Thursday, July 29, 2021
Homeदेश-समाजकश्मीरी बच्चे की कविता में दिखा हिन्दुस्तान-प्रेम, पाकिस्तान और अलगाववादियों को नहीं भाएँगे ये...

कश्मीरी बच्चे की कविता में दिखा हिन्दुस्तान-प्रेम, पाकिस्तान और अलगाववादियों को नहीं भाएँगे ये सुर

हिन्दुस्तान को ऐसे बच्चों पर बड़ा नाज़ है, जिनकी मासूमियत भले ही नफ़रत के साये में पल रही हो, लेकिन उनका दिल सिर्फ़ हिन्दुस्तान के लिए धड़कता है।

कश्मीर के जो हालात हैं उससे पूरी दुनिया वाक़िफ़ है। आए दिन हमलों की गिरफ़्त में रहने वाला कश्मीर कभी पाकिस्तान की छद्म हरक़तों का शिकार होता है, तो कभी अलगाववादी नेताओं की देश-विरोधी विचारधाराओं की भेंट चढ़ता है। इन्हें अक्सर यह कहते पाया गया है कि कश्मीर की जनता भारत के नहीं बल्कि पाकिस्तान के साथ की कामना करती है। पाकिस्तान भी आए दिन ऐसी बयानबाज़ी करता रहता है जिसमें उसकी कुटिल चाल स्पष्ट दिख जाती है। ऐसे माहौल में एक मासूम बच्चे ने अपनी एक कविता के माध्यम से पाकिस्तान और अलगाववादी नेताओं के गाल पर ज़ोरदार तमाचा मारने का काम किया है।

इस कविता में कश्मीरी बच्चे ने ‘भारत देश’ के लिए मानों अपना दिल ही निकालकर सामने रख दिया हो। देशभक्ति की ऐसी अनूठी मिसाल, वो भी इतनी सी उम्र में कम ही देखने को मिलती है। हिन्दूस्तान को ऐसे बच्चों पर बड़ा नाज़ है, जिनकी मासूमियत भले ही नफ़रत के साये में पल रही हो, लेकिन उनका दिल हिन्दुस्तान के लिए धड़कता है।

कश्मीरी बच्चे की यह कविता देश और बाकी दुनिया के लिए संदेश है कि जिस भारत के सीने को पाकिस्तान हमेशा से ही छलनी करता आया है, उसकी असलियत तो बच्चे भी जानते हैं। ये कविता ऐसे ही लोगों के लिए मुँहतोड़ जवाब है जो कहते हें कि कश्मीर की जनता भारत की बजाए पाकिस्तान के साथ रहना चाहती है।

आइये इस बच्चे की कविता की चंद पंक्तियों पर ग़ौर करते हैं, जिसमें उसने दुनिया को बताना चाहा है कि उसके दिल और दिमाग में केवल भारत ही बसता है…

क्‍या पूछता है मुल्‍क में किसका नज़ारा है
मेरी नज़रों में देखों मुल्‍क का दिलकश नज़ारा है
मेरे हाथों की रेखाओं में नक्‍शे हिंद सारा है
खूं के आख़िरी कतरे ने हिंदुस्‍तान पुकारा है
मेरा दिल है मेरी जां है मेरी आँखों का तारा है
ये हिंदुस्‍तान, ये हिंदुस्‍तान ये हिंदुस्‍तान हमारा है
ये हिंदुस्‍तान, ये हिंदुस्‍तान ये हिंदुस्‍तान हमारा है

भारत, देश के ऐसे बच्चों पर हमेशा गर्व करता है, जिसकी देशभक्ति आसमान छूती है। ऐसे बच्चे एक मिसाल क़ायम करने की दिशा में होते हैं जिनका कोमल मन केवल प्रेम का देना जानते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

झारखंड: दिनदहाड़े खुली सड़क पर जज की हत्या, पोस्‍टमॉर्टम र‍िपोर्ट में हथौड़े से मारने के म‍िले न‍िशान, देखें Video

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जज के सिर पर हथौड़े से मारने वाले निशान पाए गए हैं। इसके अलावा जिस ऑटो ने उन्हें टक्कर मारी वह भी चोरी का था।

रंजनगाँव का गणपति मंदिर: गणेश जी ने अपने पिता को दिया था युद्ध में विजय का आशीर्वाद, अष्टविनायकों में से एक

पुणे के इस स्थान पर भगवान गणेश ने अपनी पिता की उपासना से प्रसन्न होकर उन्हें दर्शन दिया था। इसके बाद भगवान शिव ने...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,723FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe