Sunday, April 14, 2024
Homeदेश-समाजपंजाब में 'गुरु की सराय' को मस्जिद में बदल डाला: सिखों और हिंदुओं का...

पंजाब में ‘गुरु की सराय’ को मस्जिद में बदल डाला: सिखों और हिंदुओं का विरोध, तनाव के बाद फोर्स तैनात

स्थानीय लोगों का कहना है कि गुरु की सराय में हर दिन नमाज के वक्त मुस्लिम इकट्ठा हो जाते हैं। इनमें राज्य के बाहर के लोग भी शामिल होते हैं। तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाया जाता है, जिससे आम लोगों को परेशानी होती है।

पंजाब के राजपुरा में एक मस्जिद के निर्माण को लेकर तनाव फैल गया है। मामला गुज्जरा मोहल्ले का है। यहाँ पहले गुरु की सराय हुआ करती थी। इसमें हिंदू और सिख आते थे। बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पहले कुछ लोगों ने गुरु की सराय को मस्जिद बना दिया। इसका सिखों और हिंदुओं ने जम कर विरोध किया।

गुरु की सराय की जगह मस्जिद के कारण उपजे हालात को देखते हुए बड़ी तादाद में मौके पर फोर्स की तैनाती करनी पड़ी है। सोमवार (17 मई 2022) को इस मामले की स्थानीय SDM कोर्ट में सुनवाई भी हुई। इस दौरान मस्जिद बना रहे मुस्लिम पक्ष के लोगों के अलावा सिख और हिंदू भी बड़ी तादाद में थे।

सिखों और हिंदुओं के मुताबिक गुरु की सराय गुरुद्वारा है। यहाँ दोनों समाज के लोग सेवा करते थे। स्थानीय सिखों और हिंदुओं ने आरोप लगाया है कि बिना किसी से पूछे यहाँ मस्जिद का रूप दे दिया गया। इस मसले पर पहले भी सिख और हिंदू विरोध जता चुके हैं।

स्थानीय लोगों का कहना है कि गुरु की सराय में हर दिन नमाज के वक्त मुस्लिम इकट्ठा हो जाते हैं। इनमें राज्य के बाहर के लोग भी शामिल होते हैं। इनका न तो वेरिफिकेशन किया जाता है और न ही रिकॉर्ड रखा जाता है। तेज आवाज में लाउडस्पीकर बजाया जाता है, जिससे आम लोगों को परेशानी होती है। एसडीएम कोर्ट में सुनवाई के वक्त कई धर्माचार्य, गोरक्षा दल के लोग भी थे। 

सुनवाई के बाद एसडीएम हिमांशु गुप्ता ने कहा कि माहौल को ठीक रखने के लिए फोर्स लगाई गई है। उन्होंने दोनों पक्षों को अपने-अपने दावे पेश करने के लिए सुबूत और दस्तावेज देने के लिए कहा। दोनों पक्षों के बयान भी लिए गए हैं। अब प्रशासन अपने स्तर पर जाँच करवाएगा कि यहाँ पर मस्जिद थी या फिर सराय।

उल्लेखनीय है कि जिस स्थान पर विवाद हो रहा है वह पटियाला के गुजरांवाला मोहल्ले में मौजूद है। विश्व हिन्दू परिषद का दावा है कि गुरु की सराय को मस्जिद का रूप देने के लिए मुस्लिम पक्ष द्वारा किसी भी प्रकार की अनुमित नहीं ली गई। VHP के इस दावे का गुजरांवाला मोहल्ले के स्थानीय निवासी और सिख समुदाय के कई लोग भी समर्थन कर रहे हैं। इन लोगों ने सराय को मस्जिद का रूप देने वालों के खिलाफ कार्रवाई की माँग की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

BJP की तीसरी बार ‘पूर्ण बहुमत की सरकार’: ‘राम मंदिर और मोदी की गारंटी’ सबसे बड़ा फैक्टर, पीएम का आभामंडल बरकार, सर्वे में कहीं...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में बीजेपी तीसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाती दिख रही है। नए सर्वे में भी कुछ ऐसे ही आँकड़े निकलकर सामने आए हैं।

‘राष्ट्रपति आदिवासी हैं, इसलिए राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा में नहीं बुलाया’: लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गाँधी ने फिर किया झूठा दावा

राष्ट्रपति मुर्मू को राम मंदिर ट्रस्ट का प्रतिनिधित्व करने वाले एक प्रतिनिधिमंडल ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए औपचारिक रूप से आमंत्रित किया गया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe