Thursday, September 23, 2021
Homeदेश-समाज'बुलेटरानी' के काफिले में PM मोदी की फोटो देख भड़के किसान नेता: पंजाब में...

‘बुलेटरानी’ के काफिले में PM मोदी की फोटो देख भड़के किसान नेता: पंजाब में जमकर काटा बवाल, पोस्टर फाड़े; लगाए मुर्दाबाद के नारे

किसान नेताओं ने गाड़ी में लगे पीएम मोदी के पोस्टरों को फाड़ दिया और 'मोदी सरकार मुर्दाबाद' के नारे लगाए। नारे लगाने वाली भीड़ में किसान नेता कुलविंदर सिंह पंजोला, कुलवंत सैनी, दलजीत सिंह गिल और परविंदर सिंह अलीपुर शामिल थे।

किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा रूपनगर में गाड़ियों को निशाना बनाए जाने का मामला सामने आया है। 17 अगस्त को प्रदर्शनकारियों ने पंजाब के रूपनगर (रोपड़) में मनाली जा रही एक गाड़ी पर हमला कर दिया। ऐसा पीएम मोदी के खिलाफ नफरत के चलते किया गया है। दरअसल उस गाड़ी पर पीएम मोदी के पोस्टर थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस गाड़ी पर उपद्रवियों ने हमला किया वो ‘बुलेट रानी’ के काफिले का था, जो कि 75 वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाने के लिए तमिलनाडु के मदुरै से मनाली की यात्रा पर था।

घटना रात करीब साढ़े 10 बजे हुई। वहाँ के पुराने बस स्टैंड रोपड़ के पास बाज होटल के पास बुलेट रानी का काफिला खड़ा था। इसकी जानकारी होते ही इलाके के किसान पार्किंग में जमा हो गए और कार को घेर कर उस पर हमला कर दिया।

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने गाड़ी में लगे पीएम मोदी के पोस्टरों को फाड़ दिया और ‘मोदी सरकार मुर्दाबाद’ के नारे लगाए। करीब एक घंटे तक चले इस बवाल की खबर लगते ही मौके पर पहुँची पुलिस की टीम ने स्थिति को शांत कराया। नारे लगाने वाली भीड़ में किसान नेता कुलविंदर सिंह पंजोला, कुलवंत सैनी, दलजीत सिंह गिल और परविंदर सिंह अलीपुर शामिल थे। कथित तौर पर, उन्होंने कहा कि कार पर ‘मोदी नंबर -1’ लिखा था, लेकिन ‘पीएम किसानों की नहीं सुन रहे हैं।’

मौके पर मौजूद नेताओं में से एक ने कहा, “मोदी सरकार तीन कृषि कानूनों को निरस्त नहीं कर रही है। हम उनसे पूछना चाहते हैं, इन सबके बावजूद मोदी नंबर-1 पीएम कैसे हैं? उन्होंने आगे कहा कि जब तक तीन कृषि कानूनों को निरस्त नहीं किया जाता, तब तक भाजपा द्वारा आयोजित सभी कार्यक्रमों का किसान संघों द्वारा विरोध किया जाएगा।”

इस मामले में रोपड़ शहर के एसएचओ भगवंत सिंह ने कहा है कि तमिलनाडु की रहने वाली राजलक्ष्मी ‘बुलेट रानी’ के नाम से मशहूर हैं। उन्होंने Bullet पर सवार होकर कई खोजें की हैं। इसके अलावा उन्हें कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। फिलहाल वह दिल्ली के मयूर विहार में रह रही हैं। 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उन्होंने देश के शहीदों की याद में मदुरै तमिलनाडु से हिमाचल प्रदेश के मनाली में अटल टनल तक रैली की शुरुआत की थी।

राजलक्ष्मी मांडा जहाँ 4450 किलोमीटर की यात्रा पर अपनी बाइक की सवारी कर रही हैं, तो उनके काफिले में एक इनोवा कार व एक टेंपो ट्रैवलर भी है। टैंपो में पीएम मोदी के पोस्टर हैं। काफिला बाज होटल में आराम करने के लिए रुका तभी किसान नेताओं के नेतृत्व में भीड़ ने हंगामा किया। बाद में पुलिस ने स्थिति को शांत किया और कथित किसानों को घर वापस भेज दिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe