Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीतिआध्यात्मिक यात्रा पर हिमालय के लिए निकले सुपरस्टार रजनीकांत, तमिलनाडु में सियासी हलचल तेज़

आध्यात्मिक यात्रा पर हिमालय के लिए निकले सुपरस्टार रजनीकांत, तमिलनाडु में सियासी हलचल तेज़

तमिल अभिनेता रजनीकांत परमहंस योगानंद द्वारा बताई गई साधना प्रक्रिया का अनुसरण करते हैं। योगानन्द महावतार बाबा के शिष्य थे। रजनीकांत हिमालय की किसी गुफा में जाकर साधना करते हैं और अधिकतर समय एकांत में व्यतीत करते हैं।

सुपरस्टार रजनीकांत 10 दिनों की आध्यात्मिक यात्रा के लिए हिमालय रवाना हो गए हैं। वहाँ वह साधना और ध्यान करेंगे। इस दौरान रजनीकांत केदारनाथ, बद्रीनाथ और बाबा टेम्पल सहित कई मंदिरों व पवित्र स्थलों का दौरा करेंगे और वहाँ दर्शन करेंगे।

वह महावतार बाबा के भक्त हैं और 2018 में भी उन्होंने लगभग 14 दिन हिमालय में गुजारे थे। हालाँकि, सार्वजनिक रूप से रजनीकांत अपनी यात्राओं के बारे में घोषणा करते से बचते हैं, क्योंकि इतनी बड़ी फैन फॉलोविंग होने के कारण फैंस उनके यात्रास्थल पर पहुँच सकते हैं।

तमिल अभिनेता रजनीकांत परमहंस योगानंद द्वारा बताई गई साधना प्रक्रिया का अनुसरण करते हैं। योगानन्द महावतार बाबा के शिष्य थे। रजनीकांत हिमालय की किसी गुफा में जाकर साधना करते हैं और अधिकतर समय एकांत में व्यतीत करते हैं। हालाँकि, सुरक्षा कारणों से इस पूरी प्रक्रिया को गुप्त रखने की कोशिश की जाती है। इस बार भी रजनीकांत जब हिमालय के लिए निकल रहे थे, तब एयरपोर्ट पर उनकी तस्वीर लीक हो गई। तमिल फ़िल्म समीक्षक श्रीधर पिल्लई ने इस तस्वीर को ट्वीट कर इस संबंध में जानकारी दी।

अगर बॉक्स ऑफिस की बात करें तो 2018 में रिलीज हुई उनकी फ़िल्म ‘2.0’ ने 800 करोड़ रुपए से भी अधिक का कारोबार किया था, जबकि इस वर्ष आई फ़िल्म ‘पेट्टा’ ने एक अन्य बड़ी तमिल फ़िल्म के साथ क्लैश करने के बावजूद 250 करोड़ रुपए से भी अधिक का कारोबार किया। इस तरह पिछली दोनों फ़िल्मों की सफलता के बाद रजनीकांत ने ‘दरबार‘ फ़िल्म की शूटिंग कर रहे हैं, जिसमें वह दशकों बाद एक पुलिस ऑफिसर का किरदार निभा रहे हैं।

जहाँ तमिलनाडु के अधिकतर द्रविड़ राजनितिक नेता अपने आप को धर्म और अध्यात्म से दूर रखने का दिखावा करते हैं और जनता के बीच ख़ुद को ‘धर्मनिरपेक्ष’ साबित करने की कोशिश में लगे रहते हैं, राजनीति में एंट्री की घोषणा कर चुके रजनीकांत का यह आध्यात्मिक दौरा राज्य के सियासी समीकरण के लिए अहम है। ख़बरों में कहा जा रहा है कि वह वहाँ से लौट कर वे एक मसाला मूवी पर काम शुरू करेंगे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,821FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe