Wednesday, September 28, 2022
Homeराजनीति'मैंने कुछ गलत नहीं किया' : लाल किला हिंसा के वक्त मौजूदगी को पंजाब...

‘मैंने कुछ गलत नहीं किया’ : लाल किला हिंसा के वक्त मौजूदगी को पंजाब के मंत्री ने बताया जायज, कहा- किसान का बेटा बनकर गया था

कुछ दिन पहले ही सुखपाल खैहरा ने लाल किले पर बनाई गई दीप सिद्धू की वीडियो को शेयर किया था। इस वीडियो में लालजीत सिंह साफ दिख रहे थे। ऐसे में कॉन्ग्रेस नेता खैहरा ने सवाल उठाए थे।

साल 2021 में गणतंत्र दिवस के मौके पर लाल किले पर जब हिंसा हुई थी, उस समय प्रदर्शनकारियों के साथ वहाँ आम आदमी पार्टी नेता व वर्तमान में पंजाब के ट्रांस्पोर्ट मंत्री लालजीत सिंह भुल्लड़ भी मौजूद थे

ये खुलासा पिछले दिनों एक वीडियो से हुआ था। इस वीडियो को देखने के बाद कॉन्ग्रेस ने माँग की थी कि भुल्लड़ को पद से हटाया जाए। वहीं AAP नेता भुल्लड़ ने अब इस संबंध में सफाई देकर कहा है कि वह किसान आंदोलन के वक्त वहाँ एक किसान के बेटे की हैसियत से गए थे।

उन्होंने कहा, “देखों मैं किसान का बेटा हूँ। किसान आंदोलन के समय हर किसान और उसका बेटा दिल्ली गया था। मैंने कुछ गलत नहीं किया है।”

बता दें कि कॉन्ग्रेस के नेता सुखपाल खैहरा द्वारा भुल्लड़ की वीडियो साझा किए जाने पर भुल्लड़ ने सुखपाल पर भी निशाना साधा और कहा कि अब वो सफाई दें कि क्या वो अपने पिता की तरह खालिस्तानी समर्थक हैं क्या?

उन्होंने कहा, “सुखपाल खैहरा के पिता खालिस्तान माँग चुके हैं। उन्हें अपने पिता के बारे में लोगों को बताना चाहिए। पहले आप सफाई दो।”

बता दें कि कुछ दिन पहले ही सुखपाल खैहरा ने लाल किले पर बनाई गई दीप सिद्धू की वीडियो को शेयर किया था। इस वीडियो में लालजीत सिंह साफ दिख रहे थे। ऐसे में खैहरा ने पूछा था,

“अरविंद केजरीवाल, भगवंत मान कृपया बताएँ कि क्या आपने परिवहन मंत्री लालजीत सिंह भुल्लड़ लाल किले पर केसरी निशान साहिब को फैलाने के दौरान दीप सिद्धू के साथ ही थे? अगर हाँ, तो मुख्यमंत्री उन्हें कैसे देश विरोधी कहेंगे और अपने मंत्रिमंडल में रखेंगे?”

याद दिला दें कि साल 2021 में दीप सिद्धू जैसे कई खालिस्तानी समर्थक, अपने झंडे के साथ लाल किले पहुँचे थे और वहाँ उन्होंने जमकर उत्पात मचाया था। वहीं 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी भी घायल हुए थे। घटना के बाद कॉन्ग्रेस और भाजपा दोनों ही ने भुल्लड़ की मौजूदगी पर सवाल उठाए थे। भाजपा की माँग यह भी थी कि जो हिंसा केस में एफआईआर हुई है उनमें लालजीत सिंह भुल्लड़ का नाम भी शामिल किया जाए।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बंगाल का एक दुर्गा पूजा पंडाल ऐसा भी: याद उनकी जो चुनाव बाद मार डाले गए, सुनाई देगी माँ की रुदन

दुर्गा पूजा में अलग-अलग थीम के पंडाल के तैयार किए जाते हैं। पश्चिम बंगाल में इस बार एक पूजा पंडाल उन लोगों की याद में तैयार किया गया है जो विधानसभा चुनाव के बाद राजनीतिक हिंसा में मार डाले गए थे।

मूर्तिपूजकों को जहाँ देखो, वहीं लड़ो-काटो… ऐसे बनाओ IED बम: PFI पर 5 साल का बैन क्यों लगा, पढ़िए इसके कुकर्मों की पूरी लिस्ट

भारत सरकार ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI) और उससे जुड़ी 8 संस्थाओं पर बैन लगा दिया है। PFI की देश विरोधी गतिविधियों के कारण...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,749FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe