Friday, August 6, 2021
Homeराजनीति'नीतीश बहुत दिन रहे, अब भाजपा का CM चाह रहे बिहार के लोग... और...

‘नीतीश बहुत दिन रहे, अब भाजपा का CM चाह रहे बिहार के लोग… और हम सक्षम हैं’

"नीतीश कुमार जी भी सामाजिक न्याय के बैकग्राउंड से आते हैं, इसलिए हमलोग उनको मानते हैं। लेकिन अब वो काफी समय तक रहे हैं, अब बिहार के लोगों का मन है कि बीजेपी से सीएम बनें।"

बिहार विधानसभा चुनाव में अभी वक्त है। मगर, राज्य में सियासी घमासान शुरू हो चुका है। एक ओर राजद-जदयू के बीच पोस्टर वॉर छिड़ा हुआ है। वहीं इसी बीच, भाजपा के विधान परिषद सदस्य संजय पासवान का बड़ा बयान आया है। संजय पासवान ने कहा है कि बिहार की जनता किसी भाजपा नेता को मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहती है। उनका कहना है कि राज्य में बीजेपी किसी भी राज्य से और यहाँ के अन्य दलों में से सबसे मजबूत और सक्रिय पार्टी है।

संजय पासवान ने हालाँकि यह चौंकाने वाला बयान देते समय भाजपा नेता ने स्पष्ट किया कि इस विषय पर आखिरी फैसला प्रधानमंत्री मोदी और उनके नेता सुशील मोदी ही लेंगे। लेकिन उनका मानना है कि अब पार्टी अकेले चुनाव जीतने में सक्षम है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भाजपा की ओर से संजय पासवान ने सुशील मोदी और नित्यानंद राय के नाम पर अपनी सहमति दिखाई। उन्होंने कहा है कि बिहार में मुख्यमंत्री सामाजिक न्याय की धारा का चाहिए। सवर्ण समाज खुद भी मान रहा है कि उनके समाज से मुख्यमंत्री बनने वाला नहीं है, इसलिए सुशील मोदी जी, नित्यानंद राय जी इसके लिए सक्षम हैं। नीतीश कुमार जी भी सामाजिक न्याय के बैकग्राउंड से आते हैं, इसलिए हमलोग उनको मानते हैं। लेकिन अब वो काफी समय तक रहे हैं, अब बिहार के लोगों का मन है कि बीजेपी से सीएम बनें।

गौरतलब है कि संजय पासवान के इस बयान से खलबली मच गई है। ऐसा इसलिए, क्योंकि बिहार में जेडीयू-बीजेपी-एलजेपी गठबंधन की सरकार है, जिसकी कमान जेडीयू नेता नीतीश कुमार संभाल रहे हैं। आरजेडी प्रमुख लालू यादव के जेल जाने के बाद बिहार की वर्तमान राजनीति के नीतीश कुमार सबसे बड़ा राजनीतिक चेहरा हैं।

इतना ही नहीं, पिछले विधानसभा चुनाव के बाद 278 दिन तक आरजेडी पार्टी के साथ सरकार का कार्यकाल छोड़ दें, तो नीतीश ही 2005 से लगातार बिहार के मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं और बीजेपी के साथ गठबंधन में हमेशा अहम भूमिका में रहे हैं।

इसके अलावा भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं गृहमंत्री अमित शाह एक चैनल को इंटरव्यू देते हुए पहले बता चुके हैं कि बिहार में गठबंधन का चेहरा नीतीश कुमार ही होंगे और उन्हीं के नेतृत्व में चुनाव लड़ेंगे। इसे लेकर कोई संशय नहीं होना चाहिए।

बहुत हुआ नीतीश कुमार, अब किसी BJP नेता को मिलना चाहिए CM बनने का मौका: पूर्व केंद्रीय मंत्री

ठीके तो है नीतीश कुमार: विकल्पहीनता की आड़ में JDU का नया नारा, अब ‘बिहार में बहार’ नहीं

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,172FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe