Monday, June 17, 2024
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र में खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी देवेन्द्र फडणवीस ने ली, डिप्टी CM पद से...

महाराष्ट्र में खराब प्रदर्शन की जिम्मेदारी देवेन्द्र फडणवीस ने ली, डिप्टी CM पद से इस्तीफे की पेशकश: कहा- पार्टी के लिए काम करूँगा

फडणवीस ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हार का बड़ा कारण विपक्ष के झूठे नैरेटिव को बताया। उन्होंने कहा कि संविधान बदलने का नैरेटिव विपक्ष ने चलाया जिसे हमें काउन्टर किया लेकिन कहीं कमी रही जिसके कारण हार मिली।

लोकसभा चुनाव 2024 में महाराष्ट्र में भाजपा के खराब प्रदर्शन के बाद राज्य के उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए खुद को पद से मुक्त किए जाने की माँग की है। उन्होंने माँग की है कि उन्हें सरकार से मुक्त किया जाए ताकि वह पार्टी के लिए काम सकें।

देवेन्द्र फडणवीस ने बुधवार (5 जून, 2024) को मुंबई में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, “महाराष्ट्र में भाजपा के नेता के रूप में पूरी जिम्मेदारी मेरी थी, मैं इस परिणाम की जिम्मेदारी लेता हूँ। मैं भाजपा आला कमान से आग्रह करता हूँ कि मुझे उपमुख्यमंत्री पद से मुक्त करें ताकि मैं पार्टी की मजबूती के लिए राज्य में काम कर सकूँ।”

फडणवीस ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हार का बड़ा कारण विपक्ष के झूठे नैरेटिव को बताया। उन्होंने कहा कि संविधान बदलने का नैरेटिव विपक्ष ने चलाया जिसे हमें काउन्टर किया लेकिन कहीं कमी रही जिसके कारण हार मिली। इसके अलावा कपास और सोयाबीन की कीमतों को लेकर लाई गई योजना के देर से लागू होने को भी उन्होंने हार का कारण बताया।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में NDA गठबंधन को 48 में से 17 सीट हासिल हुई हैं। इसमें भाजपा को 9, शिवसेना को 7 जबकि NCP को 1 सीट हासिल हुई है। भाजपा को राज्य में 14 सीटों का नुकसान इन चुनावों में उठाना पड़ा है। भाजपा ने राज्य में 28 सीटों पर चुनाव लड़ा था, इसमें से 19 सीटें वह हार गई जबकि शिवसेना ने 15 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से वह 7 सीटें ही जीत सकी। इसके अलावा NCP ने 4 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से उसे मात्र 1 ही सीट पर जीत मिल सकी है।

दूसरी तरफ कॉन्ग्रेस को राज्य में 13 सीटें मिली हैं और उद्धव बाल ठाकरे शिवसेना को 9 सीटें मिली हैं। शरद पवार की NCP को राज्य में 8 सीट मिली हैं। महाराष्ट्र में 2024 के अंत तक ही विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं, ऐसे में राज्य इन नतीजों को लेकर सभो पार्टियां गंभीर हैं और अब अपनी रणनीति मजबूत करने में जुटी हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -