Wednesday, June 12, 2024
Homeदेश-समाज'रामलला के लिए दान करना चाहता हूँ 11 किलो का सोने का मुकुट, उसमें...

‘रामलला के लिए दान करना चाहता हूँ 11 किलो का सोने का मुकुट, उसमें लगे हैं 101 हीरे’: राम मंदिर ट्रस्ट को महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने लिखा पत्र

उसने दावा किया है कि ये एक गहन आशीर्वाद है। सुकेश चंद्रशेखर ने कहा कि उसके जीवन में जो भी है वो भगवान श्रीराम के आशीर्वाद का भी प्रमाण है।

महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने एक बार फिर से जेल से पत्र लिखा है। उसने इच्छा जताई है कि वो राम मंदिर के लिए दान देना चाहता है। बकौल महाठग, वो रामलला के लिए सोने का मुकुट दान करना चाहता है। उसने ये चिट्ठी ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ के नाम लिखी है और इसमें कहा गया है कि वो जो मुकुट दान में देना चाहता है वो 11 किलोग्राम का है और 916.24 कैरेट सोने से बनी है। उसका कहना है कि इस मुकुट में 101 हीरे भी लगे हुए हैं।

उसने दावा किया है कि हर हीरा 5 कैरेट का है। मुकुट के बीच में एक पन्ना का पत्थर भी लगा हुआ है, जो 50 कैरेट का है। उसने यहाँ तक दावा किया है कि इस मुकुट को दक्षिण भारत के एक बड़े ज्वेलर्स द्वारा तैयार किया गया है। उसने इस पत्र में खुद और अपने परिवार की भगवान रामचंद्र के प्रति अटूट भक्ति होने का भी दावा किया है और कहा है कि इसी कारण वो ये मुकुट दान करने के लिए प्रेरित हुआ है। उसने इसे सपने सच होने जैसा बताया है।

उसने दावा किया है कि ये एक गहन आशीर्वाद है। सुकेश चंद्रशेखर ने कहा कि उसके जीवन में जो भी है वो भगवान श्रीराम के आशीर्वाद का भी प्रमाण है। उसने कहा कि यह योगदान उसके लिए एक बड़े मील का पत्थर बन गया है। उसने अनंत मलिक को अपना क़ानूनी सलाहकार और स्टाफ बताते हुए कहा है कि आगे की कार्यवाही के लिए उसे अधिकृत किया गया है। उसने आवश्यक बिल, रसीदें और प्रमाण पत्र प्रदान करने सहित सभी कानूनी औपचारिकताएँ पूरी करने का आश्वासन भी दिया है।

उसने लिखा है कि दिसंबर के पहले सप्ताह तक काम पूरा हो जाएगा। महाठग सुकेश चंद्रशेखर का कहना है कि 22 जनवरी, 2024 को अभिषेक समारोह में वो अपना मुकुट रामलला को पहनाए जाने की इच्छा रखता है। फ़िलहाल वह राष्ट्रीय राजधानी स्थित मंडोली में जेल-11 में बंद है। हालाँकि, ये जान लेने वाली बात है राम मंदिर ट्रस्ट ने इसका कोई जवाब नहीं दिया है और न ही मुकुट को स्वीकार किया गया है। सुकेश इससे पहले अक्सर अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडिस को पत्र लिखने के लिए जाना जाता रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नाबालिग औलाद ने ही अपने इमाम अब्बा का किया सिर तन से जुदा: कट्टर इस्लामी-वामी मचा रहे ‘मुस्लिम टारगेट किलिंग’ का शोर, पुलिस जाँच...

जिसे वामी-इस्लामी हैंडल घोषित करना चाहते थे टारगेट किलिंग, शामली में मस्जिद के उस इमाम का सिर उनके ही नाबालिग बेटे ने किया था तन से जुदा।

सड़क पर सोने से लेकर, बम हमला झेलने तक… जानें ओडिशा के नए मुख्यमंत्री मोहन चरण माझी कौन हैं, कैसे हुई थी राजनीति की...

ओडिशा के नए सीएम मोहन चरण माझी 90 के दशक से भाजपा के साथ जुड़े हुए हैं। उन्होंने एक शिक्षक होने से करियर की शुरुआत की थी। अब वो राज्य के मुख्यमंत्री बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -