Tuesday, May 17, 2022
Homeराजनीतिनेहरू की आलोचना पर जेल और इंदिरा के आगे न झुकने पर बैन: पढ़ें...

नेहरू की आलोचना पर जेल और इंदिरा के आगे न झुकने पर बैन: पढ़ें राज्यसभा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस को कैसे-कैसे धोया

कॉन्ग्रेस जैसी वंशवादी पार्टियों को देश के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि अगर कॉन्ग्रेस नहीं होती तो देश को आपातकाल नहीं देखना पड़ा, जाति की राजनीति नहीं सहनी पड़ी, सिखों का नरसंहार नहीं देखना पड़ता और कश्मीर पंडित प्रताड़ित नहीं होते।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राज्यसभा में कॉन्ग्रेस के ऊपर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कॉन्ग्रेस जैसी वंशवादी पार्टियों को देश के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा कि अगर कॉन्ग्रेस नहीं होती तो देश को आपातकाल नहीं देखना पड़ता, जाति की राजनीति नहीं सहनी पड़ी, सिखों का नरसंहार नहीं देखना पड़ता और कश्मीर पंडित प्रताड़ित नहीं होते।

कॉन्ग्रेस शासन काल पर बात करते हुए पीएम ने कहा नेहरू की आलोचना करने के लिए मजरूह सुल्तानपुरी और प्रोफेसर धर्मपाल को जेल नहीं होती। किशोर कुमार को इंदिरा गाँधी के आगे न झुकने पर आपातकाल के दौरान रेडियो पर बैन नहीं किया जाता। उन्होंने कहा, “हम जानते हैं कि कैसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को कुचला गया जब एक परिवार से लोग सहमत नहीं हुए।”

पीएम ने नेहरू काल को लेकर कहा, “उस समय के समाचार पत्रों ने कहा था पंडित नेहरू को केवल अपनी अंतरराष्ट्रीय छवि की चिंता होती थी। अपने निहित स्वार्थों के लिए उन्होंने गोवा के लोगों को नजरअंदाज किया और वहाँ के लोगों को जब गोली लगी तो उनके लिए कोई कदम नहीं उठाया। तत्कालीन पीएम ने सत्याग्रहियों की मदद करने से मना कर दिया था। राज्य को 15 साल से ज्यादा समय तक विदेशी शासन में रहना पड़ा।”

कॉन्ग्रेस को घेरने के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि पार्टी की हालत देख ऐसा लगता है जैसे पार्टी को अर्बन नक्सलियों ने हाईजैक कर लिया है। ये चिंता करने वाली बात है। लेकिन ये लोग कहते हैं कि इतिहास बदला जा रहा है। पीएम ने कहा, “हम बस यादश्त को सुधार रहे हैं। अगर कुछ लोगों के लिए इतिहास केवल एक परिवार है, तो हम कुछ नहीं कर सकते।”

पीएम ने कॉन्ग्रेस के हाई कमान पर तंज कसते हुए कहा कि उनके काम करने के बस तीन ढंग हैं- डिस्क्रेडिट , डिस्टेबलाइज, डिसमिस। वे इन्हीं सिद्धांतों पर काम करते हैं। पीएम ने पूछा कि आखिर फारूख अब्दुल्ला सरकार, चौधरी देवी लाल सरकार, चौधरी चरण सिंह सरकार, सरदार बादल सिंह सरकार और तमाम आखिर क्यों पिछले 6-7 दशकों में अस्थिर हुईं। पीएम ने कहा कि उन हरकतों से वाकिफ है जो कॉन्ग्रेस ने भारत के इतिहास में सरकारों को गिराने के लिए क्या चाल चलीं। अटल जी ने तीन राज्यों में सरकार बनाई लेकिन वहाँ कभी ऐसी दिक्कत नहीं आई।

पीएम मोदी ने राज्यसभा में आज वंशवादी पार्टियों को देश के लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा बताया। पीएम ने कहा कि भारत को लोकतंत्र की जननी कहा जाता है। इस पर बहस लंबे अरसे से चलती आई है। कॉन्ग्रेस की दिक्कत ये है कि उन्होंने वंश से हटके कुछ किया नहीं। सभा में पीएम मोदी ने लता मंगेशकर के भाई द्वारा वीर सावरकर पर कविता पढ़े जाने पर उन्हें जॉब से हटाने वाली घटना का भी जिक्र किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अभिनेत्री के घर पहुँची महाराष्ट्र पुलिस, लैपटॉप-फोन सहित कई उपकरण जब्त किए: पवार पर फेसबुक पोस्ट, एपिलेप्सी से रही हैं पीड़ित

अभिनेत्री ने फेसबुक पर 'ब्राह्मणों से नफरत' का आरोप लगाते हुए 'नर्क तुम्हारा इंतजार कर रहा है' - ऐसा लिखा था। हो चुकी हैं गिरफ्तार। अब घर की पुलिस ने ली तलाशी।

जिसे पढ़ाया महिला सशक्तिकरण की मिसाल, उस रजिया सुल्ताना ने काशी में विश्वेश्वर मंदिर तोड़ बना दी मस्जिद: लोदी, तुगलक, खिलजी – सबने मचाई...

तुगलक ने आसपास के छोटे-बड़े मंदिरों को भी ध्वस्त कर दिया और रजिया मस्जिद का और विस्तार किया। काशी में सिकंदर लोदी और खिलजी ने भी तबाही मचाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
186,268FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe