Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाजमुस्लिम लड़की से प्रेम पर दलित विजय कांबले की हत्या, लड़की का भाई शहाबुद्दीन...

मुस्लिम लड़की से प्रेम पर दलित विजय कांबले की हत्या, लड़की का भाई शहाबुद्दीन और नवाज गिरफ्तार: कर्नाटक के कलबुर्गी में तनाव

कलबुर्गी की SP ईशा पंत ने कहा कि लड़की के परिवार को रिश्ते के बारे में पता चल गया था और अलग धर्म होने की वजह से नाराजगी थी। इसी नाराजगी के चलते शहाबुद्दीन ने उसकी हत्या कर दी।

कर्नाटक की कलबुर्गी पुलिस ने विजय कांबले की हत्या मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आरोपितों की पहचान शहाबुद्दीन (19) और नवाज के रूप में हुई है। आरोपितों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 302 और 34 के तहत केस दर्ज किया गया है। साथ ही SC/ST भी लगाया गया है।

जानकारी के मुताबिक दलित विजय कांबले का शहाबुद्दीन की बहन के साथ प्रेम संबंध था। इसी वजह से शहाबुद्दीन और नवाज ने मिलकर कांबले की हत्या कर दी। मृतक की माँ ने कहा कि शहाबुद्दीन करीब छह महीने पहले उनके घर आया था और उसने अपनी बहन के साथ रिश्ता नहीं रखने की चेतावनी दी थी। घटना के बारे में जानकारी देते हए उन्होंने बताया कि विजय के काम से लौटने के बाद उसे एक फोन आया। फिर वह कहीं चला गया। उन्होंने मीडिया को बताया, “उन्होंने उसके सिर पर वार किया और फिर चाकू से घोंप कर मार डाला।”

कलबुर्गी की SP ईशा पंत ने कहा कि लड़की के परिवार को रिश्ते के बारे में पता चल गया था और अलग धर्म होने की वजह से नाराजगी थी। पंत ने कहा, “इसी नाराजगी के चलते शहाबुद्दीन ने उसकी हत्या कर दी।”  पुलिस के मुताबिक 25 मई 2022 को कांबले को शहाबुद्दीन और नवाज एक रेलवे पुल के नीचे ले गए और हथियारों, पत्थरों एवं ईंटों से उस पर हमला किया। पुलिस ने बताया कि पीड़ित पर बेरहमी से हमला किया गया। आखिरकार उसने दम तोड़ दिया। मौके पर ही काफी खून बह गया था, जिससे उसकी मौत हो गई।

ईशा पंत ने बताया, “उसकी गर्दन पर कई चोटें थीं और सिर पर भी चोट के निशान थे। वह मौके पर ही मर गया। अब तक की जाँच में पता चला है कि हमला पूर्व नियोजित नहीं था, लेकिन हम और सबूत खोज रहे हैं।” घटना के बाद कलबुर्गी के वाडी में स्थिति तनावपूर्ण हो गई है। इलाके में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस ने अतिरिक्त जवानों को तैनात किया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हज यात्रियों पर आसमान से बरस रही आग, अब तक 22 मौतें: मक्का की सड़कों पर पड़े हुए हैं शव, सऊदी अरब के लचर...

व्यक्ति वीडियो बनाते समय कई शवों को पास से भी दिखाता है और बताता है कि बस, ट्रेन, टैक्सी जैसी कोई भी सुविधा नहीं है और लोग मर रहे हैं, लेकिन सरकार को इससे कोई फर्क नहीं पड़ रहा।

पाकिस्तान से ज्यादा हुए भारत के एटम बम, अब चीन को भेद देने वाली मिसाइल पर फोकस: SIPRI की रिपोर्ट में खुलासा, ड्रैगन के...

वर्तमान में परमाणु शक्ति संपन्न देशों में भारत, चीन, पाकिस्तान के अलावा अमेरिका, रूस, ब्रिटेन, फ्रांस, उत्तर कोरिया और इजरायल भी आते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -