Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाजपश्चिम बंगाल में बुर्का पहनने से मना करने पर मुस्लिम भीड़ ने स्कूल पर...

पश्चिम बंगाल में बुर्का पहनने से मना करने पर मुस्लिम भीड़ ने स्कूल पर किया हमला: ममता शासन में हेडमास्टर निलंबित, विभागीय जाँच शुरू

साल 2011 की जनगणना के अनुसार 66 प्रतिशत मुस्लिम आबादी वाले मुर्शिदाबाद जिले की इस घटना में मुस्लिम भीड़ ने हेडमास्टर को उनके हवाले करने की माँग करते हुए स्कूल में बम फेंका। हेडमास्टर और स्टाफ ने स्कूल के कमरे में खुद को बंद रखा और पुलिस ने उन्हें बचाया।

ममता बनर्जी के राज में पश्चिम बंगाल कट्टरपंथियों का गढ़ बनता जा रहा है। कर्नाटक से शुरू हुआ हिजाब मामला पश्चिम बंगाल में पहुँचकर हिंसक हो गया है। मुर्शिदाबाद के एक स्कूल में बुर्के में आईं मुस्लिम लड़कियों को स्कूल यूनीफॉर्म पहनने की बता कहने पर भीड़ ने स्कूल के स्टाफ पर हमला कर दिया। इतना ही नहीं, मुस्लिमों की भीड़ ने शनिवार (12 फरवरी) को हेडमास्टर को तालिबानी अंदाज में उन्हें सौंपने की भी माँग करते हुए स्कूल को घेर लिया और हिंसा एवं आगजनी की। इस मामले में पुलिस ने 18 लोगों को गिरफ्तार किया है और अन्य लोगों की तलाश जारी है।

पुलिस ने शनिवार की देर शाम तक हिंसक भीड़ से बचने के लिए खुद को स्कूल के कमरे में बंद किए हुए हेडमास्टर और स्टाफ को बचाया। अधिकारियों के मुताबिक, हेडमास्टर को निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ विभागीय जाँच शुरू की गई है। कुछ स्थानीय लोगों का कहना है कि छात्राओं को स्कूल की ओर से यूनिफॉर्म दी गई है और शिक्षक उन तस्वीरों को जिला प्रशासन को भेजने वाले हैं। इसलिए छात्राओं को बुर्का की जगह वर्दी पहनने को कहा गया था।

साल 2011 की जनगणना के अनुसार 66 प्रतिशत मुस्लिम आबादी वाले मुर्शिदाबाद जिले के सुती इलाके में बहुतली हाईस्कूल के हेडमास्टर दीनबंधु मित्रा ने शुक्रवार (11 फरवरी) को स्कूल की कुछ छात्राओं से कहा था कि स्कूल में हिजाब या बुर्का के बजाए स्कूल यूनीफॉर्म पहनकर आएँ। रिपोर्ट्स के मुताबिक, मित्रा ने यह भी कहा था कि जो लड़की इस आदेश को नहीं मानेगी, उसका नाम स्कूल की रजिस्ट्री से हटा दिया जाएगा। इसके बाद लड़कियों ने अपने परिजनों को इसके बारे में बताया और स्थानीय मुस्लिमों की भीड़ ने स्कूल को घेर लिया। इस दौरान स्कूल में बम फेंकने की भी खबर है।

सूचना मिलने के बाद जिला पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी दल-ब-दल के साथ मौके पर पहुँचे। हिंसक भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया और आँसू गैस के गोले छोड़े। हालाँकि स्थिति अभी नियंत्रित में है, लेकिन इलाके में तनाव बना हुआ है। स्थिति को देखते हुए घटनास्थल पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

हिजाब को लेकर कर्नाटक में मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं को पीटा

उधर कर्नाटक में हिजाब के समर्थन में उतरी मुस्लिम भीड़ ने हिजाब प्रतिबंध का समर्थन करने पर हिंदुओं के खिलाफ हिंसा पर उतर आए हैं। शुक्रवार को मुस्लिम लड़कों के एक समूह ने नागराज नाम के एक हिंदू युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। घटना कथित तौर पर दावणगेरे जिले के हरिहर फर्स्ट ग्रेड कॉलेज परिसर की है।

इसी तरह, दावणगेरे जिले के मालेबेन्नूर शहर की एक अन्य घटना में मुस्लिम भीड़ ने व्हाट्सएप स्टेटस पर कथित तौर पर हिजाब के खिलाफ एक पोस्ट अपलोड करने के कारण उसे चाकू मार दिया था। इसी तरह नल्लूर गाँव में भी मुसलमानों की भीड़ ने हिजाब विवाद को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट के कारण 25 वर्षीय नवीन और उसकी 60 वर्षीय माँ पर हमला कर दिया और घर में तोड़फोड़ की।

बता दें कि 8 फरवरी को दावणगेर में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाते हुए सांप्रदायिक घटना अंजाम दिया गया था। इस हिंसक घटना में कई पुलिसकर्मी और छात्र घायल हो गए थे। मुस्लिम भीड़ द्वारा कई दोपहिया वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कौन है राजनीति का Noob? देश के 7 शीर्ष गेमर्स के साथ PM मोदी का संवाद: भारतीय संस्कृति के इर्दगिर्द गेम्स डेवलप करने को...

PM मोदी ने P2G2 का जिक्र किया - प्रो पीपल, गुड गवर्नेंस। कहा - 2047 तक मध्यमवर्गीय परिवारों की ज़िंदगी से निकल जाएगी सरकार, नहीं करनी होगी भागदौड़।

आतंकी कोई नियम-कानून से हमला नहीं करते, उनको जवाब भी नियम-कानून मानकर नहीं दिया जाएगा: विदेश मंत्री जयशंकर

भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान के आतंकी कोई नियम मान कर हमला नहीं करते तो उन्हें जवाब भी बिना नियम माने दिया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe