रवात, 24 घंटे में ले सकता है विकराल रूप: जानें कौन-कौन से क्षेत्र होंगे प्रभावित

इस चक्रवात को असानी नाम श्रीलंका ने दिया है। 'असानी' सिंघली भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ 'क्रोध' अर्थात गुस्सा होता है। इस चक्रवात का नाम इसके क्रोध या गुस्से को दर्शाता है।

बंगाल की खाड़ी में बना तूफान अब असानी चक्रवात (Asani cyclone) में तब्दील होकर लगातार आगे बढ़ रहा है। इसके कारण हवाओं की रफ्तार आने वाले समय में 75 किलोमीटर प्रति घंटे से भी अधिक हो सकती है। फिलहाल ये चक्रवात 16 किमी प्रति घंटे की गति से आगे बढ़ रहा है। तूफान के चलते ओडिशा, आंध्र प्रदेश और बंगाल में जोरदार बारिश होने की संभावना मौसम विभाग की ओर से व्यक्त की गई है।

असानी चक्रवात से कौन से क्षेत्र होंगे प्रभावित

रिपोर्ट के मुताबिक, अगले 24 घंटे में यह तूफान और अधिक विकराल हो सकता है। आईएमडी भुवनेश्वर के वरिष्ठ वैज्ञानिक उमाशंकर दास ने तूफान की तीव्रता को देखते हुए ओडिशा के तीन जिलों गजपति, गंजम और पुरी में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा ओडिशा के ही पाँच जिलों- जगतसिंहपुर, पुरी, खुर्दा, कटक और गंजम में भारी बारिश की आशंका जताई है।

बताया जा रहा है कि असानी चक्रवात का असर सबसे ज्यादा पश्चिम बंगाल और ओडिशा में देखने को मिल सकता है। इसके अलावा इसका असर बिहार, झारखंड, सिक्किम, में भी दिखेगा। मौसम विभाग की ओर से इन सबको अलर्ट जारी हुआ है। रिपोर्ट्स के अनुसार, ओडिशा तट के नजदीक 9-10 मई को स्थिति खराब होगी।

असानी चक्रवात की रफ्तार

आईएमडी के मुताबिक, असानी तूफान की 8 मई को अधिकतम स्पीड लिमिट 60 से 70 किमी प्रति घंटे से 80 किमी प्रति घंटे तक रहेगी, रविवार दोपहर तक 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार के साथ 90 से 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है, जबकि शाम तक इसकी स्पीड और अधिक बढ़कर 95 से 105 किमी प्रति घंटे तक पहुँचने की आशंका है। सोमवार (9 मई) को हवा की स्पीड 125 किमी प्रति घंटे तक होगी, लेकिन इसके बाद से यह तूफान कमजोर पड़ सकता है। हालाँकि, ओडिशा के स्पेशल रेस्क्यू कमिश्नर पी के जेना ने कहा कि जरूरत पड़ने पर 7.5 लाख लोगों को निकालने के लिए हम तैयार हैं।

असानी चक्रवात का केंद्र

उल्लेखनीय है कि इस तूफान का केंद्र पोर्ट ब्लेयर (अंडमान द्वीप समूह) से लगभग 380 किमी पश्चिम में स्थित है। फिलहाल यह विशाखापत्तनम से दक्षिण-पूर्व दिशा में 970 किमी और पुरी से दक्षिण-पूर्व दिशा में 1020 किमी दूर है। मौसम विभाग के मुताबिक, अच्छी बात यह है कि ये तूफान भारत के पूर्वी तट पर टकराने की बजाय, उसके समानांतर ही निकल जाएगा।

असानी नाम क्यों पड़ा?

गौरतलब है कि इस नए चक्रवाती तूफान का नाम ‘असानी’ रखा गया है। इस तूफान को ये नाम श्रीलंका ने दिया है। ‘असानी’ सिंघली भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ ‘क्रोध’ अर्थात गुस्सा होता है। इस चक्रवात का नाम इसके क्रोध या गुस्से को दर्शाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -