Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीतिशाहीन बाग पर कुमार विश्वास का केजरीवाल पर हमला, 'खुद भेजते हो अमानती गुंडे,...

शाहीन बाग पर कुमार विश्वास का केजरीवाल पर हमला, ‘खुद भेजते हो अमानती गुंडे, दूसरे को बोलते हो हटाओ’

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “अपने अमानती-गुंडे को भेजकर बिठाओ तुम और उठाएँ दूसरे? तुम्हारा निर्वीर्य नायब शाहीन बाग के साथ खड़ा हूँ, तुम कह रहे हो हटाओ।"

शाहीन बाग में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के लिए बीजेपी पर आरोप लगाने वाले दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर उनके पूर्व सहयोगी कुमार विश्वास ने बड़ा हमला बोला है। विश्वास ने एक ट्वीट कर आम आदमी पार्टी (AAP) पर वहाँ अपने गुंडों को बैठाने का आरोप लगाया है।

बता दें कि केजरीवाल ने एक ट्वीट कर कहा था बीजेपी शाहीन बाग पर गंदी राजनीति कर रही है। केजरीवाल ने शाहीन बाग में प्रदर्शन के लिए बीजेपी को ही जिम्मेदार ठहराया था। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा था, “शाहीन बाग में बंद रास्ते की वजह से लोगों को परेशानी हो रही है। भाजपा नहीं चाहती कि रास्ते खुलें। भाजपा गंदी राजनीति कर रही है। भाजपा के नेताओं को तुरंत शाहीन बाग जाकर बात करनी चाहिए और रास्ता खुलवाना चाहिए।”

इसी पर कुमार विश्वास ने ट्वीट से केजरीवाल और AAP पर हमला बोला। विश्वास ने केजरीवाल पर छल करने का भी आरोप मढ़ा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “अपने अमानती-गुंडे को भेजकर बिठाओ तुम और उठाएँ दूसरे? तुम्हारा निर्वीर्य नायब शाहीन बाग के साथ खड़ा हूँ, तुम कह रहे हो हटाओ। अपनी हर गैर-मुनासिब सी जहालत के लिए, बारहा तू जो ये बातों के सिफर तानता है, छल-फरेबों में ढके सच के मसीहा मेरे, हमसे बेहतर तो तुझे, तू भी नहीं जानता है।”

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्‍ली के शाहीन बाग इलाके में महीने भर से भी ज्‍यादा समय से चल रहे विरोध-प्रदर्शन की वजह से इस मार्ग का इस्‍तेमाल करने वाले लोगों को दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन पर सवाल उठाया। उन्होंने सोमवार (जनवरी 27, 2020) को कहा कि शाहीन बाग में लोग सिर्फ मोदी का विरोध कर रहे हैं। वहाँ प्रदर्शनकारी एंबुलेंस को निकलने नहीं देते। बच्चों को स्कूल नहीं जाने दिया जा रहा। लोगों को दफ्तर जाने से रोका जा रहा है। वहाँ कुछ हजार लोग भारत को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, “केजरीवाल, सिसोदिया शाहीन बाग वालों के साथ खड़े हैं। लेकिन उन लाखों लोगों की शांत आवाज उनको क्यों नहीं सुनाई देती? जिनके बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहें, लोग दफ्तर नहीं जा पा रहें? दुकानें बंद हैं, एंबुलेंस नहीं निकल सकती।”


  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अगर बायोलॉजिकल पुरुषों को महिला खेलों में खेलने पर कुछ कहा तो ब्लॉक कर देंगे: BBC ने लोगों को दी खुलेआम धमकी

बीबीसी के आर्टिकल के बाद लोग सवाल उठाने लगे हैं कि जब लॉरेल पैदा आदमी के तौर पर हुए और बाद में महिला बने, तो यह बराबरी का मुकाबला कैसे हुआ।

दिल्ली में कमाल: फ्लाईओवर बनने से पहले ही बन गई थी उसपर मजार? विरोध कर रहे लोगों के साथ बदसलूकी, देखें वीडियो

दिल्ली के इस फ्लाईओवर का संचालन 2009 में शुरू हुआ था। लेकिन मजार की देखरेख करने वाला सिकंदर कहता है कि मजार वहाँ 1982 में बनी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,995FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe