Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीतिअपने जिस प्रत्याशी के अपहरण का AAP ने लगाया आरोप, उसने चुनाव कार्यालय पहुँच...

अपने जिस प्रत्याशी के अपहरण का AAP ने लगाया आरोप, उसने चुनाव कार्यालय पहुँच वापस लिया नामांकन: पार्टी ने कहा था – BJP उन्हें परिवार सहित उठा कर ले गई

"यह फेक न्यूज है। आप में मेरे सूत्र कह रहे हैं कि AAP ने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है। वह अगले एक से दो दिनों में बीजेपी को दोष देने के लिए मीडिया के सामने आएँगे, लेकिन हमेशा की तरह बिना किसी सबूत के!"

गुजरात में विधानसभा चुनाव से पहले सियासी उठापटक तेज हो गई है। ‘आम आदमी पार्टी (AAP)’ ने 15 नवंबर, 2022 को भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर उसके उम्मीदवार कंचन जरीवाला के अपहरण का आरोप लगाया था। फिर 16 नवंबर, 2022 को जरीवाला अपना नामांकन वापस लेने के लिए पुलिस सुरक्षा के बीच चुनाव अधिकारी के कार्यालय पहुँच गए। AAP ने सूरत पूर्व विधानसभा क्षेत्र से जरीवाला को टिकट दिया था। हालाँकि अब कंचन जरीवाला ने अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है।

आम आदमी पार्टी ने दावा किया था कि कंचन जरीवाला अचानक लापता हो गए थे। इस बीच, गुजरात में आम आदमी पार्टी के सीएम उम्मीदवार इसुदान गढ़वी ने भाजपा पर कंचन जरीवाला के लापता होने में शामिल होने का आरोप लगाया। इसुदान गढ़वी के मुताबिक, कंचन जरीवाला और उनका पूरा परिवार लापता था।

इसुदान गढ़वी ने 15 नवंबर को अपने ट्वीट में लिखा था, “भाजपा ‘आप’ से इतनी डरी हुई है की वो गुंडागर्दी पर आ गई है। सूरत ईस्ट से चुनाव लड़ रहे हमारे कंचन जरीवाला के पीछे भाजपा वाले कुछ दिनों से पीछे पड़े हुए थे और आज वो ग़ायब है। माना जा रहा है की भाजपा के गुंडे उन्हें उठा ले गए है। उनका परिवार भी ग़ायब है। भाजपा कितनी गिरेगी?”

अरविंद केजरीवाल ने भी 16 नवंबर, 2022 को इस बारे में ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा, “सूरत (पूर्व) से हमारे प्रत्याशी कंचन जरीवाला और उनका परिवार कल से लापता है। पहले भाजपा ने उनका नामांकन रद्द कराने की कोशिश की। लेकिन, उनका नामांकन स्वीकार कर लिया गया। बाद में उन पर नामांकन वापस लेने का दबाव बनाया गया। क्या उनका अपहरण कर लिया गया है?”

अरविंद केजरीवाल के इस ट्वीट के एक घंटे के भीतर ही कंचन जरीवाला अपना नामांकन वापस लेने चुनाव अधिकारी के कार्यालय पहुँच गए।

जरीवाला का नामांकन वापस लेने के मामले में दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री और आप नेता मनीष सिसोदिया चुनाव आयोग पहुँचे। उन्होंने कहा, “मुझे दोपहर 2 बजे चुनाव आयोग जाना था, लेकिन अब आपातकाल की स्थिति है। इसलिए मुझे जल्द से जल्द इस मामले पर बात करनी होगी।”

आप नेता राघव चड्ढा ने बुधवार सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, “सूरत पूर्व से AAP उम्मीदवार कंचन जरीवाला का भाजपा के गुंडों ने अपहरण कर लिया है। AAP प्रत्याशी मंगलवार (15 नवंबर, 2022) सुबह से ही भाजपा की गिरफ्त में है। भाजपा इतनी घबराई हुई है कि वह आप उम्मीदवार का अपहरण कर रही है। यह लोकतंत्र की हत्या है।”

आम आदमी पार्टी द्वारा शुरू किए गए इन राजनीतिक घटनाक्रमों के बाद सोशल मीडिया यूजर्स भी आप व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का खूब मजाक बना रहे हैं।

एक ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि आखिर भाजपा आम आदमी पार्टी से इतना डरी हुई क्यों है।

एक यूजर विजय पटेल ने कहा, “यह फेक न्यूज है। आप में मेरे सूत्र कह रहे हैं कि आप ने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है। वह अगले एक से दो दिनों में बीजेपी को दोष देने के लिए मीडिया के सामने आएँगे, लेकिन हमेशा की तरह बिना किसी सबूत के!”

भाजपा 1998 से गुजरात में सत्ता में है। परंपरागत रूप से यहाँ अब तक दो ही पार्टियाँ सत्ता पर काबिज होती आई हैं। दूसरी पार्टी कॉन्‍ग्रेस है। गुजरात में इस साल 1 और 5 दिसंबर को दो चरणों में चुनाव होने हैं। परिणाम 8 दिसंबर 2022 को घोषित किए जाएँगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -