Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाजत्रिपुरा में भड़की हिंसा: मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं के घरों, दुकानों और वाहनों पर...

त्रिपुरा में भड़की हिंसा: मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं के घरों, दुकानों और वाहनों पर किया हमला, सांप्रदायिक तनाव का माहौल

कदमतला इलाके में करीब एक हजार मुस्लिम सड़क पर उतर आए। इस बार मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं के घरों, दुकानों और वाहनों पर हमला किया। सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में, मुस्लिम भीड़ हाथों में लाठी लेकर सड़कों पर मार्च कर रही है।

उत्तरी त्रिपुरा जिले के धर्मनगर सब-डिवीजन और त्रिपुरा के उनोकोटी जिले के कैलाशहर सब-डिवीजन में सांप्रदायिक तनाव की घटनाओं के बाद धारा 144 लागू की गई है। धर्मनगर सब-डिवीजन के मजिस्ट्रेट द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि क्षेत्र में शांति भंग होने की प्रबल आशंका है, जिसकी वजह से सार्वजनिक समारोहों, जुलूसों, नारेबाजी, रैली, सार्वजनिक भाषणों आदि पर प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता पड़ी है।

बांग्लादेश में हिंदुओं पर सांप्रदायिक हमलों के बाद हिंदू और मुस्लिम समूहों की बड़ी सभा के बाद प्रशासन द्वारा प्रतिबंध लगाए गए हैं। मंगलवार (26 अक्टूबर 2021) को दोनों पक्षों की ओर से क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर छिटपुट हिंसा हुई।

रिपोर्ट के मुताबिक, घटनाओं का सिलसिला धर्मनगर जिले के पानीसागर सब-डिवीजन के रोवा में शुरू हुआ, जहाँ विश्व हिंदू परिषद के नेतृत्व में एक विरोध रैली में शामिल कुछ लोगों ने एक मस्जिद पर हमला कर दिया। विहिप नेता पूर्ण चंद्र मंडल के नेतृत्व में बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं की सुरक्षा की माँग वाली रैली उस समय हिंसक हो गई थी जब जुलूस रोवा गाँव पहुँचा और उन्हें वहाँ एक मस्जिद दिखाई दी।

इसके बाद भीड़ ने रोवा बाजार में मुस्लिमों की कई दुकानों में तोड़फोड़ की और आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों ने कथित तौर पर मस्जिद में भी तोड़फोड़ की और आग लगाने की कोशिश की, लेकिन वहाँ इकट्ठे हुए स्थानीय मुस्लिमों ने उन्हें रोक दिया।

हिंदुओं द्वारा विरोध रैली में हुई हिंसा पर प्रतिक्रिया देते हुए कदमतला इलाके में करीब एक हजार मुस्लिम सड़क पर उतर आए। इस बार मुस्लिम भीड़ ने हिंदुओं के घरों, दुकानों और वाहनों पर हमला किया। सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए वीडियो में, मुस्लिम भीड़ हाथों में लाठी लेकर सड़कों पर मार्च कर रही है। सोशल मीडिया के दावों के मुताबिक, हिंदुओं ने कदमतला बाजार मस्जिद पर हमला करने की भी कोशिश की, लेकिन मस्जिद की सुरक्षा के लिए करीब 5000 मुस्लिम जमा हो गए थे। कथित तौर पर, बाद में लगभग 11 बजे, हिंदुओं द्वारा कथित हमलों के विरोध में हजारों मुस्लिम सामने आए।

कदमतला में मुस्लिमों द्वारा हिंदुओं पर किए गए हमले के बाद, हिंदुओं ने पास के चुरैबाड़ी इलाके में जवाबी हमला किया। हिंसा के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग पर रात में असम से आ रहे कई वाहनों पर हमला किया गया।

दूसरी ओर, रोवा में एक मस्जिद पर हमले की खबरें राज्य में फैलीं और अधिकतर जगहों पर मुस्लिमों द्वारा विरोध प्रदर्शन की सूचना मिली। त्रिपुरा में मुस्लिमों की सुरक्षा की माँग को लेकर मंगलवार देर रात बड़ी संख्या में मुस्लिमों ने कैलाशहर के ईरानी थाने का घेराव किया। उन्होंने आरोप लगाया कि हिंदुओं के एक वर्ग द्वारा मुस्लिमों पर हमलों के बावजूद हिंदुओं के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है। मामले को संवेदनशील होता देख त्रिपुरा सरकार ने संबंधित क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी है। सरकार ने शांति बनाए रखने के लिए इस मामले को असम सरकार के संज्ञान में भी लाया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPTET के अभ्यर्थियों को सड़क पर गुजारनी पड़ी जाड़े की रात, परीक्षा हो गई रद्द’: जानिए सोशल मीडिया पर चल रहे प्रोपेगंडा का सच

एक तस्वीर वायरल हो रही है, जिसके आधार पर दावा किया जा रहा है कि ये उत्तर प्रदेश में UPTET की परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों की तस्वीर है।

बेचारा लोकतंत्र! विपक्ष के मन का हुआ तो मजबूत वर्ना सीधे हत्या: नारे, निलंबन के बीच हंगामेदार रहा वार्म अप सेशन

संसद में परंपरा के अनुरूप आचरण न करने से लोकतंत्र मजबूत होता है और उस आचरण के लिए निलंबन पर लोकतंत्र की हत्या हो जाती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,506FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe