Wednesday, October 20, 2021
Homeराजनीतिकेजरीवाल के 'झूठ' को कपिल मिश्रा की चुनौती: हाउस अरेस्ट और भारत बंद पर...

केजरीवाल के ‘झूठ’ को कपिल मिश्रा की चुनौती: हाउस अरेस्ट और भारत बंद पर दिल्ली CM की बोलती बंद

“मैं चुनौती देता हूँ अरविंद केजरीवाल को, हाउस अरेस्ट का झूठ बोलना बंद करें। बाहर निकल कर दिल्ली का एक भी मार्केट या बाजार या इंडस्ट्रियल एरिया दिखाएँ, जो बंद हो। दिल्ली वालों ने बंद को फ्लॉप कर दिया है।”

किसानों की ओर से बुलाए गए भारत बंद के बीच आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को गृह मंत्रालय के इशारे पर उनके घर में हाउस अरेस्ट कर लिया गया है। वहीं भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने इस दावे को झूठा बताया है और पुलिस ने भी इस इल्जाम को खारिज किया है

AAP पार्टी ने कहा है कि दिल्ली पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी की मदद से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घर में ही हाउस अरेस्ट कर दिया है। पार्टी का कहना है कि कल सिंघू बॉर्डर से लौटने के बाद उनके घर के आस-पास घेराबंदी की गई। मुख्यमंत्री की सभी बैठकें भी रद्द हो गई हैं।

मीडिया खबरों में AAP सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि गृह मंत्रालय के आदेश पर पुलिस ने दिल्ली नगर निगम के तीनों मेयर को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के घर के मुख्य गेट के बाहर धरने पर बैठा दिया है और इसका बहाना बना कर पुलिस ने मुख्यमंत्री के घर के बाहर बैरिकेडिंग कर दी। 

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने मीडिया से कहा, “हमारे विधायकों को भी मुख्यमंत्री से मिलने नहीं दिया जा रहा है। हम मुख्यमंत्री आवास तक मार्च करेंगे और उनसे मिलकर उन्हें घर से निकालेंगे ताकि वह किसानों के साथ खड़े हो सकें।”

एक ट्वीट में AAP ने कहा, “भाजपा की दिल्ली पुलिस ने सीएम अरविंद केजरीवाल को कल सिंघू बॉर्डर पर किसानों से मिलने के बाद घर में नजरबंद कर दिया है। किसी को भी अपने निवास छोड़ने या प्रवेश करने की अनुमति नहीं है।”

आम आदमी पार्टी के आरोपों के बीच दिल्ली पुलिस ने इन सभी आरोपों को खारिज कर दिया है। नॉर्थ डीसीपी ने साफ कहा, “ये आरोप झूठे और निराधार हैं। हमारी फोर्स तैनात हैं। अरविंद केजरीवाल कल 8 बजे भी निकले थे और 10 बजे के बाद भी बाहर आए थे।” वहीं, भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने सभी आरोपों को झूठा बताते हुए इसे भारत बंद की विफलता से जोड़ा है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “मैं चुनौती देता हूँ अरविंद केजरीवाल को, हाउस अरेस्ट का झूठ बोलना बंद करें। बाहर निकल कर दिल्ली का एक भी मार्केट या बाजार या इंडस्ट्रियल एरिया दिखाएँ, जो बंद हो। पूरी दिल्ली में कहीं भी एक भी जगह बंद का असर दिखाएँ? दिल्ली वालों ने बंद को फ्लॉप कर दिया है।”

बता दें कि आम आदमी पार्टी लगातार सीएम के हाउस अरेस्ट को लेकर मीडिया में बयानबाजी कर रही है लेकिन, अरविंद केजरीवाल या उनकी पार्टी की ओर से कपिल मिश्रा की चुनौती का जवाब अभी तक नहीं दिया गया है और न ही किसी नेता ने मंडी में जाकर बंद का फोटो भेजा है। उधर, सोशल मीडिया पर लगातार दावे हो रहे हैं कि भारत बंद का प्लॉन फ्लॉप हो चुका है और हर बाजार खुले हैं।

इसके अलावा आम आदमी पार्टी जिन मेयरों के धरने को गृह मंत्रालय की साजिश बता रही है, उसे लेकर भी धरने पर बैठे लोगों की माँग है कि आम आदमी पार्टी सरकार उनका 13000 करोड़ का बकाया चुकाए, तो वो चले जाएँगे। ये प्रदर्शनकारी बाकायदा हिसाब देकर अपना पैसा माँग रहे हैं। ये सब कल से सीएम आवास के बाहर बैठे हैं, अगर स्थिति इनकी वजह से बिगड़नी होती तो कल सीएम न घर आ पाते और न 8 या 10 बजे घर से निकल पाते।

सीएम आवास के बाहर प्रदर्शन पर बैठे लोगों की वीडियो में कल उन्हें कहते सुना गया था कि केजरीवाल सरकार ने उनसे वादा किया था कि सारा बकाया चुकाया जाएगा और उनसे यह भी कहा गया था कि वह लोग उनसे आकर कभी भी मिल सकते हैं। प्रदर्शनकारी शिकायत करते हैं कि कल सुबह जब वे मुख्यमंत्री से मिलने पहुँचे तो उनसे कहा गया कि सीएम उनसे मिलेंगे, लेकिन थोड़ी देर बाद सीएम कुछ कहे और बिना उनसे मिले चले गए।

इस के बाद तीनों मेयरों और अन्य अधिकारियों ने मिल कर वहाँ धरना नहीं दिया। साथ ही ऐलान किया, “उन्होंने अगर हमारा पैसा क्लियर किया तो ही हम यहाँ से जाएँगे, वरना सभी सफाई कर्मचारी हड़ताल पर जाने को तैयार हैं। यदि दिल्ली में कोरोना की चौथी लहर आई तो उसके जिम्मेदार भी मुख्यमंत्री ही होंगे।”

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभी जेल में ही गुजरेंगी आर्यन खान की रातें, SRK के लाडले को नहीं मिली जमानत: पेश हुए थे दो-दो बड़े वकील

ड्रग्स मामले में शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान को बुधवार (20 अक्टूबर, 2021) को भी जमानत नहीं मिली। स्पेशल NDPS कोर्ट ने नहीं दिया बेल।

‘इस्लाम ही एकमात्र समाधान है’: कानपुर में बिल की पर्ची से भी मजहबी प्रसार, IAS इफ्तिखारुद्दीन की भी यही भाषा

उत्तर प्रदेश स्थित कानपुर के कुछ कारोबारी व्यापारिक प्रतिष्ठानों के माध्यम से जिहादी विचारधारा फैला रहे हैं। ये लोग इस्लामी धर्मांतरण को बढ़ावा देने वाले IAS इफ्तिखारुद्दीन से प्रेरित हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe