Sunday, September 26, 2021
Homeदेश-समाजकश्मीर गए तो उड़ा दिए जाओगे: साइकिलिस्टि को पाकिस्तानी नंबर से कॉल कर दी...

कश्मीर गए तो उड़ा दिए जाओगे: साइकिलिस्टि को पाकिस्तानी नंबर से कॉल कर दी धमकी

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी और स्थिति को सामान्य बनाने के लिए सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। ख़ुद एनएसए अजीत डोभाल 2 बार कश्मीर जा चुके हैं।

कोटा के एक साइकिलिस्ट को जम्मू-कश्मीर न जाने की धमकी दी गई है। ये धमकी वाला फोन कॉल पाकिस्तान से आया। वाहट्सएप्प से किए गए कॉल में कोटा के युवा साइकिलिस्ट को धमकी दी गई कि अगर उसने कश्मीर में पाँव रखे तो उसे उड़ा दिया जाएगा। निखिल पाल सिंह अपने साथियों के साथ कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक एक ‘ग्रुप साइकिल टूर’ की योजना बना रहे थे। उन्होंने जवाहर नगर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई गई शिकायत में कहा है कि पाकिस्तान से आए व्हाट्सप्प कॉल में उन्हें कश्मीर जाने पर जान से मारने की धमकी दी गई।

अभी तक पुलिस धमकी देने वाले की पहचान नहीं कर सकी है। अभी यह भी साफ़ नहीं हुआ है कि इस धमकी के बाद साइकिलिस्ट निखिल पाल ने अपना टूर स्थगित कर दिया है, या फिर वह कश्मीर जाएँगे। धमकी देने वाले ने निखिल ने कहा, “कश्मीर साइकिल चलाने के लिए नहीं है। अगर आप कश्मीर में आए तो उड़ा दिए जाओगे।” पुलिस फ़िलहाल इस नंबर की जाँच में लगी हुई है, जिससे यह पता चल सके कि फोन करने वाला व्यक्ति कहाँ का था और उसके दावों में कितनी सच्चाई है?

निखिल पाल ने बताया कि उन्हें जब पहली बार धमकी भरा कॉल आया तो उन्होंने इसे किसी की शरारत समझ कर नज़रअंदाज़ कर दिया। लेकिन दोबारा यही धमकी दी गई तो उन्होंने पलट कर जवाब देते हुए कहा, “कश्मीर तुम्हारे बाप का नहीं है।” बता दें कि कोटा में ही डेढ़ महीने पहले गुमानपुरा के एक व्यापारी को पाकिस्तान के नंबर से फोन आया था। इस फोन कॉल में अज्ञात व्यक्ति ने आईएसआई के लिए काम नहीं करने पर व्यापारी को जान से मारने की धमकी दी थी

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी और स्थिति को सामान्य बनाने के लिए सरकार हरसंभव कोशिश कर रही है। ख़ुद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएस) अजीत डोभाल 2 बार कश्मीर जा चुके हैं। अपने 11 दिनों के कश्मीर प्रवास के दौरान उन्होंने सुरक्षा बलों से लेकर आम लोगों तक से बातचीत कर स्थिति का जायजा लिया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

PFI के 6 लोग… ₹28 लाख की वसूली… खाली कराना था 60 परिवार, कहाँ से आए 10000? – असम के दरांग में सिपाझार हिंसा...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने सिपाझार हिंसा के पीछे PFI के होने की बात कही। 6 लोगों ने अतिक्रमणकारियों से 28 लाख रुपए वसूले थे।

केरल: CPI(M) यूथ विंग कार्यकर्ता ने किया दलित बच्ची का यौन शोषण, वामपंथी नेताओं ने परिवार को गाँव से बहिष्कृत किया

केरल में DYFI कार्यकर्ता पर एक दलित बच्ची के यौन शोषण का आरोप लगा है। बच्ची की उम्र मात्र 9 वर्ष है। DYFI केरल की सत्ताधारी पार्टी CPI(M) का यूथ विंग है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,375FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe