Thursday, June 20, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली मेट्रो के गेट में फँसी साड़ी, महिला ट्रैक पर घिसटती हुई गई: रीना...

दिल्ली मेट्रो के गेट में फँसी साड़ी, महिला ट्रैक पर घिसटती हुई गई: रीना देवी की दर्दनाक मौत

दिल्ली मेट्रो में सफर के दौरान दरवाजे में रीना देवी की साड़ी फँस गई थी। मेट्रो का सेंसर कपड़ों को भाँप नहीं पाया और गेट बंद हो गया। रीना देवी काफी दूर तक घिसटते चली गईं। गंभीर हालत में रीना को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। डॉक्टरों ने उन्हें बचाने की काफी कोशिशें की लेकिन 2 दिन बाद उन्होंने दम तोड़ दिया।

दिल्ली के इंद्रलोक मेट्रो स्टेशन पर एक महिला की मेट्रो ट्रेन में साड़ी फँसने से मौत हो गई। गुरुवार (14 दिसंबर 2023) को हुई इस घटना के दौरान महिला घिसटती हुई काफी दूर तक चली गई थी। घायल अवस्था में महिला को दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहाँ शनिवार (16 दिसंबर 2023) उसने दम तोड़ दिया। इस मामले में पुलिस ने कोई केस दर्ज नहीं किया है हालाँकि हादसे की जाँच की जा रही है। शुरुआती जाँच में पता चला है कि मेट्रो के दरवाजे का सेंसर काम न करना इस हादसे की वजह बना है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हादसे की शिकार होने वाली रीना नाम की महिला नांगलोई से मोहन नगर जा रही थी। तब रीना के साथ उनका 14 वर्षीय बेटा भी मौजूद था। इंद्रलोक मेट्रो स्टेशन पर रीना ट्रेन बदलने जा रही थी। तभी मेट्रो का गेट बंद होना शुरू हो गया। इस दौरान पीड़िता की साडी मेट्रो गेट में फँस गई। कुछ ही सेकेंड बाद ट्रेन चल दी और रीना उसी के साथ घिसटती हुई काफी दूर तक चली गई। जब तक मेट्रो को रोका जाता तब तक रीना बुरी तरह से घायल हो चुकी थी।

आनन-फानन में 35 वर्षीया रीना को गंभीर अवस्था में दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती करवाया गया। रीना के रिश्तेदार विक्की के मुताबिक सिर में गंभीर चोट आने की वजह से पीड़िता को सफदरजंग अस्पताल में रीना को ICU वार्ड में रखा गया था। न्यूरो स्पेशलिस्ट डॉक्टरों के तमाम प्रयासों के बावजूद रीना को बचाया नहीं जा सका। शनिवार को रीना ने अंतिम साँस ली। रीना के पति की मौत लगभग 7 साल पहले ही हो चुकी थी। 1 बेटी व 1 बेटे की माँ रीना अपने दोनों बच्चों को खुद से पाल रहीं थीं।

दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन के प्रवक्ता अनुज दयाल ने इस घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि मामले की जाँच मेट्रो रेलवे सुरक्षा आयुक्त कर रहे हैं। अभी तक की जाँच में सामने आया है कि मेट्रो में लगा सेंसर महिला के कपड़ों को ट्रेस नहीं कर पाया। वहीं अब तक पुलिस ने इस मामले में कोई केस दर्ज नहीं किया है। हालाँकि दिल्ली पुलिस के एक प्रवक्ता के मुताबिक उनकी नजर केस पर है और जरूरत पडने पर कानूनी राय ली जाएगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 फसलों पर MSP की बढ़ोतरी, पवन ऊर्जा परियोजना, वाराणसी एयरपोर्ट का विस्तार, पालघर का पोर्ट होगा दुनिया के टॉप 10 में: मोदी कैबिनेट...

पालघर के वधावन पोर्ट की क्षमता अब 298 मिलियन टन यूनिट की जाएगी। इससे भारत-मिडिल ईस्ट कॉरिडोर भी मजबूत होगा। 9 कंटेनर टर्मिनल होंगे।

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -