Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीति'तुम्हारे माता-पिता ने भी कभी मुख्यमंत्री से बात की है?': दिव्यांग लड़के के सवाल...

‘तुम्हारे माता-पिता ने भी कभी मुख्यमंत्री से बात की है?’: दिव्यांग लड़के के सवाल पर भड़के छत्तीसगढ़ के CM बघेल, चिल्ला कर पूछा- तुम मुझ पर आरोप लगाओगे?

युवक सीएम बघेल से बात करते हुए कहा है कि आरक्षण के मुद्दे पर सरकार कोर्ट के फैसले के विरुद्ध जा रही है और युवाओं को परेशान कर रही है। वह 76 प्रतिशत आरक्षण को खत्म कर वैकेंसी को दो-तीन गुना बढ़ाने का सुझाव देता है और कहता है कि इससे सभी वर्ग के लोग खुश हो जाएँगे और वे चुनाव भी जीत जाएँगे।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chhattisgarh CM Bhupesh Baghel) की संवेदनहीन बयान वाला एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में दिख रहा है कि सीएम एक दिव्यांग लड़के के सवाल पर भड़क गए और कहा कि ‘तुम्हारे पिताजी और चाचा ने कभी मुख्यमंत्री से बात की है’।

सीएम भूपेश बघेल को वीडियो में यह कहते हुे सुना जा सकता है, “तुम्हारे पिताजी ने कभी मुख्यमंत्री से बात की है… माँ ने की है… चाचा ने की है? तुम कुछ भी बोले जा रहे हो।” इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री उस दिव्यांग युवा को लगातार धमकाते हुए नजर आ रहे हैं।

सीएम बघेल का वीडियो वायरल होने के बाद छत्तीसगढ़ भाजपा ने उन पर हमला बोला है। वीडियो को शेयर करते हुए छत्तीसगढ़ BJP ने ट्वीट किया, “भूपेश बघेल जी, जिस जनता के वोटों के दम पर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठे हैं, आज आप उन्हें ही आँख दिखा रहे हैं। भरे मंच से उनका ही अपमान कर रहे हैं। मत भूलिए जनता के सवालों का जवाब देना आपका कर्तव्य है, न कि जनता पर कोई अहसान। याद रखिए अहंकार रावण का नहीं टिका तो आप क्या चीज हैं।”

दरअसल, युवक आरक्षण और नौकरी को लेकर मुख्यमंत्री के सामने अपनी बात रख रहा था। उसने मुख्यमंत्री बघेल से आग्रह किया कि चुनाव जीतने के बाद युवाओं को रोजगार दिया जाए। इसके बाद सीएम बघेल गुस्से में आ गए। उन्होंने कहा कि ‘तुम्हारे पिताजी ने कभी सीएम से बात की है’।

इस पर युवक कहता है, “जब मैं छोटा था तो मेरे पिता का निधन हो गया।” इसके बाद फिर सीएम कहते हैं, “तुम्हारी माँ ने कभी बात की है… चाचा ने कभी बात की है। तुमको मौका मिला है तो तुम मुझ पर आरोप लगाओगे?” इस पर युवक कहता है, “आरोप तो मैं लगा सकता हूँ। हर कोई एक दूसरे पर लगाता है। आप भी रमन सिंह पर, मोदी पर लगाते हैं सर।”

इसके बाद भी युवक सीएम बघेल से बात करते हुए कहा है कि आरक्षण के मुद्दे पर सरकार कोर्ट के फैसले के विरुद्ध जा रही है और युवाओं को परेशान कर रही है। वह 76 प्रतिशत आरक्षण को खत्म कर वैकेंसी को दो-तीन गुना बढ़ाने का सुझाव देता है और कहता है कि इससे सभी वर्ग के लोग खुश हो जाएँगे और वे चुनाव भी जीत जाएँगे। युवक आगे कहता है कि उसे ग्रैजुएशन किए हुए पाँच साल हो गए और वह अभी तक बेरोजगार है।

युवक की बातें सुनकर वहाँ मौजूद लोग तालियाँ बजाने लगाते हैं। ऐसा होता देख मौके पर सुरक्षाकर्मी युवक से माइक छीनने की कोशिश करता है। यह भी कहा जा रहा है कि बाद में उसे धक्के मारकर बाहर भी निकाल दिया गया। इसके बाद वह युवक डर गया। हालाँकि, वहाँ मौजूद लोगों ने उसका हौसला बढ़ाया और कहा कि कुछ नहीं होगा।

इस घटना पर छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सीएम बघेल पर हमला बोला। रमन सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा, “एक संवैधानिक पद पर बैठे मुख्यमंत्री की अशोभनीय और अमर्यादित भाषा निंदनीय है। लोग अपनी समस्याओं के समाधान के लिए आपके पास आते हैं भूपेश बघेल, ना कि आपकी डांट-फटकार सुनने के लिए।”

दरअसल, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार की योजनाओं का फीडबैक लेने के लिए आजकल जनता से रूबरू हो रहे हैं। इसी क्रम में वह बेमेतरा जिले में पहुँचे थे। वहीं पर युवक की बातों पर सीएम अपना आपा खो बैठे। उसे सार्वजनिक रूप से पागल से कह दिया गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

25000 ग्रामीण बसावटों के लिए सड़क, कोसी-मेची के जुड़ने से किसानों को फायदा: बजट 2024 में इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए ₹1111111 करोड़, राज्यों को भी...

बजट 2024-25 में इंफ्रास्ट्रक्चर पर जोर है। इसके साथ ही पहाड़ी राज्यों में बादल फटने और लैंड स्लाइड से हुई हानि के लिए भी प्रावधान है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -