Tuesday, May 17, 2022
Homeदेश-समाज'BJP के अलावा किसी पार्टी को राम मंदिर की परवाह नहीं, CM योगी 40...

‘BJP के अलावा किसी पार्टी को राम मंदिर की परवाह नहीं, CM योगी 40 बार आए अयोध्या’: महंत सत्येंद्र दास ने कहा- PM मोदी ने दिया विशेष ध्यान

उन्होंने कहा, “पीएम मोदी ने 'भव्य' राम मदिर की आधारशिला रखी और व्यक्तिगत रूप से ट्रस्ट के गठन पर ध्यान दिया। यह ट्रस्ट केंद्र सरकार के माध्यम से बना है। इसमें ऐसे-ऐसे लोगों को चुन-चुन कर रखा गया है जो भगवान राम के लिए समर्पित हों।”

उत्तर प्रदेश राज्य विधानसभा चुनाव से पहले, शुक्रवार (28 जनवरी 2022) को अयोध्या के राम मंदिर के मुख्य पुजारी महंत सत्येंद्र दास ने कहा कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कॉन्ग्रेस समेत किसी भी राजनीतिक दल ने राम मंदिर की परवाह नहीं की। महंत सत्येंद्र दास ने कहा कि उन लोगों ने विकास की बात की, लेकिन कभी देखने नहीं आए।

द न्यू इंडियन की एक विशेष रिपोर्ट में उन्होंने कहा कि पिछली सरकार केवल अयोध्या के विकास और राम जन्मभूमि को न्याय प्रदान करने की बात करती थी, लेकिन उन्होंने कभी भी इस पर काम नहीं किया। सब कुछ शासन-प्रशासन पर रहा, लेकिन कभी धरातल पर दिखाई नहीं दिए। उन्होंने कहा, “बड़ी-बड़ी बातें करने वाले लोग भगवान राम के जन्मस्थान पर कभी नहीं गए और राजनीति करते रहे।”

कई वर्षों से अयोध्या में भगवान राम की मूर्ति की सेवा कर रहे महंत सत्येंद्र दास ने कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ एकमात्र ऐसे मुख्यमंत्री हैं, जिन्होंने अयोध्या और राम मंदिर के विकास के मूल्यांकन और योजना के लिए पिछले 5 वर्षों में 40 बार अयोध्या का दौरा किया। उन्होंने कहा कि इससे पहले कोई अन्य सीएम या पीएम साइट पर नहीं गए थे, पीएम मोदी ने खुद राम मंदिर का शिलान्यास किया। यह अद्वितीय बात रही।

उन्होंने कहा, “पीएम मोदी ने ‘भव्य’ राम मदिर की आधारशिला रखी और व्यक्तिगत रूप से ट्रस्ट के गठन पर ध्यान दिया।” आगे उन्होंने कहा, “यह ट्रस्ट केंद्र सरकार के माध्यम से बना है। इसमें ऐसे-ऐसे लोगों को चुन-चुन कर रखा गया है जो भगवान राम के लिए समर्पित हों।”

84 वर्षीय महंत ने राम मंदिर के चल रहे निर्माण पर व्यक्तिगत रूप से ध्यान देने के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ की भी प्रशंसा की। मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास 5 मार्च 1992 को विवादित स्थल के रिसीवर द्वारा पुजारी के रूप में नियुक्त किए जाने के बाद से नियमित रूप से भगवान राम की पूजा कर रहे हैं। रिपोर्टों के अनुसार, नियुक्ति के बाद से महंत का वेतन 100 रुपए प्रति महीना था। हालाँकि, योगी आदित्यनाथ द्वारा वर्ष 2018 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद इसे बढ़ाकर 13,000 रुपए प्रति माह कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा के सभी 403 सीटों पर 7 चरणों में चुनाव होंगे। यूपी में इन चरणों के तहत 10 फरवरी, 14 फरवरी, 20 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, 3 मार्च और 7 मार्च को मतदान होगा। वहीं 10 मार्च को चुनाव के नतीजे आएँगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,268FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe