Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजदेश मना रहा था 15 अगस्त, प्रयागराज के मदरसे में तिरंगा बिछाकर हो रहा...

देश मना रहा था 15 अगस्त, प्रयागराज के मदरसे में तिरंगा बिछाकर हो रहा था चाय नाश्ता: तस्वीर सामने आने के बाद 4 पर FIR

इस मामले में नामजद संजय और कुलदीप पर पवन ने आरोप लगाया कि उन्होंने इसी साल मुहर्रम के जुलूस को तय रास्ते से मुड़़वा दिया था, जिससे कोई अप्रिय घटना भी हो सकती थी। बकौल पवन कुमार, लगभग 4 साल पहले एक दिल के मरीज के घर के आगे जोर-जोर से बज रहे मुहर्रम के बाजे को धीमा करने के लिए कहा था तो उन्हें नन्हे कुरैशी ने उन्हें धमकी दी थी।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले में राष्ट्रध्वज के अपमान का एक मामला सामने आया है। यहाँ एक मदरसे के अंदर तिरंगे को मेज पर बिछाकर खाना खाया गया। इस घटना का एक फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। पुलिस ने एक स्थानीय व्यक्ति की शिकायत पर 4 नामजद सहित अज्ञात लोगों पर FIR दर्ज कर लिया है। घटना स्वतंत्रता दिवस (15 अगस्त 2023) की है।

यह मामला प्रयागराज जिले के थाना क्षेत्र होलागढ़ के दहियावाँ बाजार का है। यहाँ के पवन कुमार जायसवाल ने 15 अगस्त (मंगलवार) को पुलिस में शिकायत दी कि दहियावां बाजार में कुछ असामाजिक तत्वों ने तिरंगे पर खाना खाया है। अपने आरोप में पवन ने तौआब अंसारी, नन्हे कुरैशी, संजय और कुलदीप केसरवानी को नामजद किया है। शिकायत में कुछ अन्य अज्ञात लोगों का भी नाम दर्ज किया गया है। शिकायतकर्ता ने इस घटना को देशद्रोह बताते हुए इससे लोगों में आक्रोश पनपने का आरोप लगाया।

ऑपइंडिया के पास मौजूद FIR की कॉपी के अनुसार, पुलिस ने इस मामले में राष्ट्रध्वज अपमान रोकथाम अधिनियम (संशोधित) 2003 की धारा 2 के तहत कार्रवाई की है। घटना की वायरल हो रही तस्वीर में कुछ लोग कुर्सियों पर बैठे हैं और बाकी लोग खड़े हैं। सामने रखी मेज पर केसरिया, सफेद और हरे रंग की पट्टियों वाला कपड़ा बिछा हुआ है। उस पर खाने-पीने का सामान रखा हुआ है। मौके पर मौजूद एक व्यक्ति अपने मोबाइल से फोटो भी खींच रहा है।

जन भावनाओं को भड़काने की साजिश का आरोप

ऑपइंडिया ने इस घटना के बारे में शिकायतकर्ता पवन से बात की। पवन ने हमें बताया कि घटना दहियावाँ बाजार के मदरसा गौसिया इस्लामिया जीनत उल उलूम के अंदर की है। यह मदरसा लगभग 4 साल पुराना है, जिसके प्रबंधन और संचालन का काम तौआब अंसारी और नन्हे कुरैशी देखते हैं।

पवन ने आगे बताया कि जब एक तरफ राष्ट्रवादी लोगों द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली गई थी, उसी समय इस फोटो को वायरल करने का मकसद असल में जनभावनाओं को भड़का कर तनाव का माहौल पैदा करना था। नन्हे कुरैशी और तौआब ने अपनी साजिश को अंजाम देने के लिए घटना के समय हिन्दू समुदाय के संजय और कुलदीप को गेस्ट के तौर पर बुलाया था।

इस मामले में नामजद संजय और कुलदीप पर पवन ने आरोप लगाया कि उन्होंने इसी साल मुहर्रम के जुलूस को तय रास्ते से मुड़़वा दिया था, जिससे कोई अप्रिय घटना भी हो सकती थी। बकौल पवन कुमार, लगभग 4 साल पहले एक दिल के मरीज के घर के आगे जोर-जोर से बज रहे मुहर्रम के बाजे को धीमा करने के लिए कहा था तो उन्हें नन्हे कुरैशी ने उन्हें धमकी दी थी।

शिकायतकर्ता पवन ने हमें आगे बताया कि पुलिस ने भी महज धारा 151 में आरोपितों का चालान किया और सभी बाहर आ गए हैं। उन्होंने आरोपितों की गहराई से जाँच करने पर काफी कुछ और निकल कर आने का दावा किया। पवन ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस अब तक फोटो में दिख रहे बाकी लोगों में से किसी की भी पहचान नहीं कर पाई है। शिकायतकर्ता ने मदरसे को सील करने की भी माँग की।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -