Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजबालासोर रेल हादसे के बाद घटनास्थल पर घंटो डटे रहे रेल मंत्री, खुद की...

बालासोर रेल हादसे के बाद घटनास्थल पर घंटो डटे रहे रेल मंत्री, खुद की राहत और बचाव कार्यों की निगरानी: लोग बोले- कोई और नेता होता तो AC में बैठता

उनका एक फोटो रेल विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ वायरल हो रहा है जिसमें वो एक चबूतरे पर व्यथित होकर बैठे दिखाई दे रहे हैं। विकास अहीर ने ये फोटो शेयर करते हुए लिखा, "रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव जी के चेहरे से व्यथा साफ झलक रही है।"

उड़ीसा के बालासोर में शुक्रवार (2 जून 2023) की रात हुए हादसे के बाद राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है। इस हादसे में अब तक 288 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है जबकि कई घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। लगभग 84 ट्रेनों को कैंसिल करना पड़ा है और कइयों के रुट बदले गए हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (3 जून) को घटनास्थल का दौरा किया। वहीं घटना के बाद से रेलमंत्री खुद राहत और बचाव कार्यों का नेतृत्व मौके पर मौजूद रह के कर रहे हैं।

राहत और बचाव कार्यों के साथ ट्रेनों का संचालन फिर से शुरू हो सके इस बात पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। खुद रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव बालासोर में घटनास्थल पर मौजूद रह कर इस अभियान की निगरानी कर रहे हैं। इस दौरान उनके कई वीडियो और फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इस वीडियो में वो क्षतिग्रस्त डिब्बे के नीचे से निकलते दिखाई दे रहे हैं। डिब्बे से निकल कर रेलमंत्री ने राहत और बचावकर्मियों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दिए।

रेलमंत्री ने घटनास्थल पर ही अपनी मौजूदगी के दौरान अधिकारियों को इस घटना के कारणों का पता लगाने के निर्देश दिए हैं। घटना की रात बीतने के बाद शनिवार सुबह ही अश्वनी वैष्णव बालासोर पहुँच गए थे। शनिवार-रविवार की रात सहित कुल 25 घंटों से अधिक समय तक वो घटनास्थल पर जमे रहे।

उनका एक फोटो रेल विभाग के अन्य अधिकारियों के साथ वायरल हो रहा है जिसमें वो एक चबूतरे पर व्यथित होकर बैठे दिखाई दे रहे हैं। विकास अहीर ने ये फोटो शेयर करते हुए लिखा, “रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव जी के चेहरे से व्यथा साफ झलक रही है।”

वहीं एक अन्य वीडियो में वो रात में चल रहे राहत व बचाव कार्यों की समीक्षा करते दिखाई दिए। इस वीडियो में घटनास्थल पर पुलिस ने बैरिकेड कर रखी है। पटरियों को अन्य स्टाफ द्वारा सही किया जा रहा है। इस वीडियो को शेयर करते हुए मुदित नाम के यूजर ने लिखा, “कोई और नेता होता तो एसी कमरे में आराम से बैठा होता।”

बता दें कि वर्तमान में केंद्रीय रेल मंत्री अश्विन वैष्णव कानपुर IIT के पूर्व छात्र और पूर्व में IAS अधिकारी भी रह चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक खुद पर ममता बनर्जी व अन्य राजनेताओं द्वारा लगाए जा रहे आरोपों और प्रत्यारोपों पर उन्होंने ये समय राजनीति के लिए ठीक नहीं होने का जवाब दिया। हादसे की जाँच जारी है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाबरी अब मस्जिद नहीं ‘ढाँचा’, राम मंदिर ‘राष्ट्रीय गर्व’, अयोध्या ‘पवित्र स्थल’: NCERT ने 12वीं की किताब में किया बदलाव, सुप्रीम कोर्ट के फैसले...

अयोध्या को भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक बताया गया है। राम जन्मभूमि को 'राष्ट्रीय गर्व' लिखा गया है। सन् 1528 में इसे तोड़ कर यहाँ ढाँचा बना।

दिल्ली पुलिस को पाइपलाइन की रखवाली के लिए लगाना चाहती है AAP सरकार, कमिश्नर को आतिशी ने लिखा पत्र: घोटाले का आरोप लगा BJP...

बीजेपी ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने जब से दिल्ली जल बोर्ड की कमान संभाली, उसके एक साल में जमकर धाँधली हुई और दिल्ली जल बोर्ड को बर्बाद कर दिया गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -