Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजजंतर-मंतर पहुँच जिन पहलवानों को गले लगाया, सुनी जिनकी बात, उनके समर्थकों ने ही...

जंतर-मंतर पहुँच जिन पहलवानों को गले लगाया, सुनी जिनकी बात, उनके समर्थकों ने ही पीटी उषा से की बदसलूकी: देखिए Video

बता दें कि भारतीय ओलंपिक संघ (IOC) की अध्यक्ष पीटी उषा ने कुछ दिन पहले पहलवानों के धरने को अनुशासनहीनता बताया था। पीटी उषा ने कहा था कि पहलवान सड़कों पर आकर भारत की छवि धूमिल कर रहे हैं। उन्होंने पहलवानों की आलोचना की थी।

भारतीय ओलंपिक संघ की अध्यक्ष पीटी उषा के साथ पहलवानों के समर्थकों ने बुधवार (3 मई 2023) को जंतर-मंतर पर बदसलूकी की। स्थिति को देखते हुए सुरक्षाबल उन्हें वहाँ से निकालकर सुरक्षित जगह ले गए। बता दें कि धरना दे रहे पहलवानों से मिलने के लिए वह धरना स्थल पर गई थीं।

इस घटना का वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में दिख रहा है कि एक महिला सहित कई लोग पीटी उषा को घेर उनके साथ बदतमीजी कर रहे हैं। वीडियो में दिख रहा है कि एक महिला कह रही कि ‘इन्होंने महिलाओं का अपमान किया है। क्यों नहीं करें ऐसा…’। इस दौरान पीटी उषा भीड़ से खुद को बचाने की कोशिश करती दिख रही हैं।

इसके एक एक बुजुर्ग व्यक्ति उन पर चिल्लाते दिख रहा है। कार में बैठी पीटी उषा के सामने आकर एक बुजुर्ग चीखते हुए कहता है, ‘हम फौजी आदमी हैं। हमारी बहन-बेटियों के लिए कर सकत है तो बता।”

बता दें कि पीटी उषा भारतीय ओलंपिक संघ (IOC) की अध्यक्ष हैं। कुछ दिन पहले उन्होंने पहलवानों के धरने को अनुशासनहीनता बताया था। पीटी उषा ने कहा था कि पहलवान सड़कों पर आकर भारत की छवि धूमिल कर रहे हैं। उन्होंने पहलवानों की आलोचना की थी।

इस पर पहलवान साक्षी मलिक ने पीटी उषा पर ही सवाल दाग दिया था। साक्षी मलिक ने 27 अप्रैल 2023 को कहा, “मैं पीटी उषा का सम्मान करती हूँ। उन्होंने हमें प्रेरित किया है, लेकिन मैं मैम से पूछना चाहती हूँ कि महिला पहलवानों ने आगे आकर उत्पीड़न का मुद्दा उठाया है। क्या अब हम विरोध भी नहीं कर सकते?”

पीटी उषा बुधवार (3 मई 2023) को भारतीय कुश्ती संघ के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह (WFI Chief Brij Bhushan Sharan Singh) के खिलाफ दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों से मिलने पहुँची। उन्होंने पहलवानों से मुलाकात की।

मुलाकात के बाद धरना में शामिल बजरंग पुनिया ने कहा, “उन्होंने (पीटी उषा) कहा कि वे हमारे साथ खड़ी हैं और हमें न्याय दिलाएँगी। वह पहले एक एथलीट हैं और फिर कुछ और। उन्होंने (पीटी उषा) ने कहा कि वह हमारी समस्या पर गौर करेंगी और जल्द से जल्द इसका समाधान करेंगी।”

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जब दिल्ली पुलिस ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ FIR दर्ज की थी, तब पहलवान विनेश फोगाट ने कहा था कि धरना दे रहे हरियाणा के पहलवानों को दिल्ली पुलिस पर भरोसा नहीं है।

पहलवान साक्षी मलिक ने तो यहाँ तक कह दिया था, “हम अपना बयान सुप्रीम कोर्ट में दर्ज कराएँगे। उनको (बृजभूषण शरण सिंह) को जेल में डालने और सभी पदों से हटाने के बाद ही हमारा प्रदर्शन खत्म होगा।” पहलवान बृजभूषण शरण सिंह ने सांसद की सदस्यता छोड़ने की भी माँग रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -