Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक के जिस मंदिर को तोड़ कर टीपू सुल्तान ने बनाया जामा मस्जिद, वहाँ...

कर्नाटक के जिस मंदिर को तोड़ कर टीपू सुल्तान ने बनाया जामा मस्जिद, वहाँ हिंदू कार्यकर्ताओं ने किया हनुमान चालीसा पढ़ने का ऐलान: इलाके में 500 पुलिसकर्मी तैनात

विहिप की ओर से विवादित ढाँचे में पूजा के ऐलान के बाद मस्जिद रोड को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। डिप्टी कमिश्नर अश्वथी एस ने बताया कि आज मस्जिद में लोगों को जाने की इजाजत नहीं है। साप्ताहिक बाजार को भी बंद कर दिया गया है। वहीं 5 किलोमीटर तक इलाके में शराब बिक्री पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

कर्नाटक के मांड्या जिले के हिंदू कार्यकर्ताओं ने ऐलान किया है कि वो श्रीरंगपटना शहर स्थित जामा मस्जिद में घुसकर पूजा करेंगे। हिंदू संगठन के ऐलान के साथ ही राज्य में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल के पदाधिकारियों ने कहा कि वे विवादित मस्जिद के एक किलोमीटर के दायरे में हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे।

पुलिस अधिकारियों ने बताया विहिप और बजरंग दल के ऐलान को देखते हुए शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है। बता दें कि धारा 144 किसी भी प्रकार की सार्वजनिक सभा को प्रतिबंधित करता है। यह 3 जून को दोपहर 3 बजे से 5 जून को दोपहर 12 बजे तक प्रभावी रहेंगे

दरअसल, ज्ञानवापी विवादित ढाँचे की आग दूसरे राज्यों तक पहुँच गई है। कर्नाटक के श्रीरंगपटना में स्थित जामा मस्जिद को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। विश्व हिंदू परिषद का दावा है कि यहाँ पहले मंदिर था, जिसे टीपू सुल्तान ने गिराकर मस्जिद बनाई थी। हिंदू संगठनों ने भी ज्ञानवापी की तर्ज पर जामा मस्जिद के सर्वेक्षण की माँग को लेकर अदालत का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है। विहिप और बजरंग दल ने 20 मई को मांड्या जिला कमिश्नर को एक ज्ञापन सौंपकर माँग की कि जामा मस्जिद में ज्ञानवापी की तर्ज पर सच्चाई का पता लगाने के लिए एक सर्वेक्षण किया जाए। अब विहिप ने जामा मस्जिद में घुसकर पूजा करने का ऐलान कर दिया है। 

इसे देखते हुए जिला प्रशासन ने जामिया मस्जिद और उसके आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी है। 500 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं और चार चेक पोस्ट लगाए गए हैं। शांति व्यवस्था कायम करने के लिए पुलिस ने रूट मार्च भी निकाला है। वहीं दूसरी तरफ विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल के नेता ‘श्रीरंगपटना चलो’ आंदोलन को तेज कर रहे हैं। उनके मुताबिक राज्य सरकार ने उनकी चिट्ठी का कोई जवाब नहीं दिया है लिहाजा वो अपनी योजना के मुताबिक आगे बढ़ रहे हैं। इधर जामिया मस्जिद के अधिकारियों ने राज्य सरकार से मस्जिद की रक्षा करने का अनुरोध किया है। 

विहिप की ओर से ऐलान के बाद मस्जिद रोड को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। डिप्टी कमिश्नर अश्वथी एस ने बताया कि आज मस्जिद में लोगों को जाने की इजाजत नहीं है। साप्ताहिक बाजार को भी बंद कर दिया गया है। वहीं 5 किलोमीटर तक इलाके में शराब बिक्री पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। 

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -