Friday, July 30, 2021
Homeराजनीतिहरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: कॉन्ग्रेस, भाजपा की जीत से ज्यादा Exit Polls की हुई हार

हरियाणा-महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: कॉन्ग्रेस, भाजपा की जीत से ज्यादा Exit Polls की हुई हार

केवल इंडिया टुडे और माय एक्सिस का सर्वे त्रिशंकु विधानसभा की ओर इशारा कर रहा था। उन्होंने भाजपा को 32-44 और कॉन्ग्रेस को 30-42 सीटें दी थीं।

हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों के नतीजे आने शुरू हो गए हैं। जहाँ महाराष्ट्र के नतीजों में भाजपा के लिए चैन की साँस का स्थान बिल्कुल है और वे सत्ता में वापसी के बेहद करीब दिख रहे हैं वहीं हरियाणा में पार्टी कर्नाटक जैसी स्थिति में फँसी लग रही है और विधानसभा त्रिशंकु होने की पूरी संभावना है। हरियाणा की जननायक जनता पार्टी और उसके अध्यक्ष दुष्यंत चौटाला किंगमेकर की भूमिका में आ गए हैं और अगर कर्नाटक वाला ही फार्मूला दोबारा इस्तेमाल हुआ तो वे ‘किंग’ भी बन सकते हैं।

ऐसे में उन एग्जिट पोलों पर उँगली उठना तय है जिन्होंने भाजपा की जीत की गलत घोषणा से हवाई आशा का माहौल बाँध दिया था।

लगभग सारे एग्जिट पोलों ने भारतीय जनता पार्टी और उसके गठबंधन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के दोनों राज्यों में सत्ता में धमाकेदार वापसी की घोषणा की थी। राज्यवार बात करें तो टाइम्स नाउ के सर्वे ने भाजपा और शिवसेना की युति को 288 में 230 सीटें दी थीं, इंडिया टुडे और एक्सिस के पोल ने 181 क्षेत्रों में जीत की घोषणा की थी, न्यूज़ 18-इप्सोस ने चौंकाने वाला 243 सीटों का आँकड़ा मोदी-शाह की पार्टी को दिया था। एबीपी न्यूज़ के पोल में 204 सीटें मिलीं थीं, टीवी 9 मराठी ने 197 का अनुमान किया था और रिपब्लिक जन की बात ने भगवा गठबंधन को 223 सीटें दी थीं।

Maharashtra 2019 exit polls
इनसे कौन लेगा जवाब?

वहीं इन चुनावी पंडितों ने कॉन्ग्रेस और शरद पवार की राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (राकांपा) के गठबंधन के महज़ क्रमशः 81, 41, 69, 48 और 55 सीटों पर ही सिमट जाने का ऐलान किया था। और अब चुनावी नतीजों को देख कर लग रहा है कि स्टूडियो मठाधीशों ने भाजपा और राजग को कुछ अधिक ही अहमियत दे दी, और कॉन्ग्रेस व यूपीए को हल्के में ले लिया। लेकिन इतने के बाद भी राजग महाराष्ट्र में सत्ता में लौटता दिख रहा है।

अब अगर हरियाणा की बात करें तो हवाई सर्वे और सच्चाई एक दूसरे के बिलकुल उलटे दिख रहे हैं। जहाँ सभी चुनावी सर्वे भाजपा के भारी बहुमत का दावा कर रहे थे, वहीं हकीकत इससे दूर दिख रही है। टाइम्स नाउ ने भाजपा को 90 में 71 सीटें दी थीं, इप्सोस ने 75, एबीपी न्यूज़ ने 72, और न्यूज़ एक्स ने तो भाजपा की गिनती 75 से 80 के बीच रहने की भविष्यवाणी कर दी थी। यहाँ तक कि भाजपा को इन सबसे कुछ कम देने वाले टीवी 9 भारतवर्ष और जन की बात ने भी क्रमशः 47 और 52-63 सीटों की बात की थी।

Haryana exit poll 2019

केवल इंडिया टुडे और माय एक्सिस का सर्वे त्रिशंकु विधानसभा की ओर इशारा कर रहा था। उन्होंने भाजपा को 32-44 और कॉन्ग्रेस को 30-42 सीटें दी थीं। हालाँकि, राष्ट्रीय स्तर पर विकल्पहीनता का माहौल ज़रूर है, लेकिन राज्य चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के सामने स्थानीय मुद्दों की वजह से विपक्ष आज भी ताकतवर है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

Tokyo Olympics: 3 में से 2 राउंड जीतकर भी हार गईं मैरीकॉम, क्या उनके साथ हुई बेईमानी? भड़के फैंस

मैरीकॉम का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं था कि वह हार गई हैं। मैच होने के दो घंटे बाद जब उन्होंने सोशल मीडिया देखा तो पता चला कि वह हार गईं।

मीडिया पर फूटा शिल्पा शेट्टी का गुस्सा, फेसबुक-गूगल समेत 29 पर मानहानि केस: शर्लिन चोपड़ा को अग्रिम जमानत नहीं, माँ ने भी की शिकायत

शिल्पा शेट्टी ने छवि धूमिल करने का आरोप लगाते हुए 29 पत्रकारों और मीडिया संस्थानों के खिलाफ बॉम्बे हाईकोर्ट में मानहानि का केस किया है। सुनवाई शुक्रवार को।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,882FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe