Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीतिराबड़ी देवी का घर, बगल में बेटा तेजप्रताप और 'लौंडा नाच' देख रहे 'बीमार...

राबड़ी देवी का घर, बगल में बेटा तेजप्रताप और ‘लौंडा नाच’ देख रहे ‘बीमार लालू’… मंच पर लगे थे गाँधी-लोहिया-अंबेडकर के पोस्टर: आप भी देखिए Video

लौंडा नाच बिहार में काफी मशहूर है। ये मुख्य रूप से बिहार के भोजपुरी क्षेत्र में लोकप्रिय है। यह नृत्य अक्सर त्योहारों और समारोहों के दौरान किया जाता है। लौंडा नाच के कई कलाकार हैं, जो इस नृत्य को पेशेवर रूप से करते हैं। हालाँकि इसका चलन अब तेजी से कम होता जा रहा है।

दिनांक: 19 सितंबर 2019, जगह: राबड़ी देवी-लालू प्रसाद यादव का पटना स्थित बंगला। बंगले के हॉल में शानदार सोफा-कुर्सियाँ। सामने मंच सजा है। मंच पर लगी हैं महात्मा गाँधी, बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर, लोहिया, जेपी, विनोबा भावे जैसे महापुरुषों की तस्वीरें और उस मंच पर चल रहा है लौंडा नाच। सामने बैठे हैं लालू प्रसाद यादव, उनके बेटे तेज प्रताप यादव, आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अन्य छोटे-बड़े नेता और छुटभैये कार्यकर्ता।

लालू यादव की पसंद की कायल हुई मीडिया

मेडिकल ग्राउंड पर जेल से बाहर निकले लालू यादव के ‘राजसी’ ठाठ पर आरजेडी के कार्यकर्ता क्यों न मर-मिट जाएँ। हर तरफ वाह-वाह वाला माहौल है। मीडिया में शानदार कवरेज है। कई मीडिया वालों ने खबरें बनाई हैं। लालू यादव की ‘पसंद’ के लोग कायल हुए जा रहे हैं। हों भी क्यों न? लालू प्रसाद यादव बिहार के ‘लौंडा नाच’ का आयोजन जो करा रहे हैं। बगल में बेटा बैठा है, वो भी ‘लौंडा नाच’ का लुत्फ उठा रहा है। विधायक हों या पार्टी पदाधिकारी, सब लोटपोट हुए जा रहे हैं।

मीडिया में वाह-वाह, पुराने अंदाज वाले लालू की वापसी!

आजतक अपनी रिपोर्ट में लिखता है, “किडनी ट्रांसप्लांट के बाद स्वस्थ होने पर लालू यादव अपने पुराने अंदाज में दिख रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से उनको अलग-अलग अवतार में देखा जा रहा है। हाल ही में वो पटना के एक रेस्टोरेंट में राजस्थानी थाली का आनंद लेते दिखाई दिए थे। इससे पहले वो मुंबई के मरीन ड्राइव पर देखे गए। लालू पटना के बाहर कई मंदिरों में जाकर माथा भी टेक रहे हैं।” अब इस पर कुछ कहने की जरूरत ही क्या है, ये लालू प्रसाद यादव का अंदाज भी रहा है।

भाजपा ने बोला हमला

झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा नेता लिखते हैं, “ये बढ़िया राजनीति है… महात्मा गाँधी, बाबासाहेब अंबेडकर, राम मनोहर लोहिया की तस्वीर लगाकर लौंडा नाच करवाइए और बेटे के साथ बैठकर देखिए… गाँधीजी और अंबेडकर जी आज होते तो शर्म से आँखें नीची कर लेते, लेकिन परिवारवादियों और भ्रष्टाचारियों के लिए ये सब ठीक काम है?”

उत्तर प्रदेश की भाजपा नेता रिचा राजपूत लिखती हैं, “लालू यादव के घर पर आयोजित हुआ भव्य लौंडा नाच सांस्कृतिक कार्यक्रम… सैफई महोत्सव से प्रेरित कार्यक्रम में अंबेडकर सहित कई महान हस्तियों की फोटो लगी हुई थी लालू जी राबड़ी के और तेज प्रताप यादव पूरा आनंद लेते हुए …”

लालू प्रसाद यादव के लौंडा नाच के आयोजन के वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहे हैं। लोग भी अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएँ दे रहे हैं। अजीत कुमार लिखते हैं, “लालू यादव का ये वीडियो 19 सितंबर 2023 का बताया जा रहा है। कहा जा रहा कि 19 सितंबर को राबड़ी आवास पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। फिलहाल ‘लौंडा डांस’ का आनंद लीजिए…”

पारंपरिक लोक नृत्य है लौंडा नाच

बिहार में लौंडा नाच एक पारंपरिक लोक नृत्य है, जो पुरुषों द्वारा किया जाता है। इस नृत्य में पुरुष कलाकार महिलाओं के कपड़े पहनते हैं और महिलाओं की तरह नाचते और गाते हैं। लौंडा नाच एक मनोरंजक और आकर्षक नृत्य है। यह नृत्य बिहार की समृद्ध संस्कृति और परंपराओं को दर्शाता है।

लौंडा नाच बिहार में काफी मशहूर है। ये मुख्य रूप से बिहार के भोजपुरी क्षेत्र में लोकप्रिय है। यह नृत्य अक्सर त्योहारों और समारोहों के दौरान किया जाता है। लौंडा नाच के कई कलाकार हैं, जो इस नृत्य को पेशेवर रूप से करते हैं। हालाँकि इसका चलन अब तेजी से कम होता जा रहा है।

वैसे, लौंडा नाच को लेकर कुछ विवाद भी हैं। कुछ लोग इस नृत्य को अश्लील और अपमानजनक मानते हैं और कुछ लोग इसे लोक कला बताकर इसका प्रचार-प्रसार करते हैं। ज्यादातर लोग इस नृत्य को बिहार की एक अनूठी और समृद्ध संस्कृति का हिस्सा मानते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -