Thursday, June 30, 2022
Homeदेश-समाजकश्मीर में आतंकियों ने पुलिसकर्मी और 7 साल की बेटी को गोलियों से भूना:...

कश्मीर में आतंकियों ने पुलिसकर्मी और 7 साल की बेटी को गोलियों से भूना: पिता की मौत, बच्ची का चल रहा है इलाज

सौरा इलाके में जम्मू-कश्मीर पुलिस के पुलिसकर्मी पर आतंकवादियों ने ताबड़तोड़ गालियाँ चलाई। गोलीबारी में कादरी गंभीर रूप से जख्मी हो गए, जिनकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई।

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के सौरा इलाके में मंगलवार (24 मई, 2022) को आतंकवादियों ने एक पुलिसकर्मी की हत्या कर दी। उनकी पहचान सैफुल्ला कादरी (अब्बा का नाम मोहम्मद सैयद कादरी) के रूप में हुई है। इस हमले में पुलिसकर्मी की सात साल की बेटी भी घायल हो गई है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि अंचर सौरा के पास आतंकवादियों ने पुलिसकर्मी पर गोलीबारी की। गंभीर हालत में उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, सौरा इलाके में जम्मू-कश्मीर पुलिस के पुलिसकर्मी पर आतंकवादियों ने ताबड़तोड़ गालियाँ चलाई। गोलीबारी में कादरी गंभीर रूप से जख्मी हो गए, जिनकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस हमले में उनकी बेटी भी गंभीर रूप ये घायल हुई है, जिसे पास के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहाँ उसका इलाज चल रहा है। इस बीच वरिष्ठ डॉ जी एच यातू ने बताया कि पुलिसकर्मी को अस्पताल में मृत लाया गया था, जबकि उसकी बेटी की हालत स्थिर है।

बताया जा रहा है कि गोलाबारी की आवाज सुनने के बाद सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों पर जवाबी कार्रवाई की, लेकिन आतंकी वहाँ से भागने में कामयाब रहे। सुरक्षाबलों ने इस इलाके को घेर लिया है और आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान शुरू कर दिया है।

बता दें कि इससे पहले आतंकियों ने बडगाम ज‍िले में 12 मई को राजस्व विभाग के एक कर्मचारी पर ताबड़तोड़ गोलियाँ चलाकर उनकी हत्या कर दी थी। यह घटना मध्य कश्मीर के चदूरा में तहसीलदार कार्यालय में हुई थी। मृतक की पहचान कश्मीरी पंडित राहुल भट के रूप में हुई थी। वहीं, 7 मई 2022 को आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में एक पुलिसकर्मी गुलाम हसन को गोली मारकर घायल कर दिया था। इसके तुरंत बाद घायल कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe