Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाज'चोटी-तिलक देख कर थूका, पीट-पीट कर सिर फोड़ दिया': भाई ने बताया आकाश सैनी...

‘चोटी-तिलक देख कर थूका, पीट-पीट कर सिर फोड़ दिया’: भाई ने बताया आकाश सैनी ने स्वामी प्रसाद मौर्य पर क्यों फेंका जूता, पुलिस में दी शिकायत

इस मारपीट के कारण आकाश सैनी का सिर फूट गया है, ये भी जानकारी दी गई है। ये भी आरोप है कि उसके मुँह पर थूका गया और उसे अपशब्द भी कहे गए।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्य पर जूते फेंकने वाले आकाश सैनी के परिवार ने कहा है कि उसे बहुत मारा-पीटा गया था, इसी कारण उसने जूता फेंका। उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य फ़िलहाल MLC (विधान पार्षद) हैं और सपा के महासचिव भी हैं। आकाश के भाई विकास सैनी ने लखनऊ के विभूतिखंड थाने में सोमवार (21 अगस्त, 2023) को एक तहरीर दी, जिसमें उन्होंने बताया कि आकाश अपने साथियों के साथ ‘इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान’ में आयोजित एक कार्यक्रम में गए थे।

आकाश सैनी के भाई ने इस तहरीर में पूरे घटनाक्रम के बारे में बताया है। उनकी मानें तो चूँकि आकाश ने तिलक लगाया हुआ था और चोटी रखी हुई थी, इसीलिए सपा कार्यकर्ताओं ने टिप्पणी की। विरोध करने पर उन्हें पकड़ लिया गया। इसी बीच शोर-शराबा देख कर स्वामी प्रसाद मौर्य वहाँ पहुँचे। उन्होंने पूछताछ की कि क्या हो रहा है। बताया जा रहा है कि इसी दौरान स्वामी प्रसाद मौर्य के 40-50 समर्थकों ने आकाश पर हमला बोल दिया। उन्हें जम कर पीटा गया।

इस मारपीट के कारण आकाश सैनी का सिर फूट गया है, ये भी जानकारी दी गई है। ये भी आरोप है कि उसके मुँह पर थूका गया और उसे अपशब्द भी कहे गए। पुलिस ने कहा है कि तहरीर के आधार पर जाँच की जाएगी। आकाश सैनी के समर्थन में ‘अखिल भारतीय हिन्दू महासभा’ ने भी विरोध प्रदर्शन किया। हालाँकि, स्वामी प्रसाद मौर्य ने थूकने के आरोप को ख़ारिज किया है। आकाश सैनी वकील की वेशभूषा में स्वामी प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम में पहुँचे थे।

पुलिस किसी तरह आकाश सैनी का बीच-बचाव कर के उसे थाने ले गई। शांतिभंग के तहत उसके खिलाफ कार्रवाई की गई है। प्रदर्शन कर रहे हिन्दू संगठन ने उसे रिहा करने की माँग भी की है। बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने तुलसीदास कृत ग्रन्थ रामचरितमानस पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इसके बाद हिन्दू संगठनों ने उनके खिलाफ खूब विरोध प्रदर्शन किया था। बता दें कि रामचरितमानस का गाँव-गाँव में पाठ होता है और आराधना, रामधुन और अखंड रामायण पाठ के दौरान इसका पाठ किया जाता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -