Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली शराब घोटाले में 25 ठिकानों पर ED की छापेमारी, मनीष सिसोदिया भी हैं...

दिल्ली शराब घोटाले में 25 ठिकानों पर ED की छापेमारी, मनीष सिसोदिया भी हैं आरोपित: बिहार में जदयू नेता के 31 ठिकानों पर IT की रेड

बिहार में भ्रष्टाचारियों की धर-पकड़ के लिए लगातार कार्रवाई जारी है। एक बार फिर आयकर विभाग ने जेडीयू नेता और बिल्डर गब्बू सिंह के घर पर छापा मारा है।

दिल्ली के शराब घोटाले के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने शुक्रवार (14 अक्टूबर, 2022) को 25 ठिकानों पर फिर से छापेमारी की। दिल्ली के कई बड़े शराब कारोबारियों के आवास और अन्य ठिकानों पर यह रेड मारी गई। इस केस में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी आरोपित हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, आज जिन लोगों के ठिकानों पर छापेमारी चल रही है, उनमें कुछ बड़े कारोबारी भी शामिल हैं। इस मामले में जाँच एजेंसी ने काफी सबूत भी इकट्ठा कर लिए हैं। छापेमारी के बाद कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया जा सकता है। इससे पहले ईडी 7 अक्टूबर 2022 को दिल्ली समेत हैदराबाद और पंजाब में 35 ठिकानों पर छापेमारी की थी, जिनमें कुछ नेता, पूर्व नौकरशाह और कारोबारी शामिल हैं।

वहीं, बिहार में भ्रष्टाचारियों की धर-पकड़ के लिए लगातार कार्रवाई जारी है। एक बार फिर आयकर विभाग ने जेडीयू नेता और बिल्डर गब्बू सिंह के घर पर छापा मारा है। गब्बू सिंह जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के करीबी माने जाते हैं। बताया जा रहा है कि बिल्डर गब्बू सिंह (Builder Gabbu Singh) के लगभग 31 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी चल रही है। आयकर विभाग की यह छापेमारी गब्बू सिंह के ठिकानों के साथ साथ उनके स्टाफ के अलग-अलग ठिकानों पर भी चल रही है।

बता दें कि जाँच एजेंसियाँ दिल्ली के शराब घोटाले में अब तक तीन आरोपितों विजय नायर, समीर महेंद्रू और अभिषेक बोइनपल्ली को गिरफ्तार कर चुकी हैं। आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा अंजाम दिए गए शराब घोटाले (Liquor Scam) में 27 सितंबर, 2022 को पहली गिरफ्तारी हुई थी। CBI ने विजय नायर को गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने शराब घोटाले में जो प्राथमिकी दर्ज की थी, उसमें दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) के अलावा विजय नायर का भी नाम था।

कहा जाता है कि नायर ने नई आबकारी नीति बनाने और शराब की सप्लाई और बिक्री को चंद कंपनियों तक सीमित करने की धांधली में अहम भूमिका निभाई थी। इस प्राथमिकी में कुल 14 लोगों को आरोपित बनाया गया था। विवादास्पद YouTube शो ‘ऑल इंडिया बकचोद (AIB)’ के पीछे विजय नायर का हाथ माना जाता है। गाली-गलौच से भरे इस शो के आते ही बवाल हो गया था और लोगों ने इस पर सवाल उठाना शुरू कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -