Wednesday, July 17, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकराजनीति फ़ैक्ट चेकPM मोदी ने नहीं ब्लर की CM योगी की तस्वीर, कॉन्ग्रेस की 'मंथरा मौसी'...

PM मोदी ने नहीं ब्लर की CM योगी की तस्वीर, कॉन्ग्रेस की ‘मंथरा मौसी’ ने फैलाया था झूठ: जानें कैसे खुला प्रोपगेंडे का सच

6 सेकेंड के इस वीडियो में पीछे सीएम योगी का चेहरा ब्लर दिखाई देने पर सुप्रिया ने इसकी पड़ताल नहीं की बल्कि सोशल मीडिया पर ये दावा कर दिया कि ऐसा पीएम मोदी ने करवाया है। श्रीनेत ने संदेश देना चाहा कि ऐसा पीएम मोदी ने इसलिए किया क्योंकि वो फोटोजीवी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार (14 मई 2024) को काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। इस पूजा के दौरान उनके साथ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। पूजा की कुछ क्लिप समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने हैंडल पर शेयर की, बाद में कई मीडिया चैनलों ने इस क्लिप को अपने चैनल पर चलाया।

अब संभवत: कॉपी राइट से बचने के लिए इन्हीं मीडिया चैनलों में से एक चैनल ने एएनआई के लोगो को ब्लर करके पीएम मोदी की फोटो दिखाने का प्रयास किया। ये संयोग कहिए कि जिस जगह लोगो ब्लर किया गया वहाँ कुछ देर के लिए सीएम योगी का चेहरा भी ब्लर हो गया। मंशा शायद चैनल की गलत नहीं थी, लेकिन कॉन्ग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने इसे देखते ही इसका कुछ हिस्सा काटा और उसे एक्स पर साझा करके पीएम मोदी पर निशाना साधा।

मंगलवार (14 मई) को कॉन्ग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने अपने X हैंडल पर 6 सेकेंड के इस वीडियो को शेयर किया है। इस वीडियो में PM मोदी काशी विश्वनाथ परिसर में माथे पर टीका लगवाते दिख रहे हैं। पीछे चौखट के पास भगवा वस्त्र में सीएम योगी बैठे दिख रहे हैं जिन्हें सुप्रिया श्रीनेत ने महंत बतया है। 6 सेकेंड के इस वीडियो में पीछे सीएम योगी का चेहरा ब्लर नजर आ रहा है। यह क्लिप ‘हिंदी खबर’ नाम के न्यूज़ चैनल की है। कैप्शन के तौर पर सुप्रिया ने लिखा, “एक महंत को चौखट पर बिठा कर उनका चेहरा भी ब्लर कर दिया गया। फ़ोटोजीवी की आत्ममुग्धता का कोई अंत नहीं।”

हिंदी खबर ने खोली सुप्रिया के झूठ की पोल

सुप्रिया श्रीनेत द्वारा शेयर किए गए इस वीडियो की असलियत हिंदी खबर ने अपने आधिकारिक X हैंडल से बताई है। चैनल ने सुप्रिया को कॉन्ग्रेस की कंफ्यूज़्ड मंथरा मौसी कह कर सम्बोधित किया है। चैनल ने सुप्रिया श्रीनेत को फेक न्यूज़ फैलाते हुए मानसिक बीमार बताया और काशी विश्वनाथ से उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना की है। चैनल ने अपने ट्वीट के साथ कई स्क्रीनशॉट भी लगाए हैं जिसमें पीछे बैठे CM योगी आदित्यनाथ का चेहरा साफ दिख रहा है।

हिंदी खबर ने आगे लिखा, “संदर्भित क्लिप ANI न्यूज़ एजेन्सी के काफी बड़े आकार के Logo के साथ थी। ‘हिन्दी ख़बर’ डिजिटल में कार्यरत एक ट्रेनी पत्रकार के द्वारा उस Logo को ब्लर किया गया था, ना कि योगी जी के चेहरे को (हालाँकि ऐसा करने की ज़रूरत नहीं थी) कुल 4 मिनट 40 सेकेन्ड्स अवधि वाली इस क्लिप में कई बार, बारंबार योगी जी को मोदी जी के साथ पूजा-अर्चना करते दिखाया भी गया लेकिन आपने शुरूआत की सिर्फ 5 सेकेन्ड की क्लिप काट कर X पर चढ़ा दी और तुष्टिकरण की परिपाटी को कायम रखते हुए, अपनी विषैली राजनीतिक तृष्णा की तुष्टि कर ली। खैर… ‘हिन्दी ख़बर’ चैनल का मुफ्त में प्रचार-प्रसार करने के लिए धन्यवाद मंथरा मौसी। जय जय सियाराम।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -