Monday, July 22, 2024
Homeराजनीतिनारा लगाते-लगाते बीजेपी नेता को हार्ट अटैक, मौत की खबर सुन रो पड़े केंद्रीय...

नारा लगाते-लगाते बीजेपी नेता को हार्ट अटैक, मौत की खबर सुन रो पड़े केंद्रीय मंत्री: बिहार में आक्रोश मार्च के दौरान अचानक लड़खड़ा कर गिर पड़े थे

जब चतुर्वेदी की मौत की खबर आई तब बक्सर से सांसद अश्विनी चौबे पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते थे। निधन का समाचार मिलते ही वे भावुक हो गए और फफक-फफक कर रोने लगे। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल है।

बिहार में बीजेपी के एक नेता की मौत हार्ट अटैक से हो गई। बक्सर में आयोजित आक्रोश मार्च के दौरान इस नेता को दिल का दौरा पड़ा। इस नेता की पहचान परशुराम चतुर्वेदी के तौर पर हुई है। वे 2020 के विधानसभा चुनावों में बक्सर से बीजेपी के प्रत्याशी रहे थे। उनकी मौत की खबर मिलते ही बीजेपी सांसद और केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे पटना में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोने लगे।

रिपोर्टों के अनुसार बक्सर में बीजेपी की ओर से सोमवार (17 जनवरी, 2023) को आक्रोश मार्च निकाला गया था। इसमें शामिल लोग नारेबाजी करते हुए भगत सिंह चौक पर पहुँचे। इसी दौरान चतुर्वेदी अचेत होकर गिर पड़े। उन्हें सदर अस्पताल ले जाया गया जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। डॉक्टरों ने उनके मौत की वजह हार्ट अटैक बताई। उनके नाक और मुँह से खून निकलने की बात भी कही जा रही है।

अचानक लड़खड़ा कर गिरने से पहले चतुर्वेदी नारेबाजी करते और मीडिया से बात करते देखे गए थे। यह मार्च बक्सर के चौसा में पावर प्लांट का विरोध कर रहे किसानों पर केस दर्ज करने और उनसे मारपीट के विरोध में निकाला गया था। जब चतुर्वेदी की मौत की खबर आई तब बक्सर से सांसद अश्विनी चौबे पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते थे। निधन का समाचार मिलते ही वे भावुक हो गए और फफक-फफक कर रोने लगे। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल है।

बक्सर के चौसा में 10 जनवरी 2023 की रात में मुआवजे को लेकर धरना दे रहे किसानों के घरों में घुस कर पुलिस पर मारपीट करने का आरोप है। बेरहमी से लाठियाँ बरसाते बिहार पुलिस के जवानों के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुए थे। 11 जनवरी, 2023 को पुलिस की इसी बर्बरता के बाद शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन कर रहे किसान उग्र हो उठे थे। पुलिस की प्रताड़ना से नाराज किसान सड़क पर उतर आए थे। चौबे भी किसानों के समर्थन में बक्सर में धरने पर बैठे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -