Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजबांग्लादेश से भारत में घुसा, बेंगलुरु में निकाह, गर्भवती बीवी की हत्या कर फिर...

बांग्लादेश से भारत में घुसा, बेंगलुरु में निकाह, गर्भवती बीवी की हत्या कर फिर बांग्लादेश भाग रहा था नासिर हुसैन: सिलीगुड़ी में गिरफ्तार

डीसीपी (साउथ ईस्ट) सीके बाबा ने बताया, "हुसैन को भारत-बांग्लादेश सीमा पार करने के सभी रास्तों की जानकारी थी। सीमा पार करने का उसका पहला प्रयास विफल हो गया था, क्योंकि वहाँ सुरक्षा अधिकारी तैनात थे। इसलिए उसने दूसरा रास्ता चुना, जहाँ पुलिस ने उसे पकड़ लिया। बाद में उसे बेंगलुरु लाया गया।"

बेंगलुरु में अपनी गर्भवती बीवी की हत्या करने वाला नासिर हुसैन (Nasir Hussain) बांग्लादेशी घुसपैठिया निकला। पुलिस जाँच में इसका खुलासा हुआ है। दरअसल नासिर हुसैन ने निकाह के महज छह माह बाद 15 जनवरी 2023 को 22 वर्षीया बीवी नाज खानम (Naz Khanum) की हत्या कर दी थी। तब से वह अपने देश बांग्लादेश भागने की फिराक में था, लेकिन 19 जनवरी 2023 को वह कोलकाता में पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

बेंगलुरु सिटी के साउथ ईस्ट डिवीजन पुलिस ने आरोपित नासिर हुसैन को कोलकाता के बाहरी इलाके में पकड़ा था। वह सिलीगुड़ी के रास्ते अपने देश बांग्लादेश भागने की कोशिश कर रहा था, लेकिन वह असफल रहा। इसके बाद वह कोलकाता वापस आ रहा था, जहाँ पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। बेंगलुरु पुलिस ने आरोपित नासिर को पकड़ने के लिए पश्चिम बंगाल के पाँच जिलों की पुलिस से समन्वय स्थापित किया हुआ था। 

नाज खानम के परिजनों को नासिर हुसैन के बारे में गलत जानकारी थी। उनका मानना था कि नासिर पश्चिम बंगाल जिले का रहने वाला है और अनाथ है। पुलिस से उसके बांग्लादेशी होने की जानकारी मिली। नासिर हुसैन के पास से पुलिस ने फर्जी आधार कार्ड, वोटर कार्ड और अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं।

वहीं जाँचकर्ताओं के अनुसार, “हुसैन 2013-14 में अवैध रूप से बांग्लादेश से भारत आया था। वह पेशे से हार्डवेयर इंजीनियर था। हालाँकि उसके पास इसके लिए कोई डिग्री नहीं थी और दिल्ली, गुरुग्राम और कोलकाता में काम करते-करते मोबाइल और लैपटॉप रिपेयरिंग का काम सीख गया था।” इसके बाद वह बेंगलुरु चला गया।

अधिकारी के अनुसार, “हुसैन को शक था कि उसकी पत्नी का उसकी बहन के पति इलियास पाशा से अफेयर है और होने वाला बच्चा उसका नहीं है। इस बाबत वह अपनी बीवी से बच्चा गिराने के लिए कह रहा था। जब उसने ऐसा करने से मना किया तो हुसैन ने उसकी हत्या कर दी। अगले दिन हुसैन ने अपनी बीवी के भाई को उसकी मौत की जानकारी देकर शहर से भाग गया।”

बकौल पुलिस अधिकारी, घटना के बाद से हुसैन लगातार बांग्लादेश भागने का प्रयास करता रहा, लेकिन वह असफल रहा और अंतत: 19 जनवरी 2023 को पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। हुसैन तीन वर्ष पहले बेंगलुरु आया था और नाज खानम के घर के पास ही उसने किराए पर घर पर लिया था। दोनों के बीच प्यार हो गया और फिर दोनों ने 6 महीना पहले निकाह कर लिया।

डीसीपी (साउथ ईस्ट) सीके बाबा ने बताया, “हुसैन को भारत-बांग्लादेश सीमा पार करने के सभी रास्तों की जानकारी थी। सीमा पार करने का उसका पहला प्रयास विफल हो गया था, क्योंकि वहाँ सुरक्षा अधिकारी तैनात थे। इसलिए उसने दूसरा रास्ता चुना, जहाँ पुलिस ने उसे पकड़ लिया। बाद में उसे बेंगलुरु लाया गया।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -