Thursday, July 29, 2021
HomeराजनीतिPM मोदी ने मनोहर पर्रिकर को दी भावभीनी श्रद्धांजलि, परिजनों को सांत्‍वना, अंतिम यात्रा...

PM मोदी ने मनोहर पर्रिकर को दी भावभीनी श्रद्धांजलि, परिजनों को सांत्‍वना, अंतिम यात्रा प्रारम्भ

प्रधानमंत्री मोदी सहित मंत्रिमंडल के कई नेताओं ने पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को श्रद्धांजली अर्पित की। साथ ही प्रधानमंत्री ने मनोहर पर्रिकर के परिवार वालों से भी मुलाकात की।

गोवा के यशस्वी मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का कैंसर की बीमारी से जूझते हुए 63 साल की उम्र में रविवार को निधन हो गया था। मनोहर पर्रिकर अग्नाशय कैंसर से जैसी असाध्य बीमारी से पीड़ित थे। बता दें कि मनोहर पर्रिकर के निधन पर सोमवार (मार्च 18, 2019) को केंद्र सरकार ने एक दिन का वहीं गोवा की राज्य सरकार ने सात दिनों का शोक घोषित किया है।

प्रधानमंत्री मोदी सहित मंत्रिमंडल के कई नेताओं ने पूर्व रक्षामंत्री और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को श्रद्धांजली अर्पित की। साथ ही प्रधानमंत्री ने मनोहर पर्रिकर के परिवार वालों से भी मुलाकात की।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, गृह मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि राष्ट्रीय राजधानी, केंद्र शासित प्रदेशों और राज्य की राजधानियों में राष्ट्रध्वज आधा झुका रहेगा। मनोहर पर्रिकर का राजकीय सम्मान के साथ सोमवार शाम 5 बजे अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा। इससे पहले सुबह 9.30 बजे से 10.30 बजे तक पणजी के बीजेपी ऑफिस में उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा गया था।  

शाम 4.00 बजे तक आम लोग अपने नेता को भावभीनी श्रद्धांजलि दे सकेंगे। शाम 4 बजे कला अकेडमी से मीरामार तक मनोहर पर्रिकर की अंतिम यात्रा निकलेगी और 5 बजे उनका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,696FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe