Saturday, July 31, 2021
Homeराजनीतिबड़े फैसलों का साल: मोदी सरकार 2.0 का पहला साल पूरे होने पर नड्डा...

बड़े फैसलों का साल: मोदी सरकार 2.0 का पहला साल पूरे होने पर नड्डा ने गिनाई उपलब्धियाँ

नड्डा ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष में बहुत डिसाइसिव फैसले लिए हैं। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 निरस्त किया, तीन तलाक पर कानून बनाया। इन फैसलों के सूत्रधार गृहमंत्री अमित शाह बने। यह सब प्रधानमंत्री जी की इच्छाशक्ति का ही नतीजा था।

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार (20 मई 2020) को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस किया। सरकार की एक साल की उपलब्धियॉं गिनाते हुए बताया कि बीजेपी देशभर में वर्चुअल रैलियों का आयोजन करेगी। इस दौरान पार्टी मोदी सरकार की उपलब्धियों को पेश करेगी।

नड्डा ने कहा कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला साल उपलब्धियों भरा रहा है। साथ ही इस वर्ष में सरकार ने कई सारी चुनौतियों का भी सामना किया है। लेकिन यह सरकार जवाबदेही वाली रही है और इसमें फैसला लेने की भी क्षमता है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष में बहुत डिसाइसिव फैसले लिए हैं। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 निरस्त किया, तीन तलाक पर कानून बनाया। इन फैसलों के सूत्रधार गृहमंत्री अमित शाह बने। यह सब प्रधानमंत्री जी की इच्छाशक्ति का ही नतीजा था।

नड्डा ने बताया कि वर्षों से नागरिकता संशोधन बिल लटकाया जा रहा था। अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के शिकार शरणार्थियों को नागरिकता मिलनी चाहिए थी, लेकिन ये हो नहीं पा रहा था। प्रधानमंत्री मोदी ने फैसला लिया और इस फैसले के कारण आज सीएए लागू हुआ और वंचितों को मुख्यधारा में शामिल होने का मौका मिला है। 

जेपी नड्डा ने बताया कि हमारे जीवन में सदियों से एक सपना रहा कि रामलला का भव्य मंदिर बने। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया। कॉन्ग्रेस ने इस फैसले में देरी की। आज खुशी है कि प्रधानमंत्री जी ने जमीन आवंटित कर राम मंदिर ट्रस्ट को सौंप दी है।

नड्डा ने आगे बताया कि कि हमने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में 100 से ज्यादा देशों को मदद करते हुए उन्हें दवाइयाँ भी पहुँचाई है। इस लड़ाई में प्रधानमंत्री मोदी के एक-एक आह्वान को देश ने सुना और उसका समर्थन भी किया। इसके लिए मैं देश की जनता का धन्यवाद देता हूँ। 

कई बड़े और शक्तिशाली देश कोविड-19 के खिलाफ बेबस हो गए हैं, लेकिन भारत में हालात नियंत्रण में हैं। कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री ने 20 लाख करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा करके इसके जरिए हर सेक्टर को आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया।

वहीं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने अपने छह साल के कार्यकाल में कई ऐतिहासिक गलतियों को सुधारा और आत्मनिर्भर भारत की नींव रखी, जो विकास की राह पर है।

शाह ने ट्वीट करके हुए लिखा, “मैं मोदी 2.0 के एक वर्ष सफल होने पर देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हार्दिक बधाई देता हूँ। यह ऐतिहासिक उपलब्धियों से परिपूर्ण रहा है।”

मोदी सरकार 2.0 के एक साल पूरे होने पर भाजपा ने ‘बड़े फैसले, कम हुए फासले’ थीम पर आधारित एक वीडियो अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया है। करीब 10 मिनट के इस वीडियो में सरकार के कामकाज और फैसलों को दिखाया गया है। 

आपको बता दें कि पिछले दिनों राज्य इकाइयों और अन्य भाजपा कार्यकर्ताओं को भेजी चिट्ठी में पार्टी के महासचिव अरुण सिंह ने लिखा था कि सभी बड़े राज्यों की इकाइयां कम से कम दो और छोटे राज्यों की इकाइयाँ कम से कम एक वर्चुअल रैली का आयोजन करेंगी।

कम से कम 750 लोगों का रैली में शामिल होना जरूरी है। इसके अलावा देशभर में 1000 से ज्यादा ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस का आयोजन भी किया जाएगा। वहीं, इन कॉन्फ्रेंस को करने का जिम्मा पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को सौंपा जाएगा। वरिष्ठ नेताओं को मिलाकर 150 नेता इन रैलियों को संबोधित करेंगे।  

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

20 से ज्यादा पत्रकारों को खालिस्तानी संगठन से कॉल, धमकी- 15 अगस्त को हिमाचल प्रदेश के CM को नहीं फहराने देंगे तिरंगा

खालिस्तान समर्थक सिख फॉर जस्टिस ने हिमाचल प्रदेश के 20 से अधिक पत्रकारों को कॉल कर धमकी दी है कि 15 अगस्त को सीएम तिरंगा नहीं फहरा सकेंगे।

‘हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी’: PM मोदी के खिलाफ पोस्टर पर 25 FIR, रद्द करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना वाले पोस्टर चिपकाने को लेकर दर्ज एफआईआर को रद्द करने से इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,104FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe