Tuesday, July 5, 2022
Homeदेश-समाजमुल्तान में मिली देवी-देवताओं की स्वर्ण मूर्तियाँ भारत को सौंपी जाए: पाकिस्तानी उच्चायुक्त से...

मुल्तान में मिली देवी-देवताओं की स्वर्ण मूर्तियाँ भारत को सौंपी जाए: पाकिस्तानी उच्चायुक्त से VHP

ज्ञापन की एक प्रति भारत के विदेश मामलों के मंत्री एस जयशंकर को भी भेजी गई है। ज्ञापन में वीएचपी ने माँग की है कि मूर्तियों को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग को सौंप दिया जाए ताकि इसे भारत वापस लाया जा सके और पूजा के लिए मंदिर में रखा जा सके।

विश्व हिंदू परिषद (VHP) के प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार (अगस्त 31, 2020) को नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त को एक ज्ञापन दिया। तीन सदस्यीय उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल की अगुआई दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष कपिल खन्ना ने की। ज्ञापन में पाकिस्तान से पिछले हफ्ते मुल्तान में अदालत परिसर से बरामद किए गए भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की सोने की मूर्तियों को सौंपने के लिए कहा गया। 

ज्ञापन की एक प्रति भारत के विदेश मामलों के मंत्री एस जयशंकर को भी भेजी गई है। ज्ञापन में वीएचपी ने माँग की है कि मूर्तियों को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग को सौंप दिया जाए ताकि इसे भारत वापस लाया जा सके और पूजा के लिए मंदिर में रखा जा सके। 

ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि पाकिस्तानी मीडिया के माध्यम से यह पता चला है कि मुल्तान में मलखाना नंबर 1 के अंदर नई इमारत बनाने के लिए जमीन खोदने के दौरान अन्य चीजों के अलावा हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियाँ मिली है।

Copy of the memorandum sent by VHP to the High Commissioner of Pakistan in New Delhi

ज्ञापन में कहा गया है कि चूँकि मलखान को विभाजन से पहले बना हुआ माना जाता है और स्थानीय पुष्टि के अनुसार, उसी के संबंध में पंजाब सरकार को एक पत्र पहले ही भेजा जा चुका है। प्रतिनिधिमंडल ने आग्रह किया कि इन मूर्तियों को पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग को सौंप दिया जाए। 

Copy of the memorandum sent by VHP to the High Commissioner of Pakistan in New Delhi

दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष कपिल खन्ना ने इस बारे में मीडिया को अवगत कराते हुए कहा है कि हालाँकि कोरोना वायरस प्रोटोकॉल के कारण नई दिल्ली में पाकिस्तान के उच्चायुक्त के साथ व्यक्तिगत बैठक नहीं की जा सकती है, लेकिन उन्होंने इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें ज्ञापन मिल गया है और वो ई-मेल के जरिए इसका जवाब देंगे।

कपिल खन्ना ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “हमारा एक ही उद्देश्य है। हम केवल मूर्तियों को वापस प्राप्त करना चाहते हैं, क्योंकि यह हमारी आस्था और विश्वास से जुड़ा हुआ है। हम केवल इसे वापस लाना चाहते हैं ताकि इसे हिंदू मंदिरों में हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार स्थापित किया जा सके।”

इससे पहले, पाकिस्तानी मीडिया ने खबर दी थी कि मलखाना के कचेरी परिसर में खजाने के मिलने के बाद शहर की पुलिस ने पाकिस्तान के मुल्तान के इलाके को सील कर दिया था।

इसका खुलासा तब हुआ, जब जिला प्रशासन के ठेकेदारों ने जिला अदालतों को विस्तार देने को लेकर एक नई इमारत बनाने के लिए मलखाना के एक हिस्से को ध्वस्त कर दिया और जमीन की खुदाई की।

यह बताया गया था कि शहर के जिला प्रशासन ने पंजाब के पुरातत्व विभाग और मुख्य सचिव को खजाने के पुरातात्विक मूल्य को स्थापित करने के लिए दो पत्र लिखे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘किसी और मजहब पर ऐसी फिल्म क्यों नहीं बनती?’: माँ काली का अपमान करने वालों पर MP में होगी कार्रवाई, बोले नरोत्तम मिश्रा –...

"आखिर हमारे देवी देवताओं पर ही फिल्म क्यों बनाई जाती है? किसी और धर्म के देवी-देवताओं पर फिल्म बनाने की हिम्मत क्यों नहीं हो पाती है।"

चित्रकूट में ‘कोदंड वन’ की स्थापना, CM योगी ने हरिशंकरी का पौधा लगाकर की शुरुआत: श्रीराम की तपोभूमि में लगेंगे 35 करोड़ पौधे

सीएम योगी ने 124 करोड़ रुपए की 28 योजनाओं का शिलान्यास और 15 योजनाओं का लोकार्पण करते हुए कहा कि गोस्वामी तुलसीदास व महर्षि वाल्मीकि की धरती पर धार्मिक व पर्यटन विकास में कोताही नहीं होगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
203,707FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe