Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीतिमनीष सिसोदिया को नहीं मिली राहत, राउज एवेन्यू कोर्ट ने 18 अप्रैल तक बढ़ाई...

मनीष सिसोदिया को नहीं मिली राहत, राउज एवेन्यू कोर्ट ने 18 अप्रैल तक बढ़ाई हिरासत: पटपड़गंज के लोगों के नाम लिख चिट्ठी, AAP ने कर दिया खेल!

दिल्ली शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में मनीष सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 18 अप्रैल तक बढ़ गई है। दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने ED से यह बताने के लिए कहा अब तक एक एक आरोपित द्वारा दस्तावेज़ों की जाँच के लिए कितना समय लिया गया।

दिल्ली के शराब नीति घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूर्व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को जेल में ही रहना होगा। राउज एवेन्यू कोर्ट से उन्हें राहत नहीं मिली है, बल्कि कोर्ट ने उनकी न्यायिक हिरासत को 18 अप्रैल तक बढ़ा दिया है। राउज़ एवेन्यू कोर्ट में इस मामले की अगली सुनवाई अब 18 अप्रैल को होगी। कोर्ट ने ईडी से यह बताने के लिए कहा कि अब तक एक-एक आरोपित द्वारा दस्तावेज़ों की जाँच के लिए कितना समय लिया गया।

दिल्ली शराब घोटाला से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में तिहाड़ जेल में बंद मनीष सिसोदिया की दिल्ली के राउज एवेन्यू कोर्ट में पेशी हुई। इस दौरान 207 सीआरपीसी अनुपालन में देरी को लेकर ईडी और आरोपित पक्ष के बीच बहस हुई। इस दौरान जज ने दस्तावेजों के निरीक्षण में देरी पर दोनों से सवाल पूछे। कोर्ट ने ईडी से जवाब माँगा है कि प्रत्येक आरोपी ने अब तक दस्तावेजों के निरीक्षण में कितना समय लिया है। अब इस मामले में अगली सुनवाई 18 अप्रैल को होगी।

दिल्ली की अदालत ईडी और सीबीआई दोनों मामलों में आम आदमी पार्टी नेता मनीष सिसोदिया की दूसरी जमानत याचिका पर सुनवाई कर रही थी। इस केस को स्पेशल जज कावेरी बावेजा सुन रही थीं।

मनीष सिसोदिया पटपड़गंज के लोगों के लिए एक चिट्ठी लिखी थी। चिट्ठी में जेल से जल्द बाहर आने की बात लिखी थी। सिसोदिया ने लिखा था कि हमने आजादी के लिए गोरे अंग्रेजों से लड़ाई लड़ी थी और आज के अंग्रेजों से भी लड़ाई लग रहे हैं। खास बात ये है कि मनीष सिसोदिया ने ये चिट्ठी 15 मार्च को ही लिखी थी, लेकिन आम आदमी पार्टी इस चिट्ठी को इतने दिनों तक दबा कर बैठी थी। आम आदमी पार्टी ने मनीष सिसोदिया की चिट्ठी 5 अप्रैल को सार्वजनिक की।

इस चिट्ठी में उन्होंने अपनी स्थिति की तुलना स्वतंत्रता सेनानियों के खिलाफ अंग्रेजों द्वारा किए गए अत्याचारों से की है और शिक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता जतायी है। सिसोदिया ने यह उम्मीद भी जतायी कि वह जल्द ही जेल से बाहर आएंगे। उन्होंने कहा, ”जल्द ही आपसे बाहर मिलूँगा। अंग्रेज शासकों को भी सत्ता का अहंकार था और उन्होंने लोगों को झूठे मामलों में जेल भेजा था।” 

बता दें कि हाल ही में संजय सिंह को दिल्ली शराब घोटाला मामले में सुप्रीम कोर्ट ने बेल दी थी। आप के संयोजक और सीएम अरविंद केजरीवाल इसी केस में जेल में बंद हैं। उन्हें तिहाड़ के जेल नंबर 2 में रखा गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

महाभारत, चाणक्य, मराठा, संत तिरुवल्लुवर… सबसे सीखेगी भारतीय सेना, प्राचीन ज्ञान से समृद्ध होगा भारत का रक्षा क्षेत्र: जानिए क्या है ‘प्रोजेक्ट उद्भव’

न सिर्फ वेदों-पुराणों, बल्कि कामंदकीय नीतिसार और तमिल संत तिरुवल्लुवर के तिरुक्कुरल का भी अध्ययन किया जाएगा। भारतीय जवान सीखेंगे रणनीतियाँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -