Thursday, September 29, 2022
Homeदेश-समाज'बंदर और भालू को कोई उड़ा सकता है': राजस्थान के अफसर ने रामायण-महाभारत को...

‘बंदर और भालू को कोई उड़ा सकता है’: राजस्थान के अफसर ने रामायण-महाभारत को ‘मिथक’ बताया, हिंदू घृणा से सने कई पोस्ट किए

आरपीएस ने एक पोस्ट में लिखा , “जब आर्य संस्कृति का उत्तर भारत से दक्षिण में गमन हुआ तो वहाँ के आदिवासी राजाओं, योद्धाओं बाली, सुग्रीव, जावमंत, हनुमान जैसों को बंदर, भालू के समान दर्जा दिया गया था।”

कॉन्ग्रेस शासित राज्य राजस्थान से हिंदू भावनाओं को ठेस पहुँचाने वाले एक मामले ने तूल पकड़ा है। बताया जा रहा है कि राज्य के एक आरपीएस अधिकारी ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से हिंदू धर्म को लेकर विवादित पोस्ट किए हैं। इस दौरान उन्होंने रामायण और महाभारत जैसे पवित्र महाग्रंथों को भी मिथक यानि काल्पनिक बता दिया।

प्राप्त जानकारियों के मुताबिक आरपीएस अफसर हरि चारण मीणा (Hari Charan Meena) ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा, “अगर किसी को लगता है तो वो बिना पंख के बंदर और भालू को उड़ा सकता है तो आज भी कोई कोर्ट के सामने उड़ा कर दिखाए। पूरा देश देखने को तैयार है।” उसने अपनी एक पोस्ट में संत कबीर के दोहों का भी जिक्र किया।

राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस अधिकारी की विवादित पोस्ट (फोटो साभार: ETV भारत)

मीणा ने रामायण और महाभारत को लेकर लिखा, “रामायण और महाभारत केवल मिथकीय ग्रंथ हैं। इतिहास में उनकी प्रामाणिकता स्वीकार नहीं। ये मैं नहीं कहता, भारत के इतिहास में लिखा है।” अपनी पोस्ट में उन्होंने यह भी कहा कि माफी नहीं कोर्ट में लड़कर जवाब दो।

राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस अधिकारी की विवादित पोस्ट (फोटो साभार: ETV भारत)

आरपीएस मीणा ने एक पोस्ट में महाराजा जयसिंह द्वितीय मुगलों का नौकर तक लिख दिया। उसने इस पोस्ट में लिखा, “अपने चारण, भाट, दरवारी, इतिहास लेखकों ने तो महाराजा जयसिंह द्वितीय ही बताया है। अब काबुल के शिलालेख मुगल बाबर के वंशजों का नौकर बताएँ तो हम क्या करें ? हम देश के साथ हैं।”

राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस अधिकारी की विवादित पोस्ट (फोटो साभार: ETV भारत)

उन्होंने अपनी एक ओर पोस्ट में आर्य समाज को निशाना बनाया। इसमें आरपीएस ने लिखा, “जब आर्य संस्कृति का उत्तर भारत से दक्षिण में गमन हुआ तो वहाँ के आदिवासी राजाओं, योद्धाओं बाली, सुग्रीव, जावमंत, हनुमान जैसों को बंदर, भालू के समान दर्जा दिया गया था।”

राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस अधिकारी की विवादित पोस्ट (फोटो साभार: ETV भारत)

एक अन्य पोस्ट में आरपीएस मीणा ने लिखा, “राजाराम मोहन राय, स्वामी विवेकानंद, स्वामी दयानंद सरस्वती, ज्योतिवा राव फुले, स्वात्री बाई, भगत सिंह और अंबेडकर जी का मैं खुला समर्थन करता हूँ।”

राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस अधिकारी की अन्य पोस्ट (फोटो साभार: ETV भारत)

पहले पिंटू मीणा ने पुजारी को बताया नास्तिक

गौरतलब है कि आरपीएस अफसर हरि चारण मीणा से पहले AAO पिंटू मीणा ने एक विवादित पोस्ट की थी। उस पोस्ट में उन्होंने लिखा, “दुनिया का सबसे बड़ा नास्तिक पुजारी होता है, जो मंदिर में रखी दानपेटी को कभी भगवान के भरोसे नहीं छोड़ता है।” वहीं मंत्री मुरारीलाल मीणा के विशिष्ट सहायक लक्ष्मीकांत बालोत भी विवादित पोस्ट कर चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सरकारी अधिकारी से लेकर PHD होल्डर, लाइब्रेरियन से लेकर तकनीशियन तक’: PFI में शामिल थे कई नामी लोग; ट्विटर ने अकॉउंट बंद किया, वेबसाइट...

प्रतिबंधित PFI के शीर्ष पदों को पूर्व सरकारी कर्मचारी, लाइब्रेरियन और पीएचडी होल्डर संभाल रहे थे। अब इसके सोशल मीडिया अकॉउंट बंद हो गए हैं।

दीपक त्यागी की सिर कटी लाश, हत्या पशुओं की गर्दन काटने वाले छूरे से: ‘दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम’ एंगल को जाँच रही...

मेरठ में दीपक त्यागी की गला काट कर हत्या। मृतक का दूसरे समुदाय की एक लड़की (हेयर ड्रेसर की बेटी) से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,030FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe