Tuesday, June 18, 2024
Homeदेश-समाज'जब तक WFI अध्यक्ष गिरफ्तार नहीं हो जाते, हम यहीं खाएँगे-सोएँगे': एक बार फिर...

‘जब तक WFI अध्यक्ष गिरफ्तार नहीं हो जाते, हम यहीं खाएँगे-सोएँगे’: एक बार फिर जंतर-मंतर पर पहलवानों का धरना, दावा – 7 महिला रेसलर्स ने दर्ज कराई शिकायत

फोगट ने कहा कि जब तक न्याय नहीं हो जाता, तब तक पहलवान वहीं पर सोएँगे-खाएँगे। उन्होंने दावा किया कि 3 महीने से केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है।

पहलवानों ने एक बार फिर से दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘भारतीय कुश्ती संघ (WFI)’ के विरुद्ध प्रदर्शन शुरू कर दिया है। बजरंग पूनिया, विनेश फोगट और साक्षी मलिक जैसे पहलवान इस विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे हैं। पहलवानों का विरोध WFI के अध्यक्ष और कैसरगंज से भाजपा के सांसद बृजभूषण शरण सिंह से है। उनका कहना है कि बृजभूषण शरण सिंह को न सिर्फ पद से हटाया जाना चाहिए, बल्कि गिरफ्तार भी किया जाना चाहिए।

मीडिया से बात करते हुए साक्षी मलिक रो पड़ीं। उन्होंने दावा किया कि एक नाबालिग सहित 7 महिला पहलवानों ने कनॉट प्लेस पुलिस थाना में शिकायत दर्ज कराई है। उन्होंने दावा किया 2 दिन पहले कि यौन शोषण की शिकायत के बावजूद दिल्ली पुलिस ने कोई FIR नहीं दर्ज की है। उन्होंने कहा कि हम तुरंत इसकी जाँच चाहते हैं, क्योंकि हमें झूठ बोलने वाला कहा जा रहा है और हम ये बर्दाश्त नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि ढाई महीने से इंतजार के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई।

साक्षी मलिक ने ये भी कहा कि लोग कह रहे हैं कि हमारा करियर खत्म हो गया है इसीलिए हम प्रदर्शन कर रहे, लेकिन ऐसा नहीं है। उन्होंने बताया कि CWG 2022 में उन्हें मेडल मिला है। वहीं CWC 2022 की एक अन्य मेडल विजेता विनेश फोगट ने कहा कि केंद्रीय खेल मंत्रालय द्वारा कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है। उन्होंने बताया कि जो कमिटी मंत्रालय द्वारा इस मामले में बनाई गई थी, वहाँ से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

फोगट ने कहा कि जब तक न्याय नहीं हो जाता, तब तक पहलवान वहीं पर सोएँगे-खाएँगे। उन्होंने दावा किया कि 3 महीने से केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि उनलोगों के फोन कॉल भी नहीं उठाए जाते। बकौल फोगट, उन्होंने देश के लिए मडल जीता है और करियर दाँव पर लगाया है। ‘दिल्ली महिला आयोग’ ने भी पुलिस कमिश्नर को लिखा है। इससे पहले पहलवानों ने अदालत जाने की धमकी भी दी थी।

पहलवानों ने पूछा कि जब से ब्रीजभूषण शरण सिंह अध्यक्ष हैं, तब से लखनऊ में ही कैम्प क्यों लगता है? पहलवानों ने उन पर गालियाँ देने के आरोप भी लगाए। साथ ही खिलाड़ी और राज्य को निशाना बनाने का आरोप लगाया। विनेश फोगट ने रोते हुए कहा कि अध्यक्ष ने उन्हें ‘खोता सिक्का’ कहा था। साथ ही दावा किया कि मानसिक प्रताड़ना के कारण वो आत्महत्या करने की सोच रही थीं। साथ ही निजी जीवन में दखल का आरोप भी लगाया

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -