Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिपुणे में सजा नया राजनीतिक मंच! PM मोदी के साथ दिखे दोनों पवार भी,...

पुणे में सजा नया राजनीतिक मंच! PM मोदी के साथ दिखे दोनों पवार भी, तिलक पुरस्कार की राशि नमामि गंगे योजना को समर्पित

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश के लिए जो काम किया, उसके लिए उन्हें सम्मानित किया जा रहा है। पवार ने कहा कि यह पुरस्कार अटल बिहारी वाजपेई, डॉ मनमोहन सिंह, शंकर दयाल शर्मा, इंदिरा गाँधी को भी दिया गया। अब इस सूची में पीएम का नाम शामिल किया जा रहा है। इसके लिए उन्हें बधाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) मंगलवार (1 अगस्त 2023) को महाराष्ट्र के पुणे दौरा पर हैं। पुणे में पीएम मोदी ने पुणे के श्रीमंत दगडूशेठ हलवाई मंदिर में पूजा-अर्चना की और देश के कल्याण के लिए प्रार्थना की। इस दौरान पीएम मोदी को विरोधी I.N.D.I.A खेमे के शरद पवार के साथ मंच साधा किया। इसको लेकर सियासत तेज हो गई है।

PM मोदी ने कहा, “आज मैंने दगड़ूशेठ मंदिर में पूजा की। यह सम्मान अविस्मरणीय है। जो संस्थान सीधे तौर पर तिलकजी से जुड़ा हो, उससे लोकमान्य तिलक सम्मान सौभाग्य की बात है।” दगड़ूशेठ पहले व्यक्ति थे, जो तिलक के आह्वान पर गणेश प्रतिमा की स्थापना में शामिल हुए थे।

दरअसल प्रधानमंत्री मोदी पुणे में तिलक स्मारक ट्रस्ट की ओर से आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री के साथ मंच साझा किया। दोनों नेताओं ने एक दूसरे का हाल-चाल भी लिया। इतना ही नहीं, इस कार्यक्रम में चाचा शरद पवार से विद्रोह कर NDA हिस्सा बनने वाले भतीजे अजित पवार भी शामिल हुए। अब विपक्षी एकता को लेकर सवाल उठ रहे हैं।

ट्रस्ट द्वारा आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी को लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने पुरस्कार में मिली एक लाख रुपए की राशि को नमामि गंगे योजना को देने का ऐलान किया। तिलक की पुण्यतिथि पर दिए जाने वाले पुरस्कार को लेकर आयोजकों ने कहा कि यह पुरस्कार पीएम मोदी के सर्वोच्च नेतृत्व को मान्यता देता है, जिसके तहत भारत प्रगति की सीढ़ियाँ चढ़ रहा है।

प्रधानमंत्री ने बाल गंगाधर तिलक को श्रद्धांजलि देकर वहाँ उपस्थित लोगों को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा, “आज हम सबके आदर्श और भारत के गौरव बाल गंगाधर तिलक जी की पुण्यतिथि है। साथ ही, आज अण्णा भाऊ साठे की जन्म जयंती भी है। भारत की आज़ादी में तिलक की भूमिका को, उनके योगदान को कुछ घटनाओं और शब्दों में नहीं समेटा जा सकता है।”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “अंग्रेजों ने धारणा बनाई थी कि भारत की आस्था, संस्कृति, मान्यताएँ, ये सब पिछड़ेपन का प्रतीक हैं, लेकिन तिलक जी ने इसे भी गलत साबित किया। तिलक जी ने आज़ादी की आवाज़ को बुलंद करने के लिए पत्रकारिता और अखबार की अहमियत को भी समझा। उन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज के साहस और आदर्शों की ऊर्जा से समाज को भरने के लिए शिव जयंती आयोजन शुरू किया। उन्होंने समाज को जोड़ने के लिए सार्वजनिक गणपति महोत्सव की नींव डाली।”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे मेट्रो फेज-I के दो गलियारों के पूर्ण खंडों पर मेट्रो ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई। ये मेट्रो फुगेवाड़ी स्टेशन से सिविल कोर्ट स्टेशन और गरवारे कॉलेज स्टेशन से रूबी हॉल क्लिनिक स्टेशन तक चलेगी। प्रधानमंत्री ने मोदी ने साल 2016 में इस परियोजना की आधारशिला रखी थी।

इससे पुणे शहर के शिवाजी नगर, सिविल कोर्ट, पुणे नगर निगम कार्यालय, पुणे RTO और पुणे रेलवे स्टेशन जुड़ जाएंगे। सिविल कोर्ट मेट्रो स्टेशन देश के सबसे गहरे मेट्रो स्टेशनों में से एक है, इसमें 33.1 मीटर का सबसे गहरा पॉइंट है। इस स्टेशन की छत को इस तरह से बनाया गया है कि धूप सीधी प्लेटफॉर्म पर पड़े।

उन्होंने पुणे में शिवाजी नगर पुलिस मुख्यालय में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। पीएम मोदी ने कहा कि लगभग 15,000 करोड़ रुपए की परियोजनाओं की आधारशिला रखी गई है, जो हजारों लोगों के लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने की दिशा में काम करेगी।

उधर, एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने देश के लिए जो काम किया, उसके लिए उन्हें सम्मानित किया जा रहा है। पवार ने कहा कि यह पुरस्कार अटल बिहारी वाजपेई, डॉ मनमोहन सिंह, शंकर दयाल शर्मा, इंदिरा गाँधी को भी दिया गया। अब इस सूची में पीएम का नाम शामिल किया जा रहा है। इसके लिए उन्हें बधाई।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -