Friday, May 31, 2024
Homeराजनीतिपिछले पाँच वर्षों में तीन बार हुए एयर स्ट्राइक, मगर जानकारी दो की ही...

पिछले पाँच वर्षों में तीन बार हुए एयर स्ट्राइक, मगर जानकारी दो की ही दूँगा: राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा कि पहली बार हमने तब सीमा पार कर स्ट्राइक की थी, जब पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर के उरी में हमारे सोए हुए जवानों पर हमला किया था। जिसमें हमारे 17 जवान बलिदान हो गए थे।

पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायु सेना की तरफ से किए गए एयर स्ट्राइक पर अभी सियासी बवाल थमा नहीं कि कर्नाटक के मंगलूरू में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आतंकियों के खिलाफ एयर स्ट्राइक को लेकर एक एक नई जानकारी देकर सबको चौंका दिया है।

गृह मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले 5 वर्षों में भारतीय सेना ने तीन बार सीमा पार जाकर एयर स्ट्राइक कर कामयाबी हासिल की है। इस दौरान राजनाथ ने साफ किया कि वह दो स्ट्राइक की जानकारी तो देंगे, लेकिन तीसरी एयर स्ट्राइक के बारे में कुछ नहीं बताएंगे।

बता दें कि राजनाथ सिंह ने शनिवार को पुलवामा आतंकी हमले को लेकर सेना के शौर्य की सराहना की और साथ ही यह बताकर सबको चौंका दिया कि भारत ने तीन स्ट्राइक में सफलता पाई है। राजनाथ ने कहा, “पिछले पाँच वर्षों में हम तीन बार अपनी सीमा के बाहर जाकर स्ट्राइक कर कामयाबी हासिल की है। दो की जानकारी दूँगा, लेकिन तीसरी की नहीं दूँगा।”

राजनाथ सिंह ने कहा कि पहली बार हमने तब सीमा पार कर स्ट्राइक की थी, जब पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने जम्मू कश्मीर के उरी में हमारे सोए हुए जवानों पर हमला किया था। जिसमें हमारे 17 जवान बलिदान हो गए थे। वहीं दूसरी बार ऐसा ही हमला पुलवामा हमले के बाद हमारी सेना की तरफ से किया गया था। हालाँकि राजनाथ सिंह ने तीसरी एयर स्ट्राइक के बारे में तो नहीं बताया, लेकिन इतना ज़रूर कहा कि अब यह भारत कमजोर नहीं रहा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -