Wednesday, August 17, 2022
Homeराजनीतिलोकसभा उपचुनावों में जीते SAD के सिमरनजीत ने भिंडरावाले का किया महिमामंडन: कभी ब्लू...

लोकसभा उपचुनावों में जीते SAD के सिमरनजीत ने भिंडरावाले का किया महिमामंडन: कभी ब्लू स्टार के कारण छोड़ी थी पुलिस सर्विस, खालिस्तान की माँग बराबर

पंजाब में भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनने के बाद संगरूर की सीट खाली थी। ऐसे में उपचुनावों में SAD से सिमरनजीत सिंह मान ने चुनाव लड़ा और 7,10,825 वोटो में से 2, 52, 898 पाकर जीत हासिल की।

पंजाब में खुलेआम खालिस्तान की माँग करने वाले शिरोमणि अकाली दल के सिमरनजीत सिंह मान ने लोकसभा उपचुनावों में संगरूर से जीत हासिल की है। सिमरनजीत ने चुनाव जीतने के बाद मीडिया में कहा कि ये खालिस्तानी जरनैल सिंह भिंडरावाले की दी गई सीख की जीत हुई है।

समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा साझा वीडियो में सुन सकते हैं कि सिमरनजीत कहते हैं, “ये जीत हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं की है और जरनैल सिंह भिंडरावाले ने जो सीख दी उसकी है।”

इस वीडियो को देखने के बाद लोग हैरान हैं कि कैसे एक ऐसा व्यक्ति देश में विधायक चुना जा सकता है जो देश को तोड़ने के सपने देखे। मान को लेकर कहा जा रहा है कि सिमरनजीत को तो तुरंत बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए। ये खुलेआम खालिस्तान की बातें कर रहा है।

बता दें कि पंजाब में भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनने के बाद संगरूर की सीट खाली थी। ऐसे में उपचुनावों में SAD से सिमरनजीत सिंह मान ने चुनाव लड़ा और 7,10,825 वोटो में से 2, 52, 898 पाकर जीत हासिल की। बाकी बची पार्टियों के प्रत्याशियों में से आप के गुरमैल सिंह को 2, 46, 828 वोट मिले जबकि भाजपा के केवल ढिल्लों को 66, 171 वोट मिले, वहीं कॉन्ग्रेस के दलवीर सिंह गोल्डी के हिस्से 78,844 वोट आए।

मालूम हो कि सिमरनजीत सिंह मान ने पिछले दिनों चुनाव के मद्देनजर दीप सिद्धू और सिद्धू मूसेवाला का बढ़ चढ़कर नाम अपने सोशल मीडिया पर इस्तेमाल किया था। इसके अलावा सिमरनजीत की पहले की प्रोफाइल देखें तो पता चलेगा कि वो हमेशा से खालिस्तानी समर्थकों में आए हैं। ऑपरेशन ब्लू स्टार के कारण उन्होंने पुलिस की नौकरी छोड़ दी थी। इतना ही नहीं उनकी पार्टी के ऊपर ब्लू स्टार की बरसी पर स्वर्ण मंदिर में खालिस्तानी नारे लगाने के इल्जाम भी लगते रहे हैं। उनके कई सोशल मीडिया पोस्ट में खुलेआम खालिस्तान को माँगा गया है।

इसके अलावा भिंडरावाले के लिए भी उनके पोस्टों में संवेदना साफ दिखते ही बनती है। एक पोस्ट में तो सिमरनजीत ने ये भी दिखाने का प्रयास किया था कि हिंदू राष्ट्र में सिखों के हाल बुरे हैं। उन्होंने कहा था कि हिंदुओं को लगता है कि वह सिखों को मशीन गन से डरा देंगे और इससे वह खालिस्तान की माँग नहीं करेंगे। रिपोर्ट यह भी बताती हैं कि वह देशद्रोह जैसे आरोप समेत कई आरोपों में 30 से ज्यादा बार पकड़ा गया लेकिन उसे कभी दोषी नहीं करार दिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा पर फिदायीन हमले की योजना, PDF पढ़वाने देवबंद जाता था आतंकी नदीम; 3 महीने में 18 बार मिली मदरसे में लोकेशन: ATS...

यूपी ATS द्वारा गिरफ्तार मोहम्मद नदीम अंग्रेजी और उर्दू नहीं जानता था। वह पाकिस्तान से उर्दू में आए PDF को पढ़वाने के लिए मदरसे जाता था।

काम की तलाश में विनोद कांबली, इनकम केवल ₹30000: कहा- सचिन तेंदुलकर सब जानते हैं, पर मैं उनसे उम्मीद नहीं रखता

कांबली ने मिड-डे से बातचीत में कहा कि उन्हें काम की जरूरत है। इस वक्त उनकी आय का एकमात्र स्रोत केवल बीसीसीआई की पेंशन है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
214,819FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe