Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजFB पोस्ट पर बवाल: अंजुमन कमिटी की FIR पर लड़की को जेल, संप्रदाय-विशेष के...

FB पोस्ट पर बवाल: अंजुमन कमिटी की FIR पर लड़की को जेल, संप्रदाय-विशेष के लोग अब भी बाहर

अंजुमन कमिटी ने लड़की के पोस्ट को आपत्तिजनक और धार्मिक भावना को आहत करने वाला बताते हुए उसके खिलाफ FIR दर्ज करा दिया। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 2 घंटे के भीतर लड़की को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

इन दिनों धर्म और संप्रदाय को लेकर लोगों के बीच काफी रोष का माहौल व्याप्त है। लोग अपनी सोशल मीडिया वॉल पर किसी धर्म को लेकर कुछ भावनाएँ व्यक्त करते हैं तो समुदाय विशेष द्वारा उसे सांप्रदायिक तनाव का कारण करार दिया जाता है। इसे आपसी सौहार्द्र बिगाड़ने की कोशिश बताते हुए उसके खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही जाती है। और प्रशासन के लिए डर का माहौल कुछ इस कदर है कि इन मामलों में पुलिस भी बिना जाँच किए त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपित को जेल में डाल देती है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है राँची के पिठोरिया से। यहाँ ग्रेजुएशन पार्ट थ्री में पढ़ाई करने वाली एक युवती पर आरोप है कि उसने फेसबुक और व्हाट्सएप के जरिए धर्म-विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इससे समुदाय विशेष के लोग आहत हो गए।

अंजुमन कमिटी पिठोरिया ने लड़की के पोस्ट को आपत्तिजनक और धार्मिक भावना को आहत करने वाला बताते हुए उसके खिलाफ पिठोरिया थाने में एफआईआर दर्ज करा दिया। इसके बाद पुलिस ने अंजुमन कमिटी की शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुए 2 घंटे के भीतर उस युवती को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जानकारी के मुताबिक, कमिटी द्वारा 4 बजे आवेदन किया गया था और 6 बजे लड़की को थाने ले जाया गया और फिर जेल में डाल दिया गया। इससे आक्रोशित लोगों का कहना है कि युवती को दो घंटे के अंदर जेल भेज दिया गया, जबकि कई गंभीर टिप्पणी करने वाले बाहर हैं।

थानेदार द्वारा बिना जाँच-पड़ताल किए लड़की को जेल भेजने के खिलाफ शनिवार (जुलाई 13, 2019) को जनाक्रोश भड़क गया। लोग लड़की को रिहा करने और थानेदार पर कार्वाई की माँग कर रहे थे। उनका कहना था कि थानेदार ने उचित कार्रवाई न करते हुए अपनी मनमानी की है। लड़की की जल्द से जल्द रिहाई करवाने को लेकर लोग धरने पर बैठ गए और थानेदार विनोद राम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लड़की के समर्थन में विश्व हिंदू परिषद, आरएसएस, बजरंग दल, हिंदू जागरण मंच के राँची जिला के पदाधिकारी भी थाना पहुँचे। लोगों ने थानेदार पर एकतरफा कार्रवाई करने का आरोप लगाया। उनका कहना था कि अगर जिस धर्म को लेकर लड़की ने टिप्पणी की है, तो उसी धर्म के लोगों ने प्रतिक्रिया में लड़की के धर्म को लेकर भी बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की है। ऐसे में जब मामला दोनों तरफ से था तो फिर कार्रवाई एकतरफा क्यों की गई?

अंजुमन कमिटी द्वारा थाने में दर्ज की गई शिकायत

मामले की गंभीरता को देखते हुए ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर व एएसपी अमित रेणु भी वहाँ पहुँचे। उन्होंने लोगों को समझाया और आश्वासन दिया कि उनके द्वारा उठाए गए सभी पहलूओं की जाँच होगी औ अगर जाँच के दौरान ये पाया जाता है कि थानेदार विनोद राम दोषी हैं, तो उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि उस फेसबुक पोस्ट की भी जाँच होगी, जिसको लेकर गिरफ्तारी हुई और उसमें अगर दूसरा पक्ष भी दोषी पाया जाएगा तो उन्हें भी बख्‍शा नहीं जाएगा। वहीं, लड़की की रिहाई को लेकर कहा गया कि उसे सोमवार (जुलाई 15, 2019) को बेल पर रिहा कर दिया जाएगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हिन्दुओ, औकात में रहो! तुम्हारी महिलाएँ हमारी हरम का हिस्सा थीं, दासी थीं’: यूपी पुलिस के हत्थे चढ़ा सपा नेता अदनान खान, हो रही...

ये फेसबुक पोस्ट आंबेडकर नगर के टांडा विधानसभा क्षेत्र में सपा यूथ विंग के विधानसभा अध्यक्ष अदनान खान का है, जिसमें हिन्दुओं को धमकी दी गई है।

जहाँ दकियानूसी ईसाई चला रहे टीके के खिलाफ अभियान, उन्हीं की मीडिया को करारा जवाब है भारत का 100+ करोड़

100 करोड़ का ये आँकड़ा भारत/भारतीयों के बारे में सदियों से फैलाए झूठ (अनपढ़, अनुशासनहीन, अराजक, स्वास्थ्य सुविधाहीन आदि) की बखियाँ उधेड़ रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
131,033FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe