Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीति'एक बार नाम गया तो कभी वापस नहीं आएगा': उद्धव से शिवसेना छीन जाने...

‘एक बार नाम गया तो कभी वापस नहीं आएगा’: उद्धव से शिवसेना छीन जाने के बाद राज ठाकरे ने बाला साहब का वीडियो किया शेयर

राज ठाकरे ने बाला साहब के बयान के माध्यम से शिवसेना के उस दौर को याद किया है। शिवसेना अब महाराष्ट्र के कद्दावर ठाकरे परिवार के पास नहीं है। जिस ठाकरे परिवार ने इस पार्टी की स्थापना करके इसे राजनीति की ऊँचाई पर पहुँचाया था, उसे राजनीतिक समझ की कमी के कारण कोई दूसरा छीन ले गया।

शिवसेना का नाम और निशान एकनाथ शिंदे गुट को सौंपने के चुनाव आयोग के निर्णय के बाद राजनीतिक बयानबाजी शुरू हो गई है। चुनाव आयोग के निर्णय आने के बाद उद्धव ठाकरे से अलग हुए उनके चचेरे भाई राज ठाकरे ने पार्टी के संस्थापक बाला साहब ठाकरे का एक वीडियो साझा किया है।

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के संस्थापक राज ठाकरे ने वीडियो को ट्वीट करते हुए कहा, “बालासाहेब द्वारा दिया गया ‘शिवसेना’ का विचार कितना सही था, आज हम एक बार फिर जानते हैं…” दरअसल इस वीडियो में बाला साहब के भाषण का एक अंश है।

बाला साहब अपने भाषण में कह रहे हैं, “पैसा आता है, जाता है। अगर पैसा चला गया तो कमा लिया जाएगा, लेकिन एक बार नाम गया तो कभी वापस नहीं आएगा। इसलिए नाम बड़ा करो। नाम ही सब कुछ है।”

राज ठाकरे को बाला साहब का असली उत्तराधिकारी माना जाता था। वे युवा अवस्था में ही शिवसेना की रैलियों में बाला साहेब के साथ जाया करते हैं। उन्होंने बाला साहेब के साथ रहकर राजनीति के दाँव-पेंच को बहुत गहराई से सीख लिया था। हालाँकि, पुत्रमोह या जो भी कारण रहा हो, बाला साहब ने उद्धव ठाकरे को शिवसेना का उत्तराधिकारी बना दिया। कुछ समय के बाद उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे के रास्ते अलग हो गए।

राज ठाकरे ने बाला साहब के बयान के माध्यम से शिवसेना के उस दौर को याद किया है। शिवसेना अब महाराष्ट्र के कद्दावर ठाकरे परिवार के पास नहीं है। जिस ठाकरे परिवार ने इस पार्टी की स्थापना करके इसे राजनीति की ऊँचाई पर पहुँचाया था, उसे राजनीतिक समझ की कमी के कारण कोई दूसरा छीन ले गया।

चुनाव आयोग के इस फैसले का शिंदे गुट ने स्वागत किया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने इसे लोकतंत्र की जीत बताया है। वहीं, शिवसेना ने इसे लोकतंत्र की हत्या कहा है। पार्टी का नाम और निशान मिलने के बाद एकनाथ शिंदे गुट जश्न मना रहा है।

वहीं, महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि बाला साहेब ठाकरे के विचारों पर चलने वाली शिवसेना का मतलब एकनाथ शिंदे। उन्होंने कहा कि अब असली शिवसेना एकनाथ शिंदे जी की शिवसेना बनी है। उन्होंने इसके लिए एकनाथ शिंदे और उनके सहयोगियों को बधाई दी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -