Wednesday, May 22, 2024
Homeराजनीति'देश में पर्याप्त कोयला भंडार, बिजली संकट की बातें भ्रामक': भारत सरकार ने बताया,...

‘देश में पर्याप्त कोयला भंडार, बिजली संकट की बातें भ्रामक’: भारत सरकार ने बताया, सिसोदिया ने कहा था – काटनी पड़ेगी बिजली

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मनीष सिसोदिया ने कहा था कि दिल्ली में अगर 24 घंटे का स्टॉक बचा तो हमें भी पावर कट प्लान करना पड़ेगा।

देश के विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी और उसको ले कर आने वाले ऊर्जा संकट की वायरल होती खबरों को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह और केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने आधारहीन बताते हुए कहा है कि कोयले का स्टॉक पर्याप्त है और विद्युत सप्लाई में कोई कमी नहीं आएगी।

भ्रामक खबरों के खंडन के रूप में कोयला मंत्रालय ने आश्वासन दिया है कि देश में कोयले का पर्याप्त भंडार है जो बिजली संयंत्रों की मांग पूरी करने के लिये काफी है। इसी के साथ कोयला मंत्रालय ने कहा कि विद्युत आपूर्ति बाधित होने की कोई भी खबर पूरी तरह से निराधार और भ्रामक है जिस पर ध्यान न देने की अपील भी की गई।

कोयला मंत्रालय द्वारा जारी बयान के अनुसार इस वर्ष कोल इंडिया लिमिटेड द्वारा बिजली सेक्टर को 255 मीट्रिक टन से अधिक कोयले की आपूर्ति हुई है। इसी के साथ अन्य स्रोतों से कुल कोयला आपूर्ति में से बिजली सेक्टर को मौजूदा आपूर्ति 14 लाख टन प्रतिदिन से अधिक है जिसकी आपूर्ति इस माह के अंत तक बढ़ा कर कोल इंडिया लिमिटेड 16 लाख टन प्रतिदिन से अधिक कर देगा।

इसी क्रम में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने आधिकारिक बैठक के बाद कहा कि इस तरह की खबरें निराधार हैं क्योंकि ना तो ऐसा संकट कभी था और न ही आगे होगा. उन्होंने कहा कि विद्युत संयंत्रों के पास वर्तमान में चार दिन से ज़्यादा का कोयले का औसतन स्टॉक है और यह स्टॉक हमारे पास प्रतिदिन आता है।

इस पूरे मामले को तूल तब मिला था जब दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि दिल्ली में अगर 24 घंटे का स्टॉक बचा तो हमें भी पावर कट प्लान करना पड़ेगा। इसी के साथ सिसोदिया ने कहा था कि भाजपा से देश नहीं चल पा रहा है और वो इस संकट से भी निकल कर भागने का रास्ता खोज रही है।

मनीष सिसोदिया के आरोपों का जवाब देते हुए केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने कहा कि दिल्ली की आवश्यकता के अनुसार बिजली सप्लाई की जा रही है। उनके अनुसार ये अफवाह इसलिए फैली क्योंकि गेल ने दिल्ली के डिस्कॉम को एक मैसेज भेज दिया कि वो बवाना के गैस स्टेशन को गैस देने की कार्रवाई एक या दो दिन बाद बंद करेगा।

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री के अनुसार इस मैसेज को इसलिए भेजा गया था क्योंकि गेल का अनुबंध खत्म हो रहा था। इस बैठक में गेल के भी सीएमडी भी आए हुए थे जिनसे अनुबंध समाप्त होने की स्थिति में भी गैस स्टेशन को जरूरत के मुताबिक गैस देते रहने के लिए कहा गया है।

इस मामले में हो रही राजनीति को केंद्रीय ऊर्जा मंत्री ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि दुर्भाग्य से कांग्रेस पार्टी के पास विचार खत्म हो गए हैं। उनके पास वोट खत्म हो रहे हैं और इसलिए उनके पास विचार भी खत्म हो रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SRH और KKR के मैच को दहलाने की थी साजिश… आतंकियों ने 38 बार की थी भारत की यात्रा, श्रीलंका में खाई फिदायीन हमले...

चेन्नई से ये चारों आतंकी इंडिगो एयरलाइंस की फ्लाइट से आए थे। इन चारों के टिकट एक ही PNR पर थे। यात्रियों की लिस्ट चेक की गई तो...

पश्चिम बंगाल में 2010 के बाद जारी हुए हैं जितने भी OBC सर्टिफिकेट, सभी को कलकत्ता हाई कोर्ट ने कर दिया रद्द : ममता...

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार 22 मई 2024 को पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को बड़ा झटका दिया। हाईकोर्ट ने 2010 के बाद से अब तक जारी किए गए करीब 5 लाख ओबीसी सर्टिफिकेट रद्द कर दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -