Friday, May 24, 2024
Homeदेश-समाजभारी बर्फबारी के बीच मंजूर अहमद की गर्भवती बीवी को लेकर 2 किमी चले...

भारी बर्फबारी के बीच मंजूर अहमद की गर्भवती बीवी को लेकर 2 किमी चले जवान, अस्पताल पहुँचाया-गूँजी किलकरियाँ

सेना के जवान युद्ध के दौरान मौजूद रहने वाली नर्सिंग असिस्टेंट और मेडिकल किट के साथ मंज़ूर अहमद शेख के घर पहुँचे। इसके बाद वह महिला को अपने कंधों पर लेकर बर्फ़ वाले रास्ते पर दो किलोमीटर तक चल कर करलपुरा अस्पताल लेकर गए।

कश्मीर में जारी भारी बर्फ़बारी के बीच सेना एक तरफ आतंकी मंसूबों को नाकाम करने में जुटी है, दूसरी तरफ उसके जवान हर हालात में स्थानीय लोगों की मदद को तत्पर हैं। घुटनों तक जमी बर्फ़ के बीच भारतीय सेना के जवान एक गर्भवती महिला को अस्पताल पहुँचाने के लिए दो किलोमीटर तक चले। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ महिला ने शुक्रवार (8 जनवरी 2021) को करलपुरा अस्पताल में एक लड़के को जन्म दिया।  

मंगलवार (5 जनवरी 2021) को कुपवाड़ा के करलपुरा स्थित भारतीय सेना, कंपनी ऑपरेशन बेस (सीओबी) में रात के लगभग 11:30 बजे मंज़ूर अहमद शेख नाम के युवक का फोन आया। फर्कियां गाँव का रहने वाला मंज़ूर कॉल पर बातचीत के दौरान काफी परेशान था। रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उसने सेना के जवानों से कहा कि उसकी पत्नी को बहुत ज़्यादा दर्द हो रहा है और जल्द से जल्द अस्पताल में भर्ती कराए जाने की ज़रूरत है। 

जिस वक्त मंज़ूर शेख का सेना के जवानों के पास फोन आया उस वक्त पिछले एक दिन से लगातार बर्फ़बारी जारी थी। जिसकी वजह से पूरे क्षेत्र में घुटनों तक बर्फ़ जम गई थी। खराब मौसम और भीषण बर्फ़बारी की वजह से न तो सामुदायिक स्वास्थ्य सेवाएँ पहुँच सकती थीं और न ही नागरिक परिवहन से जुड़ी कोई सेवा मददगार साबित होती। आवागमन के पूरे रास्तों पर बर्फ़ जमी हुई थी।

नर्सिंग असिस्टेंट, मेडिकल किट के साथ पहुँचे जवान

ऐसे हालातों में जब कोई विकल्प नहीं बचा रह गया तब भारतीय सेना के जवान मदद के लिए आगे आए। सेना के जवान युद्ध के दौरान मौजूद रहने वाली नर्सिंग असिस्टेंट और मेडिकल किट के साथ मंज़ूर अहमद शेख के घर पहुँचे। इसके बाद वह महिला को अपने कंधों पर लेकर बर्फ़ वाले रास्ते पर दो किलोमीटर तक चल कर करलपुरा अस्पताल लेकर गए। वहाँ पहुँचते ही तुरंत स्वास्थ्य कर्मचारियों ने महिला का उपचार शुरू किया। भारतीय सेना के जवानों ने उन्हें पहले से सूचित कर दिया था जिसकी वजह से वह उपचार के लिए तैयार हो गए थे। 

मंज़ूर अहमद शेख के परिवार वालों और प्रशासन ने भारतीय सेना का इस मानवीय प्रयास के लिए आभार जताया है। बच्चे के जन्म के बाद मंज़ूर अहमद शेख ने कंपनी ऑपरेशन बेस जाकर जवानों को मिठाई खिलाई।         

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -